Top 10 Places To Visit In Gangtok In Hindi

Top 10 Places To Visit In Gangtok In Hindi | गंगटोक में घूमने की 10 खास जगह

नमस्कार दोस्तों Gangtok Tourism In Hindi में आपका स्वागत है। आज हम भारत के सबसे लोकप्रिय और खूबसूरत राज्य सिक्किम की राजधानी गंगटोक में घूमने की 10 खास जगह की जानकारी बताने वाले है। आकर्षक, प्राकर्तिक और बादलों में लिपटा हुआ गंगटोक सिक्किम राज्य का सबसे बड़ा शहर है। यह शहर उज्ज्वल धूप के दिनों में कंचनजंगा माउंट के नयनरम्य दृश्य प्रस्तुत करता है। और समुद्र तल से 1650 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। शहर की खूबसूरती यहाँ आने वाले पर्यटकों के दिल-दिमाग को ताजा कर देती है।

गंगटोक में प्राकृतिक सुंदरता के लिए बहुत प्रसिद्ध है। जिसमे एनची मठ, गणेश टोक, दो द्रुल चोर्टेन रुमटेक मठ, तीस्ता नदी, त्सोमो झील और बान झाकरी शामिल है। गंगटोक व्हाइट वाटर राफ्टिंग के लिए प्रसिद्ध उत्तरी भारत का तीसरा सबसे अच्छा स्थान है। जो पर्यटकों अपने और आकर्षित करता है। गंगटोक नाम का अर्थ है ‘ऊंची पहाड़ी’। जिस पर्यटकों को पहाड़ों के बारे में कुछ भी और सब कुछ पसंद हैं। उनके लिए गंगटोक की यात्रा जरूर करनी चाहिए। तो चलिए Top 10 Places To Visit In Gangtok sikkim बताते है।

Gangtok History In Hindi

सिक्किम का प्राचीन इतिहास बताये तो ज्यादा जानकारी नहीं है। गंगटोक का इतिहास देखे तो उसका प्राचीन हिंदुओं और तिब्बतियों के संपर्क में है। उसके बाद में 17वीं शताब्दी में चोग्याल या बौद्ध साम्राज्य की स्थापना हुई। सिक्किम अपने आप में एक राजव्यवस्था के रूप में उभरा था। 18वीं शताब्दी की शुरुआत में, ब्रिटिश साम्राज्य ने तिब्बत के साथ व्यापार मार्ग स्थापित करने की मांग की थी। जिससे सिक्किम 1947 में स्वतंत्रता तक ब्रिटिश आधिपत्य में आ गया। प्रारंभ में, सिक्किम एक स्वतंत्र देश बना रहा था। जब तक कि यह एक निर्णायक जनमत संग्रह के बाद 1975 में भारत में विलय नहीं हो गया। सिक्किम और भारत के बीच अंतर्राष्ट्रीय संधियों को समायोजित करने के लिए भारतीय संविधान के कई प्रावधानों को बदलना पड़ा था। ।

गंगटोक जाने का सबसे अच्छा समय

अगर आप गंगटोक की यात्रा करने का सबसे अच्छा समय पूछते हैं। तो वसंत से लेकर गर्मियों तक यानी मार्च से लेकर अक्टूबर और सितंबर के महीनों में ढलती शरद ऋतु है। जून महीना यहाँ की यात्रा का आदर्श समय है। वैसे जो लोग मानसून के दौरान गंगटोक की एक पागल और साहसिक यात्रा की योजना बना रहे हैं। उन्हें भूस्खलन के बारे में पता होना चाहिए, जो अक्सर विनाशकारी होता है। वैसे तो हिल स्टेशन पर साल पर मौसम आनंदमय होता है। लेकिन सभी समय यात्रा नहीं करनी चाहिए। आपको बतादे की अक्टूबर और फरवरी के बीच गंगटोक का मौसम तापमान 0 डिग्री से नीचे चला जाता है।

Gangtok Tourist Places In Hindi

  • Khangchendzonga Biosphere Reserve
  • Rumtek Monastery
  • Khangchendzonga
  • Tsomgo Lake
  • Hanuman Tok
  • Nathula Pass
  • Namchi
  • Flower Exhibition Center
  • Do Drul Chorten Stupa
  • Tsuk La Khang Monastery
  • Himalayan Zoological Park
  • Kabi Town
  • Saramsa Garden
  • Phurchachu Reshi Hot Spring
  • Banjhakri Falls
  • Namgyal Institute Of Tibetology
  • Yumthang Valley
  • Pemayangtse Monastery
  • Khecheopalri Lake
  • Enchey Monastery
  • Lachung
  • Ganesh Tok
  • M.G. Marg
  • Tinkitam
  • Lal Bazaar
  • Seven Sisters Waterfalls
  • Shingba Rhododendron Sanctuary
  • Baba Harbajan Singh Temple
  • Gonjang Monastery
  • Tashi Viewpoint
  • Ranka Monastery

Top 10 Places To Visit In Gangtok In Hindi

Hanuman Tok Gangtok
Hanuman Tok Gangtok

Hanuman Tok Gangtok हनुमान टोक

गंगटोक की ऊपरी पहुंच पर स्थित, हनुमान टोक गंगटोक का एक बहुत प्रसिद्ध मंदिर है। यह शक्तिशाली भगवान हनुमान को समर्पित है। यह मंदिर की देखभाल भारतीय सेना से होती रहती है। ऐसा माना जाता है जहां भगवान हनुमान ने “संजीवनी” जड़ी बूटी के साथ पहाड़ को ले जाते समय विश्राम किया था। हनुमान टोक 7,200 फीट की ऊंचाई पर स्थित दुनिया की तीसरी सबसे ऊंची चोटी है। पर्यटक सूर्योदय का नजारा देखने के लिए यह जगह जाते है। क्योकि यहाँ का सूर्योदय बेहद ख़ास होता है। पर्यटक सूर्योदय देखने के लिए सुबह 5:00 बजे से पहले यहां पहुंच जाते हैं। हनुमान टोक मंदिर की शांति यात्री के मन को बेहद खुश कर देती है। हनुमान टोक गंगटोक में घूमने के लिए प्रमुख स्थानों में से एक है।

हनुमान टोक
हनुमान टोक

Nathula Pass नाथुला पास

14,450 फीट की ऊंचाई पर स्थित, नाथू ला भारत में एक उच्च ऊंचाई वाला मोटर योग्य एक प्रमुख गलियारा है। जो भारतीय राज्य सिक्किम में मौजूद है। नाथू ला गंगटोक से तक़रीबन 54 किमी दूर है एव गंगटोक में की सबसे खूबसूरत जगहों में से एक है। यह दर्रा सिक्किम को चीन-तिब्बत स्वायत्त क्षेत्र से जोड़ता है। और शक्तिशाली हिमालय के बीच बनाया गया है। नाथू का अर्थ सुनने वाले कान और ला का अर्थ तिब्बत के पास होता है। भारत और चीन को जोड़ने वाली 3 खुली व्यापारिक सीमा चौकियों में से एक है। केवल भारतीय नागरिकों को ही जाने की परमिशन है। उसके लिए भी परमिट लेने की आवस्यकता होती है। नाथू ला घूमने का सबसे अच्छा समय मई से नवंबर के मध्य तक है। यह दुनिया की सबसे ऊंची मोटर सक्षम सड़कों में से एक है।

Nathula Pass
Nathula Pass

MG Road Gangtok एमजी रोड 

गंगटोक में सभी गतिविधियों का केंद्र M.G Marg (एमजी मार्ग) है। यह गुलजार बाजार कई दुकानों का घर है। जिसमे दशकों के लिए कई रेस्तरां, कैफे और स्मारिका स्टोर उपलब्ध हैं। यहाँ आप कोल्ड कॉफी और सैंडविच का हंग्री हेड्स ट्राई जरूर करे । गंगटोक में जीवन के तरीके को सीखने और तलाशने के लिए यह वाहन-मुक्त क्षेत्र में समय जरूर बिताएं। एमजी रोड को गंगटोक का दिल कहा जाता है। क्योकि एमजी रोड खूबसूरत राज्य की राजधानी गंगटोक का केंद्रीय शॉपिंग हब है। और पर्यटकों के लिए खरीदारी करने के लिए बेहद खास स्थल है। यहाँ दिसंबर में आयोजित होने वाला फेस्टिवल फूड एंड कल्चर फेस्टिवल के नाम से जाना जाता है। आपको बतादे की धुएं, कूड़े और वाहनों से मुक्त यह स्थल पर सिर्फ पैदल यात्री को ही अनुमति है।

MG Road Gangtok
MG Road Gangtok

Kanchenjunga Gangtok कंचनजंगा

दुनिया की तीसरी सबसे ऊंची चोटी कंचनजंगा विस्व में फेमस और प्रसिद्ध है। राजसी कंचनजंगा दुनिया की सबसे अद्भुद पहाडो में से एक और उसकी ऊँचाई 8,586 मीटर है। यह स्थल पर कंचनजंगा नेशनल पार्क और बायोस्फीयर रिजर्व स्थित है। रिजर्व देशी और प्रवासी पक्षियों की लगभग 550 प्रजातियों के साथ वनस्पतियों और जीवों की कई अनूठी प्रजातियों का घर है। कंचनजंगा में बहुत सारे ट्रैकिंग मार्ग जो पर्यटकों को जंगलों और शांत जगह पर ले जाते हैं। कंचनजंगा एक तिब्बती नाम है उसका अर्थ द हाई ट्रेजर्स ऑफ द हाई स्नो होता है। क्योकि यह स्थल पांच चोटियों से मिलकर बना है। Khangchendzonga पर्यटक दार्जिलिंग और गंगटोक से देख सकते है। और यह पर्यटक स्थल के आकर्षक दृश्य आपकी आँखों और दिमाग में जिंदगी भर के लिए यादगार हो सकते है।

कंचनजंगा
कंचनजंगा

Ganesh Tok Gangtok गणेश टोक

Gangtok भगवान गणेश को समर्पित एक छोटा मंदिर है। गणेश टोक में आश्चर्यजनक दृश्य, शांत वातावरण और भगवान गणेश का आशीर्वाद मिलते है। यह मंदिर उतना छोटा है। की सिर्फ एक ही व्यक्ति मंदिर में रह सकता है। फिरभी गंगटोक में सबसे अधिक देखी जाने वाली जगहों में से एक है। यह स्थल से 6500 मीटर दूर पर व्यूपॉइंट स्थित है। जो बर्फ से ढके पहाड़ों के शानदार दृश्यों को दिखाता है। यहां शहर के खूबसूरत नजारों, लुढ़कती पहाड़ियों और बर्फ से ढके पहाड़ों को इसके संलग्न व्यूइंग लाउंज से भिगोने के लिए आते हैं। यह स्थान पर्यटकों को असली परिवेश और आरामदायक वातावरण के साथ प्रकृति से नजदीक लेजाता है।

Ganesh Tok Gangtok
Ganesh Tok Gangtok

Baba Harbhajan Singh Temple Gangtok बाबा हरभजन सिंह मंदिर

यह अनोखा मंदिर एक शहीद भारतीय सैनिक हरभजन सिंह की समाधि पर बनाया गया है। जो समुद्र तल से 4000 मीटर की ऊंचाई पर मौजूद है। उन्होंने चीन युद्ध में अपनी जान गंवाई थी। नाथू ला दर्रे के पास दुश्मनों से लड़ते हुए बाबा शहीद हुए थे। उस निडर सैनिक को श्रद्धांजलि के रूप में भारतीय सेना ने मंदिर का निर्माण किया है। यहां रहते जवानों का मानना ​​है। कि बाबा हरभजन सिंह हर रात इस मंदिर में आते हैं। और उनकी रक्षा भी करते हैं। मंदिर में बाबा हरभजन सिंह की एक विशाल तस्वीर भी देखने को मिलती है। जिसकी  भक्तों द्वारा पूजा होती है। बाबा हरभजन सिंह मंदिर गंगटोक में घूमने के लिए सबसे दिलचस्प और महत्वपूर्ण स्थानों में से एक है।

Baba Harbhajan Singh Temple Gangtok
Baba Harbhajan Singh Temple Gangtok

Tsomgo Lake त्सोमगो झील

गंगटोक नाथू ला हाईवे पर 12,400 फीट की ऊंचाई पर स्थित, त्सोमगो झील या चांगू झील सिक्किम की पहाड़ियों में एक हिमनद सौंदर्य है। उत्तर में नाथू ला दर्रे द्वारा पार किया जाता है। चीनी सीमा केवल 5 किलोमीटर की छोटी दूरी के साथ इस झील के काफी करीब है। मगर सड़क मार्ग से 18 किलोमीटर दूर है। यहां भगवान शिव को समर्पित एक छोटा मंदिर भी है और यह ब्राह्मणी बत्तखों का निवास स्थान है। त्सोमगो झील या चांगू झील सिक्किम की पहाड़ियों में एक हिमनद सौंदर्य है और गंगटोक के कई भव्य स्थानों में से एक है। झील का फ़िरोज़ा पानी, जादुई पृष्ठभूमि और जगह की शांति बिल्कुल सम्मोहक है।

Himalayan Zoological Park हिमालयन जूलॉजिकल पार्क

समुद्र तल से 2,134 मीटर ऊंचाई वाला चिड़ियाघर भारत के सभी उच्च ऊंचाई वाले चिड़ियाघरों में सबसे ऊंचा है। जूलॉजिकल पार्क गंगटोक से 3 किमी दूर बुलबुली में स्थित है। और वन्यजीव प्रेमियों के लिए स्वर्ग के समान है। यह विस्तार में पाए जाने वाले लुप्तप्राय जानवरों के बंदी प्रजनन में माहिर हैं। लाल पांडा और हिम तेंदुए जैसी लुप्तप्राय प्रजातियों को यहां कैद में रखा गया है। 1780 मीटर की ऊँचाई पर स्थित इस जगह से माउंट खंगचेंदज़ोंगा का बेहद अद्भुद नजारा दिखाई देता है। हिमालयन जूलॉजिकल पार्क 1991 में स्थापित हुआ था जो भारत के उत्तर-पूर्वी भाग में स्थित है। यह चिड़ियाघर में पर्यटकों को तेंदुआ बिल्ली, हिमालयन पाम सिवेट, लिंग, हिमालयन लाल पांडा, क्रिमसन-सींग वाले तीतर, हिमालयन काले भालू और हिमालयन मोनाल तीतर देखने को मिलते हैं।

Tashi View Point Gangtok ताशी व्यू पॉइंट

ताशी व्यू पॉइंट वह स्थान है जो आपको राजसी हिमालय के लुभावने दृश्य के साथ बेहतरीन सूर्योदय और सूर्यास्त प्रदान करता है। ताशी व्यू पॉइंट मध्य गंगटोक से 8 किमी दूर स्थित ऐसी ऐसी शानदार जगह है। यहाँ पर्यटक सुरम्य परिदृश्य और मनमोहक दृश्यों की तस्वीरें क्लिक करने में बिता सकते हैं। उसका निर्माण ताशी नामग्याल ने किया था। जो 1914 और 1963 के बीच सिक्किम के राजा थे। यहाँ से यात्री हिमालय पर्वत की खूबसूरती के साथ साथ बर्फ से ढके प्राचीन माउंट सिनिलोचु और माउंट कंचनजंगा देख सकते है। ताशी व्यू पॉइंट में स्वच्छ, प्रदूषित हवा, हरे भरे परिदृश्य और सफेद, बर्फ से ढके पहाड़ देखने को मिलते है। ताशी व्यू पॉइंट सिक्किम के पर्यटन विभाग द्वारा विकसित किया गया है। शांत वातावरण में फोडोंग मठ और लाबरंग मठ के दृश्य का भी देख सकते हैं। ताशी व्यू पॉइंट यहाँ के पर्यटकों के लिए एक स्वर्ग समान है।

Lachen, Lachung and Yumthang Valley

सिक्किम राज्य की संस्कृति में तीन बेहद खूबसूरत गाँव निश्चित रूप से घूमने के लिए स्थानों की सूची में शामिल हैं। आपको लाचेन जरूर जाना चाहिए। जो उत्तरी सिक्किम का एक बहुत छोटा गाँव है। यह गांव सर्दियों के दौरान तिब्बती खानाबदोश जनजातियों का घर है। लेकिन लाचेन सिक्किम के अन्य पर्यटन स्थलों की तरह लोकप्रिय नहीं है। मगर यह जगह एक शॉट के लायक है। यह गुरुडोंगमार और त्सो ल्हामू झीलों नामक दो वास्तव में सुंदर झीलों का प्रवेश द्वार है। सिक्किम में लाचेन, लाचुंग और युमथांग घाटी तीन शांतिपूर्ण और आदर्श स्थान हैं। आपको सिक्किम यात्रा के दौरान यहाँ जरूर जाना चाहिए। लाचेन आपको शांतिपूर्ण समय का सबसे अच्छा अनुभव देता है। लाचुंग बर्फ का आनंद लेने के लिए एकदम सही है। और युमथांग वह स्थान है जहां आपको सिक्किम की फूलों की घाटी की सुंदरता को देखने जाना चाहिए।

Best Hotels In Gangtok गंगटोक में सर्वश्रेष्ठ होटल

भारत का खूबसूरत शहर होने के कारन gangtok शहर में आपको सस्ते होटलों से लेकर हाई रिसॉर्ट्स तक की होटल आसानी से उपलब्ध है। जिसे आप बहुत आसानी से ऑनलाइन या ऑफलाइन के माध्यम से बुक कर सकते हैं। उसके नजदीकी होटल के नाम भी हम बताने बताने वाले है जिन्हे आप बुकिंग कर सकते है।

  • The Golden Crest
  • Treebo Trend Orchid
  • Amba Regency
  • The Griffon’s Nest
  • Treebo Trend The Nettle and Fern Hotel
  • Hotel Sher-E-Punjab & Spa
  • Great Eastern Valley Residency

गंगटोक कैसे जाएं

गणेश टोक
गणेश टोक

ट्रेन से गंगटोक कैसे पहुँचे

गंगटोक का नजदीकी रेलवे स्टेशन सिलीगुड़ी के न्यू जलपाईगुड़ी में तक़रीबन 148 किलोमीटर दूर है। यह स्टेशन कोलकाता और नई दिल्ली जैसे प्रमुख शहरों से अच्छी तरह जुड़ा हुआ है। न्यू जलपाईगुड़ी से आप गंगटोक के लिए टैक्सी या कैब की सहायता ले सकते हैं। और सिलीगुड़ी बस स्टेशन से भी जा सकते हैं। गंगटोक के लिए सरकारी बस पकड़ सकते हैं। जिसमें आपको 5-6 घंटे लगेंगे।

सड़क मार्ग से गंगटोक कैसे पहुँचे

पर्यटक अपनी कार से गंगटोक की यात्रा करना चाहते है। तो कुछ स्थानों को छोड़कर सड़कों का रखरखाव ठीक है। राष्ट्रीय राजमार्ग 31 ए मार्ग से गंगटोक जाना सबसे सुविधाजनक कहा जाता है। दार्जिलिंग, कलिम्पोंग, कोलकाता और सिलीगुड़ी जैसे आसपास के स्थानों से पर्यटक गंगटोक आते हैं। गंगटोक के लिए नियमित सिक्किम राज्य परिवहन बसों की संख्या मिलती है। जो गंगटोक और सिलीगुड़ी के बीच अपनी सेवाएं देती हैं। सिलीगुड़ी और बागडोगरा से निजी बसें, जीप और टैक्सी भी किराए पर ले सकते हैं।

हवाई जहाज से गंगटोक कैसे पहुंचे

गंगटोक का निकटतम हवाई अड्डा पश्चिम बंगाल के बागडोगरा में (gangtok airport) जो 124 किलोमीटर दूर है। हवाई अड्डे से, आप एक साझा टैक्सी या एक निजी वाहन किराए पर ले सकते हैं। आपको दो घंटे में गंगटोक पहुंचा देगी। बागडोगरा से गंगटोक तक की ड्राइव बेहद खूबसूरत है।  जहां खूबसूरत पहाड़ और तीस्ता नदी आपकी पृष्ठभूमि में है। बागडोगरा से 20 मिनट में गंगटोक जाने के लिए एक टीएसए हेलीकॉप्टर ले सकते हैं। मगर उनकी सेवाएं मौसम की स्थिति पर निर्भर हैं।

Gangtok Location गंगटोक का मैप

Gangtok Top 10 Tourist Places In Hindi Video

Interesting Facts

  • विश्व का तीसरा सबसे ऊंचा  कंचनजंगा पर्वत गान्तोक में स्थित है।
  • 2016 से गंगटोक अपनी खूबसूरती यूनेस्को विश्व धरोहर स्थल में शामिल है।
  • गंगटोक भारत का पहला थूक और कचरा मुक्त क्षेत्र है।
  • सिक्किम के उत्तर और उत्तर पूर्व में तिब्‍बत की सीमा लगती है।
  • सिक्किम में रहने वाले अधिकतर लोग नेपाली मूल के हैं।
  • यहाँ किसान इलायची, अदरक, संतरा, सेब, चाय और पीनशिफ की खेती करते हैं।
  • लाल पांडा सिक्किम का राज्य पशु है।

FAQ

Q : गंगटोक के लिए कौन सा महीना सबसे अच्छा है?

जून महीना यहाँ की यात्रा का आदर्श समय है।

Q : गंगटोक किसके लिए जाना जाता है?

गंगटोक में अपनी प्राकृतिक सुंदरता के लिए बहुत प्रसिद्ध है।

Q : गंगटोक की भाषा क्या है?

वहा अंग्रेज़ी, भूटिया, गुरूङ, लेपचा, लिंबू, मगर, मुखिया, नेपाल , राई, शेर्पा और तामाङ भाषा  बोली जाती है।

Q : गंगटोक कब जाये?

जून महीना यहाँ की यात्रा का आदर्श समय है।

Q : गंगटोक कौन से राज्य में स्थित है?

भारत के छोटे और खूबसूरत राज्य सिक्किम का बड़ा शहर है।

Conclusion

आपको मेरा Top 10 Places To Visit In Gangtok बहुत अच्छी तरह से समज आया होगा। 

लेख के जरिये Gangtok information और सूर्य मंदिर राजस्थान

Sikkim tourism places से सबंधीत  सम्पूर्ण जानकारी दी है।

अगर आपको किसी जगह के बारे में जानना है। तो कहै मेंट करके जरूर बता सकते है।

हमारे आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ शयेर जरूर करे। जय हिन्द।

Note

आपके पास Gangtok weather, Gangtok temperature या गंगटोक टूरिस्ट प्लेस की कोई जानकारी हैं। 

या दी गयी जानकारी मैं कुछ गलत लगे / तो दिए गए सवालों के जवाब आपको पता है।

तो तुरंत हमें कमेंट और ईमेल मैं लिखे हम इसे अपडेट करते रहेंगे धन्यवाद। 

! साइट पर आने के लिए आपका धन्यवाद !

अगर आपको यह पोस्ट पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तों को जरूर शेयर करें !

इसके बारेमे भी जानिए –

भारत  खूबसूरत राज्य सिक्किम यात्रा और घुमाने की जानकारी

चेरापूंजी के पर्यटन स्थल और घूमने की जानकारी 

कोणार्क सूर्य मंदिर का इतिहास और उसके नजदीकी पर्यटक स्थल

गणेश चतुर्थी की पूजा और उत्सव का इतिहास

लेह लद्दाख घूमने के बेस्ट पर्यटन स्थल

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *