Statue Of Unity India Information In Hindi - Gujarat | दुनिया की सबसे ऊंची मूर्ति

Statue Of Unity India Information In Hindi – Gujarat | दुनिया की सबसे ऊंची मूर्ति

सरदार वल्लभभाई पटेल (Sardar Vallabhbhai Patel)की याद में statue of unity india के नाम से गुजरात में उनकी याद में बडीसी प्रतिमा स्थापित है। यह सरदार वल्लभभाई पटेल की प्रतिमा उनकी याद में बनाया गया स्टेच्यू का लोकार्पण 31 अक्टूबर 2018 में p.m नरेंद्रभाई मोदी द्वारा किया गया था। 

आज हम इस आर्टिकल में भारत के महान सरदार वल्लभभाई पटेल स्टेच्यू के बारे में जानकारी देंगे। यह प्रतिमा statue of unity के नाम से भी पहचाना जाता है। अगर आप भी  सरदार वल्लभभाई पटेल की प्रतिमा  के बारे में जानकारी पाना चाहते है तो हमारे इस आर्टिकल को पूरा पढियेगा। 

नाम   स्टेच्यू ऑफ़ यूनिटी 
राज्य  गुजरात 
शहर  केवडिया 
निर्माणखर्च  3000 करोड रु
क्षेत्र  20,000 वर्ग मीटर 
ऊंचाई  182 मीटर
नजदीकी नदी नर्मदा 
नजदीकी बांध सरदार सरोवर

Statue Of Unity India Information In Hindi –

भारत में सन उन्नीस सौ सैंतालीस में सरदार वल्लभभाई पटेल द्वारा सौराष्ट्र संघ की स्थापना , हैदराबाद ,ग्वालियर जूनागढ़ ,कश्मीर जैसे कई सारे रजवाड़े इस महान पुरुष द्वारा बातचीत -समाधान करके अपनी इच्छाशक्ति और उनके बल ,अपनी राजनीतिक से भारत के सभी छोटे छोटे क्षेत्रो को एकत्रित किया और एक अखंड भारत की रचना की। 

India's Iron Man Sardar Vallabhbhai Patel
India’s Iron Man Sardar Vallabhbhai Patel

India’s Iron Man Sardar Vallabhbhai Patel

सरदार वल्लभभाई को हम भारत के लोह पुरुष के रूप में भी पहचाना जाता है। हम सब भारत के निवासी उनकी श्रद्धांजली के रूप में उनके आदर्शोकि प्रतिकृति के रूप में उनकी प्रतिमा का निर्माण करवाया गया है। statue of unity location के गुजरात में स्थित है। यह प्रतिमा स्टेच्यू ऑफ़ लिबर्टी से भी दोगुना बड़ी है।स्टेच्यू ऑफ़ यूनिटी की ऊंचाई सरदार सरोवर बांध से भी बड़ी है। statue of unity height करीबन 182 मीटर है। और यह 60 मंजिला ईमारत जीतनी दिखती है। जोकि देखने वाले पर्यटक दंग ही रह जाये। यह प्रतिमा के लिए सरदार सरोवर बांध ही सबसे बेहतर है। 

मूर्ति का निर्माण –

statue of the unity construction में भारत के सभी लोगो ने लोहे का योगदान किया है। यह प्रतिमा भारतीय लोगो की अखण्डता का प्रतिक है। इस योगदान में किसान भी सहभागी बने थे। सरदार पटेल के प्रिय विषय कृषि के लिए एक प्रोजेक्ट भी शामिल है जिसमे जल व्यवस्थापन पर्यावरण बायोटेक्नोलॉजी है जिसके उपयोग से इनके नजदीकी आदिवासी क्षेत्रो का विकास के लिए संशोधन केंद्र भी स्थापित किया गया है।

हाईटेक रिसर्च इंस्टीट्यूट डिटरमिनेशन सेंटर जैसी संस्थाओ के विकास के लिए शिव क्षेत्र ज्ञान के केंद्र के रूप से विकसित किया गया है। स्टेच्यू ऑफ़ यूनिटी के विकास कार्यो के अलावा पर्यटन के रूप में भी विकसित किया गया है। इसकी वजह से काफी भारी यानि की लाखो की संख्या में पर्यटक यह प्रतिमा देखने के लिए आते है। 

इसे भी पढ़े : – Pattadakal History Karnatak In Hindi – historyofindia1

statue of the unity के अलावा एक दरगाह जहां से आप सरदार सरोवर बांध तो देख सकते है लेकिन इसके अलावा आप कुदरती सौंदर्य और बड़े बड़े पहाड़ और आकर्षित -सुन्दर नजारा देख सकते है।

इसके अलावा विजिटर मेमोरियल सेंट एग्जिबिशन गैलरी  श्रेष्ठ भारत भवन  एवरी थिएटर अंडर वॉटर , साउंड ऑफ लेजर शो जैसे मनोरंजन  के माध्यम  दुनिया का सबसे बड़ा बांध कहां जाता है। इसके बाद इस स्थान पर टनल प्रोजेक्ट मैनेजमेंट  इंडिया लिमिटेड  को शामिल किया गया है। 

statue of unity india की खास बाते –

दुनिया की सबसे ऊंची मूर्ति
दुनिया की सबसे ऊंची मूर्ति
  • स्टैचू ऑफ यूनिटी विश्व  सबसे बड़ी प्रतिमा है जो स्टैचू ऑफ लिबर्टी से दोगुना बड़ी है। 
  • स्टैचू ऑफ यूनिटी  के निर्माण में करीबन 2332 करोड रुपए का खर्च हुआ। 
  • पूरी परियोजना का निर्माण में 3000 करोड रुपए का खर्च हुआ । 
  • प्रतिमा का निर्माण करीबन 42 महीनों के समय में विशालकाय प्रतिमा का निर्माण पूरा किया । 
  • प्रतिमा के अंदर एक बड़ा हॉल का निर्माण करवाया गया, जिसके अंदर एक साथ 200 लोग रह सकते है। 
  • स्टेच्यू ऑफ़ यूनिटी का वजन 67000 किलो मेट्रिक टन, प्रतिमा का निर्माण इस तरह से किया गया।
  • हवा , जल , भूकंप जैसी भयंकर आफतो से लड़ने में सक्षम है। 
  • मूर्ति के निर्माण में भारत के 500000 किसानो ने उनके पुराने औजारों को सरदार पटेल की प्रतिमा के निर्माण में दे दिए । 
  • 15 दिसंबर 2013 को और  रन ऑफ मैराथन के प्रारंभ में पुरे भारत में करोडो लोगो ने भाग लिया । 
  • statue of unity india के निर्माण में करीबन 4500 मजदूरों ने दिनरात मेहनत से बनाया।  
  • सरदार पटेल की प्रतिमा तक पहुंच ने के लिए 5 कि.मी तक बोर्ड राइटिंग की सुविधा है। 
  • सरदार पटेल की प्रतिमा के नजदीकी एक श्रेष्ठ भारत भवन है।
  • जिसके अंदर थ्री स्टार होटल है अंदर 52 कमरे पर्यटकों के लिए बनवाये । 
  • प्रतिमा के नजदीकी एक पब्लिक प्लाजा भी है जिसमे पर्यटकों को खाना ,पीना ,  गिफ्ट और कई तरह की चीज वस्तुए मिल जाएँगी। 
  • स्टेच्यू ऑफ़ यूनिटी को  2019 के पूरे साल में 39 मिलियन पर्यटकों ने देखा। 

सरदार वल्लभभाई पटेल के नाम से नाम करण किये गए स्थान –

  • 1- sardar vallabhbhai patel statue of unity
  • 2- sardar vallabhbhai patel international airport
  • 3- sardar vallabhbhai patel stadium
  • 4- sardar vallabhbhai patel national memorial
  • 5- sardar vallabhbhai patel university
  • 6- sardar patel apmc market ahmedabad gujarat

statue of unity india का निर्माण करने वाली कंपनी –

सरदार वल्लभभाई पटेल की प्रतिमा का निर्माण लार्सन एंड टुब्रो कंपनी ने किया था और इसे बनाने के लिए सबसे कम बोली लगाकर इस प्रोजेक्ट जीता था। 

इसे भी पढ़े : – Virupaksha Temple Pattadakal History In Hindi – karnatak

सरदार पटेल स्टैच्यू निर्माण की लागत – Statue Of unity Cost

स्टैचू ऑफ यूनिटी  के निर्माण में करीबन 2332 करोड रुपए का खर्च हुवे थे और वहा की पूरी परियोजना का निर्माण में 3000 करोड रुपए का खर्च हुवा था। 

 स्टैच्यू ऑफ यूनिटी के नजदीकी पर्वतीय श्रृंखलायें –

भारत के महान सरदार वल्लभभाई पटेल की प्रतिमा नर्मदा बांध की तरफ मुख रखकर निर्माण किया गया है यह स्थान गुजरात के केवडिया शहर के नजदीकी सापुतारा और विंध्य पर्वत श्रृंखला के मध्य में स्थित है। 

सरदार की प्रतिमा में 20,000 वर्ग मीटर का क्षेत्र शामिल है और करीबन 12 वर्ग किमी कृत्रिम झील से घिरा हुवा है। 

सरदार पटेल स्टैच्यू के अन्दर ऑब्जरवेशन डेक –

स्टेच्यू ऑफ़ यूनिटी की करीबन नर्मदा नदी से 500 फीट की ऊंचाई पर स्थित ऑब्जरवेशन डेक निर्माण करवाया गया है। इसमें एक समय में 200 लोगों एकसाथ रुक सकते है। क्योकि इस में आनेवाले पर्यटको को एक मनोरम दृश्य देखने को मिल सकता है इस म्यूजियम में लेजर लाइट शो भी दिखाया जाता है। 

स्टैच्यू ऑफ यूनिटी की मजबूती –

sardar patel statue of unity इस प्रतिमा का निर्माण इस तरह से किया गया है की हवा ,जल ,भूकंप जैसी भयंकर आफतो से लड़ने में सक्षम है। यह प्रतिमा तेज भूकंप 60 किमी प्रति सेकंड से लेकर 100 किमी तक का सामना करने में सक्षम है। 

स्टैच्यू ऑफ यूनिटी के अन्य पर्यटन स्थल –

स्टेच्यू ऑफ़ यूनिटी के नजदीकी एक म्यूजियम, एक 3 सितारा लक्ज़री होटल,एक फ़ूड कोर्ट, एक स्मारक उद्यान और एक भव्य संग्रहालय यह स्मारक स्टेच्यू ऑफ़ यूनिटी का ही हिस्सा है। 

स्टैच्यू ऑफ यूनिटी की टिकट बुकिंग –

 यूनिटी ऑफ स्टैच्यू की यात्रा करने के लिए पर्यटक ऑनलाइन टिकट और ऑफलाइन टिकट बुक करावा सकते है। 

स्टैच्यू ऑफ यूनिटी का प्रवेश शुल्क – Statue Of Unity Ticket Price

 यूनिटी ऑफ स्टैच्यू  प्रवेश करने में 60 रु से लेकर 350 रु रहता है। स्टेच्यू ऑफ़ यूनिटी को देखने के लिए पर्यटक ऑनलाइन और ऑफलाइन टिकिट बुक करावा सकते है।  पर्यटक इस प्रतिमा को देखने के लिए हफ्ते के सभी दिनों में सुबह 9 बजे से शाम के 6 बजे तक खुला रहता है।

इसमें 5 सालो के बच्चो के लिए प्रवेश निशुल्क है। इसमें हर स्थान में गुमने के लिए आपको 350 रुपये प्रति व्यक्ति को देना पड़ेगा। 350 रुपये में आप अवलोकन डेक, फूलों की घाटी, सरदार पटेल स्मारक, संग्रहालय और ऑडियो-विज़ुअल गैलरी, एकता साइट की प्रतिमा और सरदार सरोवर बांध में में गुम सकते है। statue of unity package-3000

इसे भी पढ़े :- Gol Gumbaz History In Hindi bijapur – historyofindia1

इसके अलावा 15 साल के कम उम्र के बच्चो के लिए 60 रु है और बड़ो के लिए 120 रु प्रति व्यक्ति है। इसटिकट में आप फूलों की घाटी, सरदार पटेल स्मारक, संग्रहालय और ऑडियो-विज़ुअल गैलरी के लिए मूल प्रवेश टिकट शामिल है, एकता साइट और बांध की प्रतिमा को देख सकते है। 

Statue Of Unity Map-

स्टैच्यू ऑफ यूनिटी कैसे पहुंचे –

  • स्टेच्यू ऑफ़ यूनिटी जो की गुजरात में स्थित है।
  • अगर आप इस स्टेच्यू की यात्रा करना चाहता है तो आपको नर्मदा जिले के केवडिया डेम पहुंचना होगा। 
  • अगर आप इसकी यात्रा रेल्वे या फिर हवाई मार्ग से करना चाहते है।
  • तो आप स्टेच्यू ऑफ़ यूनिटी के सबसे नजदकी हवाई और रेल्वे मथक वड़ोदरा है। 
  • वहा से केवडिया से करीबन 86 किमी की दुरी पर स्थित है।
  • आप वह से सड़क मार्ग से दो घंटे की यात्रा करने के बाद
  • आप स्टेच्यू ऑफ़ यूनिटी तक पहुँच सकते है। 

statue of unity video –

स्टैच्यू ऑफ यूनिटी के प्रश्न –

1 . स्टैच्यू ऑफ यूनिटी कहा है ?

    स्टेच्यू ऑफ़ यूनिटी गजरात के नर्मदा जिले के केवडिया शहर से

करीबन 86 किमी की दुरी पर सरदार सरोवर बांध पर स्थित है।

2 . स्टैच्यू ऑफ यूनिटी की कमाई कितनी है ?

    स्टैच्यू ऑफ यूनिटी ने एक साल में 63 करोड़ रुपए की कमाई की थी।

इसे भी पढ़े :- Mysore Palace History In Hindi karnatak – historyofindia1

3 . statue of unity india की लागत कितनी हुई थी ?

    स्टैचू ऑफ यूनिटी  के निर्माण में करीबन 2332 करोड रुपए का खर्च हुवे थे।

वहा की पूरी परियोजना का निर्माण में। 3000 करोड        रुपए का खर्च हुवा था।

4 . स्टैच्यू ऑफ यूनिटी का क्षेत्र कितना है ?

    सरदार की प्रतिमा में 20,000 वर्ग मीटर का क्षेत्र शामिल है और करीबन 12 वर्ग किमी कृत्रिम झील से घिरा हुवा है। 

5 . स्टैच्यू ऑफ यूनिटी की ऊंचाई कितनी है

    इस प्रतिमा की ऊंचाई करीबन 182 मीटर है। और यह 60 मंजिला ईमारत जीतनी दिखती है।

6 . स्टैच्यू ऑफ यूनिटी kya hai ?

    स्टेच्यू ऑफ़ यूनिटी भारतके महान पुरुष सरदार वल्लभभाई पटेल की याद निर्मित उनकी प्रतिमा है। 

7 . पर्यटकों की संख्या हर साल कितनी आती है ?

    स्टेच्यू ऑफ़ यूनिटी को  2019 के पूरे साल में 39 मिलियन पर्यटकों ने देखा था। 

Conclusion –

आपको मेरा सरदार वल्लभभाई पटेल स्टेच्यू के बारे में पूरी तरह से समज आ गया होगा।

इस लेख के द्वारा हमने statue of unity india के बारे में जानकारी दी।

अगर आपको इस तरह के अन्य ऐतिहासिक स्थल, और प्राचीन स्मारकों की जानकरी पाना चाहते है।

तो कमेंट करके जरूर बता सकते है।

हमारे आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ शयेर जरूर करे। जय हिन्द।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *