Pinjore Garden Information In Hindi

Pinjore Garden Information In Hindi | पिंजौर गार्डन का इतिहास और जानकारी

नमस्कार दोस्तों Pinjore Garden In Hindi में आपका स्वागत है। आज हम यादवेंद्र गार्डन या पिंजौर गार्डन का इतिहास और जानकारी बताने वाले है। हरियाणा के पंचकूला जिले के पिंजौर शहर में स्थित 17 वीं शताब्दी में बना यह एक खूबसूरत मुगल गार्डन (Mughal garden) है। 100 एकड़ के विशाल क्षेत्र में फैला यादवेंद्र गार्डन या पिंजौर गार्डन बढ़ते कंक्रीट शहर में प्रकृति के साथ आराम करने के लिए एक सुंदर जगह है। वह अपनी सुव्यवस्थित हरियाली, ताज़ा फव्वारों और मंत्रमुग्ध कर देने वाले जल निकायों के लिए दुनिया भर में प्रसिद्ध है।

दुनिया भर से पर्यटक इस मुगल निर्माण का अनुभव करने के लिए पिंजौर उद्यान आते हैं। जिसे भारत ने बहुत गर्व और सावधानी से बनाए रखा है। बैसाखी के दौरान, अप्रैल और जून के बीच, गार्डन वार्षिक मैंगो फेस्टिवल के आयोजन स्थल के रूप में कार्य करता है। यहाँ सिर्फ सुंदर वनस्पतियों का विशाल विस्तार है। उसमें एक छोटा चिड़ियाघर, ऐतिहासिक स्थानों को समर्पित एक क्षेत्र, एक शांत जापानी उद्यान, एक शानदार नर्सरी और पिकनिक स्पॉट के रूप में काम करता हैं। वनवास के समय पांडवो ने यहाँ विश्राम किया था।

History of Pinjore Gardens इतिहास

 पिंजौर गार्डन का इतिहास – मुगल सम्राट औरंगजेब और उनके चचेरे भाई नवाब फिदाई खान औरंगजेब के शासन के समय प्रसिद्ध वास्तुकार थे। उस दोनों ने मिलकर बगीचे के लिए एक डिजाइन तैयार किया था। नवाब फ़िदाई ख़ान राज्यपाल के रूप में कार्यरत थे।  और एक बार वाह पिंजौर की घाटी का भ्रमण कर रहे थे। उस समय मंत्रमुग्ध कर देने वाली प्राकृतिक सुंदरता से मुग्ध हो गए थे। उन्होंने यह स्थान पर सम्राट औरंगजेब के साथ बनाए गए बगीचे के डिजाइन को लागू करने का फैसला किया था।

उसके बाद बगीचे के निर्माण का काम शुरू किया गया था। लेकिन उस समय महिलाओं को गोइटर ने मारा और उस काम को छोड़ना पड़ा था। 1775 में यह प्रांत पर पटियाला के राजा महाराजा अमर सिंह का शासन शुरू हुआ। पिंजौर पर अपने शासन के बाद उन्होंने बगीचे पर काम फिर से शुरू किया और उसे बेहतर बनाया था। 1966 में हरियाणा राज्य को एक स्वतंत्र राज्य घोषित किए जाने के बाद पिंजौर गार्डन को सौंप दिया गया और बाद में जनता के लिए खुल दिया गया है।

Pinjore Garden Photo gallery
Pinjore Garden Photo gallery

इसके बारेमे भी जानिए – वैशाली का इतिहास और पर्यटन स्थल की जानकारी

Best Time To Visit Pinjore Gardens सबसे अच्छा समय

पिंजौर गार्डन घूमने का सबसे अच्छा समय – पिंजौर गार्डन घूमने का सबसे अच्छा समय फरवरी से अप्रैल और सितंबर से दिसंबर तक का मानाजाता है। क्योंकि उस समय में यहाँ का मौसम बहुत ही सुहावना होता है। जिससे यह बगीचा बहुत खूबसूरत दिखाई देता है। उसके साथ यह बाग सुगंधित खिलने वाले फूलों और हरे भरे पेड़ों और झाड़ियों से भरा हुआ है। उस महीनों के समय बगीच में त्यौहार भी आयोजित किए जाते हैं। उसमे पर्यटक मजा लेते हुए लाभ उठा सकते हैं।

Architecture of Pinjore Gardens वास्तुकला

पिंजौर गार्डन की वास्तुकला – पिंजौर गार्डन में सात छतों में कई वास्तुशिल्प संरचनाएं प्रत्येक स्तर पर बनाई गई हैं। पहली छत सबसे ऊंची है जिसमें मुगल-राजस्थान शैली की वास्तुकला में निर्मित एक महल है उसको शीश महल कहा जाता है। उसी पर एक हवा महल भी है। दूसरे स्तर पर चित्रित महल या रंग महल के साथ मेहराबदार दरवाजे स्थित हैं। तीसरे स्तर में सिर्फ फूलों की क्यारियाँ और सरू के पेड़ जो बागों की ओर ले जाते हैं। चौथे स्तर पर पानी का महल या जल महल, आराम करने के लिए एक मंच और एक फव्वारा बिस्तर दिखाई देता है। अगले दो स्तरों में फव्वारे और अधिक पेड़ हैं। उसके बाद ओपन-एयर थियेटर है।

पिंजौर गार्डन का फोटो
पिंजौर गार्डन का फोटो

Structure of Pinjore Gardens संरचना

पिंजौर उद्यान की संरचना की बात करे तो वह चारबाग पैटर्न और उसको पारंपरिक मुगल शैली में बनाया गया है। उसमे चतुराई से टैरेस गार्डन, भव्य मंडप और सुंदर फव्वारे डिज़ाइन किये गये है। बगीचे में कुल सात टेरेस जो कुछ ही दूरी पर उतरते हुए बनाये गए हैं। बगीचा 100 एकड़ के पूरे खंड में एक जादुई स्पर्श जोड़ता है। उसमे वनस्पतियों के साथ सुगंधित फूल वाले पौधे, आम के बाग, झाड़ियाँ और दूसरे पेड़ देखने को मिलते हैं। पंक्तिबद्ध ऊँचे पेड़ रास्तों पर आगंतुकों के लिए ठंडी छाया प्रदान करते हैं।

बगीचे के अंत में एक ओपन-एयर थिएटर भी देखने को मिलता है। पिंजौर गार्डन बीचो बिच एक जलकुंड है। झिलमिलाते फव्वारे, कई पूल और रंगीन और सुगंधित फूलों और हरे भरे लॉन के बीच धनुषाकार बालकनियाँ बनाई गई है। पिंजौर उद्यानों की प्रवेश फीस (pinjore garden entry fees ) वयस्कों के लिए 20 रु प्रति व्यक्ति है। 3 साल से कम उम्र के बच्चों के लिए प्रवेश नि:शुल्क है।

पिंजौर गार्डन की फोटो गैलरी
पिंजौर गार्डन की फोटो गैलरी

इसके बारेमे भी जानिए – प्राचीन शहर मधुबनी बिहार के पर्यटन स्थल की जानकारी

पिंजौर गार्डन में करने के लिए चीजें Things To Do In Pinjore Garden

Mini Zoo (मिनी चिड़ियाघर) 100 एकड़ के विशाल क्षेत्र में फैले पिंजौर गार्डन के अंदर जानवरों और पक्षियों की अलग अलग प्रजातियों के साथ एक मिनी चिड़ियाघर देखने को मिलता है। आप अपने बच्चे और वयस्क के साथ कुछ कीमत से चिड़ियाघर का भ्रमण कर सकते हैं। आपके बच्चे यह खूबसूरत चिड़िया घर से बहुत खुश हो जायेंगे।

Nursery (नर्सरी) पिंजौर बगीचे की नर्सरी में फूलों और दूसरे कई पौधों को देखने का मौका मिलता है। पर्यटक यहां से अपने बगीचे के लिए गमले के पौधे भी खरीद सकते हैं। जिससे आप अपने घर को सजा सकते है।

Japanese Garden (जापानी उद्यान) पिंजौर उद्यान के यह एक क्षेत्र को शांत जापानी उद्यान के रूप में विकसित किया गया है उसमें एक सुखद जल निकाय, एक पुल, एक सुंदर संरचना जिसमें एक टीयर टॉवर और जापानी पौराणिक प्राणियों की मूर्तियाँ देख सकते हैं।

Street Food (स्ट्रीट फ़ूड) यहाँ कुछ ऐसे विक्रेता या व्यापारी हैं जो स्वादिष्ट और मुँह में पानी लाने वाला स्थानीय स्ट्रीट फ़ूड बेचा करते है। जिसको आप आजमा सकते हैं।

Camel rides (ऊंट की सवारी) पिंजौर उद्यान के बाहर [पर्यटक ऊंट की सवारी कर सकते है।

Fairs And Festivals At Pinjore Gardens मेले और त्यौहार

पिंजौर गार्डन का इतिहास और जानकारी
पिंजौर गार्डन का इतिहास और जानकारी

Pinjore Heritage Festival पिंजौर विरासत महोत्सव 

 पिंजौर हेरिटेज फेस्टिवल दिसंबर में हर साल मुगल गार्डन को श्रद्धांजलि के रूप में मनाया जाता है। उसमे उद्यान रोशनी से जगमगाता हैं। और पर्यटकों को मनोरंजन के लिए शाम के प्रदर्शन की व्यवस्था होती है। त्योहार के समय कई प्रतियोगिताएं आयोजित होती हैं। उसमे ड्राइंग, रंगोली, लोक नृत्य और मेहंदी प्रतियोगिता शामिल है। आगंतुकों के लिए शानदार स्थानीय भोजन और सुंदर हस्तशिल्प बेचने वाला एक शिल्प बाजार है। जिसमे से यात्री स्मृति चिन्ह के रूप में खरीद सकता है।

Baisakhi Festival Pinjore Garden

 बैसाखी पर्व –  पिंजौर गार्डन में हर साल अप्रैल में मनाया जाने वाला यह भव्य त्योहारों में से एक है। उसमे महोत्सव में पिंजौर गार्डन में शानदार प्रदर्शन, भोजन बाजार, शिल्प बाजार, संगीत और प्रतियोगिताओं के साथ मनाया जाता है।

Pinjore Garden Images
Pinjore Garden Images

इसके बारेमे भी जानिए – राजगीर में घूमने लायक पर्यटन स्थल की जानकारी

Pinjore Garden Mango Festival मैंगो फेस्टिवल

मैंगो मेला या मैंगो फेस्टिवल यहाँ हर साल जुलाई में मनाया जाता है। यह त्यौहार का महत्वपूर्ण पहलू यह है की उसमे आम प्रदर्शनी होती है। उस समय पूरे भारत में उगाए जाने वाले आमों की हर किस्म मिल देखने को मिलती है। आयोजन स्थल पर आपको प्रतियोगिताएं, प्रदर्शन, कार्यक्रम और बाजार भी देखने को मिलता हैं। पिंजौर गार्डन के आम महोत्सव में लोकप्रिय किस्में आम्रपाली, अल्फोंसो, चौंस, दशेरी, मालदा, मलिका, लंगड़ा, रामकेला अचार की किस्म, रटोल और तोतापुरी खा सकते हैं।

Places To Visit In Chandigarh

  • Zakir Hussain Rose Garden
  • Sukhna Lake
  • Rock Garden
  • Mohali Cricket Stadium
  • Terraced Garden
  • ISKCON Temple
  • Pinjore Garden
  • Leisure Valley
  • Sector 17 Market
  • Hops N Grains
  • Government Museum & Art Gallery
  • Shanti Kunj
  • Garden Of Fragrance
  • National Gallery Of Portraits
  • Le Corbusier Center
  • Japanese Garden
  • International Doll Museum
  • Butterfly Park
  • Garden Of Silence
  • Gandhi Museum
  • Fun City
  • Thunder Zone
  • Botanical Garden
  • Bougainvillea Garden
  • Hibiscus Garden
  • Open Hand Monument

How To Reach Pinjore Garden Chandigarh

पिंजौर गार्डन अंबाला-शिमला राजमार्ग पर पिंजौर शहर में स्थित है। और चंडीगढ़ शहर के केंद्र से 22 किलोमीटर दूर सिर्फ 40 मिनट की ड्राइव की दूरी है और शहर के सभी हिस्सों से आसानी से पहुँचा जा सकता है। अंबाला-शिमला राजमार्ग के माध्यम से पिंजौर गार्डन तक पहुंचने के लिए मार्ग का अनुसरण कर सकते हैं। चंडीगढ़ से पिंजौर गार्डन तक पहुंचने के लिए यात्रियों के पास परिवहन के कई विकल्प हैं। जैसे चंडीगढ़ से पिंजौर गार्डन बस, निजी कैब या टैक्सी की सहायता ले सकते है।

Pinjore Garden Photos
Pinjore Garden Photos

इसके बारेमे भी जानिए – बोधगया दर्शनीय स्थल का इतिहास और यात्रा की जानकारी

Pinjore Garden Map पिंजौर गार्डन का लोकेशन

Pinjore Garden Information In Hindi Video

Interesting Facts Of Pinjore Garden

  • पिंजौर गार्डन 17वीं शताब्दी में औंरगजेब के शासनकाल के समय बनवाया गया था।
  • पिंजौर भारत के हरियाणा राज्य का एक प्राचीन शहर है।
  • खूबसूरत गार्डन का प्राचीन नाम यादविन्द्र गार्डन हुआ करता था।
  • यह प्रकृति के साथ समय बिताने के लिए एक सुंदर जगह है।
  • पिंजौर गार्डन भारत में टैरेस गार्डन का एक अनोखा और अद्भुत उदाहरण है।
  • यह नगर में प्राचीन मुगल सम्राज्य और पटियाला शाही खानदान की कई यादें बिखरी हुई है।
  • पिंजौर राजा विराट की नगरी और पहले उसका नाम पंचपुर जो बाद में पिंजौर के नाम से मशहूर हुआ।

FAQ

Q .पिंजौर गार्डन कहां है?

Ambala, Kalka – Shimla Rd, Pinjore, Haryana 134102

Q .पिंजौर गार्डन किस नाम से जाना जाता है?

पिंजौर गार्डन को पिंजोर गार्डन या यादिंद्रा उद्यान के नाम से भी जाना जाता है। 

Q .पिंजौर गार्डन किसने बनवाया था?

17 वीं शताब्दी में वास्तुकार नवाब फिदाई खान ने औरंगजेब के शासन में बनाया था। 

Q .पिंजौर गार्डन क्यों प्रसिद्ध है?

पिंजौर गार्डन साफ-सफाई, सुव्यवस्थित हरियाली, तरोताजा करने वाले फव्वारे के लिए प्रसिद्ध है।

Q .हरियाणा का सबसे प्रसिद्ध उद्यान कौन सा है?

पिंजौर गार्डन हरियाणा का सबसे प्रसिद्ध उद्यान में से एक है।

Conclusion

आपको मेरा Pinjore Garden Information बहुत अच्छी तरह से समज आया होगा। 

लेख के जरिये Pinjore tourist places , Pinjore Garden timings

और Rock Garden of chandigarh से सबंधीत सम्पूर्ण जानकारी दी है।

अगर आपको किसी जगह के बारे में जानना है। तो हमें कमेंट करके जरूर बता सकते है।

हमारे आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ शयेर जरूर करे। जय हिन्द।  

Note

आपके पास Sukhna lake, Rohtang pass या Pinjore Garden distance की जानकारी हैं। 

या दी गयी जानकारी मैं कुछ गलत लगे / तो दिए गए सवालों के जवाब आपको पता है।

तो तुरंत हमें कमेंट और ईमेल मैं लिखे हम इसे अपडेट करते रहेंगे धन्यवाद। 

! साइट पर आने के लिए आपका धन्यवाद !

अगर आपको यह पोस्ट पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तों को जरूर शेयर करें !

Google Search

Pinjore Garden water park, where is pinjore garden, Pinjore Garden Location, Yadavindra Gardens, Pinjore, Pinjore Garden case, study, Pinjore Garden ticket price, is pinjore garden open today, Pinjore Garden built by, Pinjore Garden website, rose garden chandigarh, chhatbir zoo, morni hills, Pinjore Garden contact number, pinjore to chandigarh, pinjore to delhi, Kalka, Pinjore Pin Code, hotel in pinjore garden, pinjore garden hotel

पिंजौर गार्डन पिंजौर हरियाणा, पिंजौर गार्डन की लोकेशन का मैप, यादवेंद्र गार्डन पिंजौर, पिंजौर गार्डन कहां स्थित है, पिंजौर हरियाणा, पिंजौर गार्डन क्या है, पंचकूला जिला कब बना, पंचकूला कितने किलोमीटर है, एचएमटी विकिपीडिया

इसके बारेमे भी जानिए – मेघालय के पर्यटन स्थल और घूमने की जानकारी

7 thoughts on “Pinjore Garden Information In Hindi | पिंजौर गार्डन का इतिहास और जानकारी”

  1. lasix common side effects Multimodality magnetic resonance imaging MRI can reveal brain gray matter volume loss, white matter microstructural disruption, reduced gray matter density, impaired cerebral blood flow and brain structural and functional connection networks at both local and global levels

  2. Derin Oral Seks porno tube, saatlerce yüzlerce uyandırıcı derin oral seks seks filmi
    sunuyor. En beğendiğiniz hd porno film kategorisini seçin ve
    çevrimiçi olarak istediğiniz zaman ücretsiz olarak izleyin! Erotik Çekim (1362) Ev Yapımı (13700)
    Evde Amatör Üçlü Seks (589) Eş Değiştirme (1358) Fakir
    Kız (243) Filipinli.

  3. 借助视频、人工智能、大数据等技术手段,围绕税务服务、政务大厅、机关后勤服务等行政服务场景,为用户提供高质量的解决方案,助力用户管理及服务升级。 《雾境序列》是由星线网络自主研发的即时制策略RPG。玩家将扮演“雾境调查团”旗下的一名调查官,奉命乘飞艇探索浓雾笼罩之下的大陆。 2022-08-29上线 富豪锄大地 关于我们 联系方式 广告服务 免责声明 家长监护工程 纠纷处理 网页游戏 Copyright 2003-2022 7k7k.com MuMu模拟器win版已上线操作录制功能,推荐2.4.7以上版本模拟器体验,如何使用MuMu模拟器的操作录制功能实现自动化点击执行操作呢?Mu酱为大家准备了如下教程,该功能还在测试中,使用中遇到任何问题欢迎加入Q群863041439讨论,Mu酱特别录制了视频教程,方便大家更快的了解! https://zanepesh210864.elbloglibre.com/14302021/百-家-樂-贏 Bicycle广告牌 成分信息以实物为准。拼接材质商品成分详情将拆分显示。 Supreme 长年与知名户外品牌 Helinox 合作,今年推出了充满 Supreme 风格的露营长凳。Helinox 运用他们在这个领域的专业和优势创造具质感和舒适性的桌椅,并套用了 Supreme 指标性 Bogo 设计,欲寻得具潮流感的露营长凳,好友一同乘坐,这组 Helinox x Supreme 长凳将是你最好的选择。 更何况,像前面灰色字提到的事,要知道 Medicom Toy 可是 Bicycle 的日本分销商,作为日本的潮流玩具巨头,Medicom Toy 既然接下了这活,又怎么可能不让 Bicycle 多多“出镜”一些呢?商业操作,那是一定要有滴 1代有“BICYCLE”LOGO和“For more Ghost gear”无条码,2代有条码和“J OF DIAMONDS”(方块J)预言,无“BICYCLE”LOGO。 牌盒舌头区别: 1代有美国扑克公司相关版权和厂址说明,2代纯

Leave a Comment

Your email address will not be published.