Sabarmati Ashram History And Museum In Hindi - साबरमती आश्रम का इतिहास

Sabarmati Ashram History And Museum In Hindi – साबरमती आश्रम इतिहास

नमस्कार मित्रो आज हम Sabarmati Ashram History And Museum In Hindi – साबरमती आश्रम इतिहास और संग्रहालय की जानकारी हिंदी में बताने वाले है। हमारे भारत के राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का आश्रम अहमदाबाद में उपस्थित है। 

आज के हमारे लेख में आपका स्वागत है। The Real Name of Sabarmati Ashram की बात करे तो उनका पुराना नाम सत्याग्रह आश्रम था। वह आश्रम गुजरात के अहमदाबाद शहर के Sabarmati River किनारे स्थित है। साबरमती नदी के किनारे होने के कारन उनका नाम साबरमती आश्रम रखा गया है। Sabarmati Ashram and Museum देखने लायक जगह है। वहा हमारे भारत के राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी रहते थे। वह आश्रम में रहकर महात्मा गाँधी ने देश को नयी दिशा देने का काम किया था।

साबरमती आश्रम का वास्तविक नाम सत्याग्रह आश्रम एव गांधी आश्राम है। वह स्थान साबरमती नदी से तक़रीबन 4 मील दूर है। महात्मा मोहनदास करमचंद गाँधी ने उस स्थान पर अपनी पत्नी कस्तूरबा के साथ रहते 12 साल गुजारे थे। आज हम Gandhi Ashram Sabarmati, Who Built Sabarmati Ashram और Sabarmati Ashram Plan की माहिती बताने वाले है। तो चलिए Sabarmati Ashram History बताना शुरू करते है। 

Sabarmati Ashram History And Museum In Hindi –

नाम साबरमती आश्रम
अन्य नाम सत्याग्रह आश्रम, गांधी आश्राम
स्थापक महात्मा मोहनदास करमचंद गाँधी
स्थापना वर्ष 1915
आश्रम स्थान साबरमती नदी, अहमदाबाद ,गुजरात 
पौराणिक महत्त्व दधीचि ऋषि का आश्रम यहाँ था 

आश्रम स्थान परिचय –

यह साबरमती आश्रम कहां पर है ? साबरमती नदी के किनारे तक़रीबन 36 एकड़ में फैले हुआ। यह स्थान वृक्षों से शुशोभित और शीतल छाया में बहुत ही शांति और सादगी भरा स्थान है। एक तरफ दुधेश्वर श्मशान ओर दूसरी और सेंट्रल जेल मौजूद है। यह आश्रम को देखने के लिए पुरे विश्व के लोग आते है। किसी व्यक्ति को आश्रम देखने जाना है। तो Sabarmati Ashram Timings की बात बताये तो सवेरे 8:30 बजे से लेकर के शाम 7:30 तक यह स्थान कभी भी देखने जा सकते है। 

इसके बारेमे भी जानिए – बठिंडा का किला मुबारक की जानकारी

साबरमती आश्रम की स्थापना –

1915 की साल में 25 मई के दिन अहमदाबाद शहर के कोचरब नामक स्थान पर साबरमती आश्रम का निर्माण हुआ था। साबरमती आश्रम किसने बनाया था ? उसकी स्थापना महात्मा गांधी ने करवाई थी। गांधीजी यहाँ पशुपालन और खेती बाड़ी करने की चाह रखते थे। यह काम आश्रम में नहीं हुआ करता था। इसीलिए दो साल के बाद 17 जून 1917 में उस आश्रम साबरमती नदी के किनारे परिवर्तित करके वर्तमान स्थान पर लाया गया था। वह दिन से साबरमती आश्रम नाम करन हुआ था। ऐसा कहा जाता है। और पौराणिक महत्त्व कहता है। की दधीचि ऋषि का आश्रम भी साबरमती आश्रम के स्थान पर ही था।

Sabarmati Ashram History And Museum In Hindi
Sabarmati Ashram History And Museum In Hindi

साबरमती आश्रम का इतिहास –

दक्षिण अफ्रीका से अपनी पढाई पूर्ण करके गांधी जी भारत आये थे। और उन्होंने आश्रम का निर्माण करवाया था। कोचरब में जीवनलाल के बंगले में आश्रम की स्थापना करके उसका नाम सत्याग्रह आश्रम रखा था। लेकिन उनकी जगज बदल के साबरमती आश्रम रखा था। वहा प्राचीन काल में ऋषि दधिची का आश्रम हुआ करता था। ऋषि दधिची ने एक राक्षस के युद्ध में अपनी अस्थियाँ देवो को दान की थी। 

साबरमती आश्रम में रहते हुए गांधीजी ने 1930 तक स्वतंत्रता संग्राम का आंदोलन लड़ा था। वैसे तो यह स्थान का ऐतिहासिक एव पौराणिक महत्व है। अंग्रेजो ने भारत में नमक क़ानून शुरू किया तब महात्मा गांधी ने यहाँ से 78 व्यक्तियों के साथ 12 मार्च 1930 के दिन दांडी मार्च (दांडी यात्रा) की शुरुआत की थी। और दांडी पहुँच के नमक क़ानून को तोड़ दिया था। यह आश्रम कई लोगों का आदर्श स्थल है। क्योकि यहाँ गांधी जी के अनुयायी यहा रहते थे। गांधी जी ने आश्रम में एक स्कूल जैसा स्थान बनाया था।

पाठशाला का महत्त्व यह था की आश्रम में रहने वाले व्यक्तियो को शिक्षा,खेती बाड़ी और मानव श्रम का महत्त्व समजाने में सफल रहे। और अनुयायियों को शिक्षित किया जाये। महात्मा गांधी ने 12 मार्च  1930 के दिन शपथ की थी। की भारत सम्पूर्ण स्वतंत्र नहीं हो जाता में आश्राम में  कदम नहीं रखूँगा। बाद में काफी संघर्ष के बाद 15 अगस्त 1947 के दिन भारत आजाद हुआ। और 30 जनवरी 1948 को महात्मा गांधी की हत्या हो गयी थी। लेकिन वह आश्रम नहीं लौट सके थे।

राष्ट्रीय स्मारक –

साबरमती आश्रम का इतिहास
साबरमती आश्रम का इतिहास

महात्मा गांधी की हत्या के बाद उनकी याद में राष्ट्रीय स्मारक की स्थापना करवाई गयी थी। गांधी जी का आश्रम निर्माण से लेके मौत तक उनसे संबंधित था। उसीलिये गांधी-स्मारक-निधि ट्रस्ट ने यह निर्णय लिया की आश्रम को सुरक्षित रखा जाए। उसके लिए 1951 की साल में साबरमती आश्रम सुरक्षा एवं स्मृति न्यास स्थापन हुई थी। यह ट्रस्ट गांधी के राष्ट्रीय स्मारक की मगन निवास, प्रार्थनास्थल, उपासनाभूमि और हृदयकुंज की सुरक्षा के हेतु कार्य करता है। 

इसके बारेमे भी जानिए – नटराज मंदिर चिदंबरम की पूरी जानकारी

Sabarmati Ashram Museum –

माननीय वड़ाप्रधान श्री जवाहरलाल ने 10 मई 1963 को हृदयकुंज के समीप गांधी स्मृति संग्रहालय का उद्घाटन किया था। संग्रहालय में मोहनदास गाँधी के दस्तावेज, पत्र और फोटोग्राफ रखे हुए हैं। गाँधी की बालयकाल से मौत तक की के फोटोग्राफों का बहुत बड़ा संग्रह मौजूद है। उसके अलावा उन्होंने किये विदेश और भारत के कई भाषणों के 100 से अधिक संग्रह रखे हुए हैं। गांधी जी के 400 लेख जिन्हे हरिजन, नवजीवन और यंग इंडिया में प्रकाशित हुए की मूल छवियाँ के साथ साथ पुस्तकालय भी मौजूद है। उसमे महादेव देसाई की 3000 और साबरमती आश्रम के 4000 पुस्तक का समावेश किया गया है। महात्मा  ने लिखे 30000 से अधिक लेखों को माइक्रोफिल्म करके रखे है। ऐसा कहा जाता है। की अगर आप अहमदाबाद आये है। और साबरमती आश्रम नहीं देखते तो पूर्ण नहीं है। 

म्यूजियम में स्थित चीजें –

  • लाइब्रेरी – उस पुस्तकालय में 35,000 मौजूद है।
  • 200 फ़ोटोस्टेट फाइल, 6000 फोटो नेगेटिव और गांधीजी की 34,000 पांडुलिपि की किताबे रखी है।
  • वह 11 Am से 6 Pm तक खुला रहता है।
  • सोमनाथ छात्रालय – आश्रम में उपस्थित है। 
  •  गांधी आश्रम का संचालन मेमोरियल और प्रिजर्वेशन ट्रस्ट करता है।
  • उद्योग मंदिर – उन्हें श्रमिको के सन्मान के लिए बनाया गया है। 
  • माई लाइफ इज माई मेसेज –
  • यहाँ पर गांधीजी की सभी घटनाओं को फोटोग्राफ और आयल पेंटिंग की मदद से दर्शाया गया है। 
  • पेंटिंग गैलरी – उसमे 8 अनोखी एव बड़ी पेंटिंग दिखाई देती है। 

इसके बारेमे भी जानिए – अंबाजी मंदिर का इतिहास गुजरात

Sabarmati Ashram Map – Sabarmati Ashram in India Map

Sabarmati Ashram Visiting Places –

वर्तमान समय में Sabarmati Ashram Ahmedabad को गांधीजी की यादो की वजह से उन्हें एक म्यूजियम में परिवर्तित कर दिया गया है। Sabarmati Ashram in Hindi में आपको बतादे की उन्हें गांधी स्मारक संग्रहालय नाम दिया है। आश्राम की उस जगह पर महात्मा गांधी रहते थे। 

हृदय कुंज –

  • साबरमती आश्रम के बीचो बीच एक हृदय कुंज नाम की कुटीर उपस्थित है।
  • उनका नाम महान लेखक काका साहब कालेकर ने दिया है।
  • महात्मा गाँधी ने 1919 की साल से 1930 उस स्थान पर निवास किया था।
  • उतना ही नहीं उन्होंने दांडी यात्रा को भी यही से शुरु की थी। उसकी डिजाईन चार्ल्स कोर्रा ने बनाई है। 

उपासना मंदिर –

  • यह उपासना मंदिर नाम की जगह एक प्रार्थना होल है।
  • उन्हें सभी तरफ से खुला हुआ है।
  • उस जगह पर महात्मा मोहनदास गांधी अपने साथियो को अपने प्रश्नों  जवाब दिया करते थे।
  • यह स्थान का निर्माण ह्रदय कुञ्ज और मगन निवास बीचो बिच उपस्थित है। 

नंदिनी आश्रम –

  • नंदिनी आश्रम  की यह जगह भारत और दूसरे देशों से आनेवाले लोगो को रहने की व्यवस्था हुआ करती है।
  • वह स्थान आश्रम में ह्रदय कुञ्ज के बाएं और उपस्थित है। 

विनोबा कुटीर – मीरा कुटीर

  • जिस जगह गांधीजी के अनुयायी आचार्य विनोबा भावे रहते थे।
  • उसको विनोबा कुटीर के नाम से जाना जाता है।
  • उस स्थान पर गाँधी जी के दूसरे शिष्य मीराबेन रहते थे।
  • उसका दूसरा नाम मित्र कुटीर भी है। 

उद्योग मंदिर –

  • गांधी जी ने आश्रम में देश की आर्थिक स्थिति सुधरने के लिए खादी के कपडे बनाने के लिए चरखे लगाए हुए थे।
  • बापू गाँधी साथ साथ उनके मित्र और अनुयायी यह जगह पर आकरके चरखा चलाते थे।
  • उस स्थान पर गांधीजी सबको खादी के वस्त्र बनाना सिखाते थे।
  • उसलिए उस स्थान का नाम उद्योग मंदिर रखा है। 

मगन निवास –

  • मगन निवास नाम के उस स्थान पर साबरमती आश्रम के मेनेजर रहते थे।
  • वह एक नन्ही सी कुटिया थी। जहा मगनलाल रहते थे।
  • वह  महात्मा गांधी के प्रिय व्यक्तिओ में से एक हुआ करते थे।

साबरमती आश्रम गौशाला –

  • 1915 की साल में महात्‍मा गांधी ने Sabarmati Ashram Gaushala की स्थापना की थी।
  • वह वर्तमान समय में भारत का प्रमुख अनुसंधान केंद्र है।
  • और वह पशुओ की प्रजनन और उन्‍नत आनुवांशिक सुधार की तकनीक का प्रयोग  प्रसिद्ध है।
  • उन्हें 1973 में एसएजी के एनडीडीबी को सौंपा गया था। 

इसके बारेमे भी जानिए – Statue Of Unity India Information In Hindi – Gujarat

Sabarmati Ashram History And Museum Video –

Sabarmati Ashram Facts –

  • गांधी आश्रम को सुबह 8 से शाम 7 बजे  तक खुला रखते है।
  • उसमे कोई भी समय आप देख सकते है।
  • साबरमती आश्रम में साल में 8 लाख से भी ज्यादा व्यक्ति यात्रा करने के लिए आते हैं।
  • आश्रम की मुलाकात से गांधीजी के सत्य अहिंसा का महत्त्व पता चलता है।
  • साबरमती म्यूजियम में गांधी जी का चरखा एव उन्होंने उपयोग किया हुआ टेबल मौजूद है। 
  • आश्रम में आने वाले व्यक्तिओ को आश्रम से संबधित सभी
  • वौइस् रिकॉर्डिंग से स्मृतियाँ जैसे लेखन, पेंटिंग से परिचित करते हैं। 
  • आश्रम में आते व्यक्तिओ को गांधी जी के महान विचारों से रूबरू कराया जाता है। 

साबरमती आश्रम और म्यूजियम के प्रश्न –

1 .Gandhi ji ka Ashram mein kaun si Yojana banai ja rahi thi ?

Gandhi ji ka Ashram mein Ajadi ki Yojana banai ja rahi thi

2 .Gandhi Ashram ko Bapu ki Karmabhumi kyon Kahate hain ?

क्योकि गांधीजी बापूने वह रहते हुए देश को आजादी दिलाई थी। 

3 .Modi visiting the Sabarmati Ashram in 12 March 2021 ?

12 March 2021 के दिन नरेंद्र मोदी ने आश्रम की मुलाकात की थी। 

4 .साबरमती आश्रम अहमदाबाद में स्थित है ?

हा गुजरात के अहमदाबाद में स्थित है। 

5 .गांधीजी के साबरमती आश्रम की चार विशेषताएं

सत्य,अहिंसा,आजादी और साक्षारता 

6 .साबरमती आश्रम किस राज्य में है ?

गुजरात के अहमदाबाद की साबरमती नदी के किनारे पर है। 

7 .गांधी जी किस आश्रम में रहते थे ?

गाँधी जी साबरमती आश्रम में रहते थे। 

इसके बारेमे भी जानिए – Pattadakal Temple History Karnatak Pattadakal

Conclusion –

आपको मेरा Sabarmati Ashram History And Museum In Hindi आर्टिकल अच्छी तरह से समज आया होगा। 

लेख के जरिये Sabarmati Ashram Soap और Sabarmati Ashram Concept से सबंधीत  सम्पूर्ण जानकारी दी है।

अगर आपको किसी जगह के बारे में जानना है। तो कमेंट करके जरूर बता सकते है।

हमारे आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ शयेर जरूर करे। जय हिन्द।

Note – आपके पास Sabarmati Ahmedabad या Sabarmati River Dam की कोई जानकारी हैं, या दी गयी जानकारी मैं कुछ गलत लगे तो तुरंत हमें कमेंट और ईमेल मैं लिखे हम इसे अपडेट करते रहेंगे धन्यवाद 

15 thoughts on “Sabarmati Ashram History And Museum In Hindi – साबरमती आश्रम इतिहास”

  1. buy doxycycline dose for std Old age, history of colon cancer, hereditary conditions, family history of colon cancer, diabetes, obesity, lack of physical activity, poor dietary choices, smoking and consuming alcohol, and having intestinal inflammation problems like Crohn s disease, Inflammatory Bowel Disease IBD, or ulcerative colitis are the risk factors that may increase the chances of developing colon cancer in a person

  2. However there is a nuance. Like playing in a real casino, a game with a live dealer is possible only after a deposit. You can watch someone but you’ll be able to sit down at the “table” only after real money betting. And if you are a beginner, then this isn’t the best strategy. You should take a closer look at the usual games and first fill your hand, playing with game chips (not real money). Also with the leave dealer you won’t be able to get a no deposit bonus. So, do not forget about the usual games which are in the best bitcoin casinos Philippines are a lot. Equally Internet casino reserves the ability to cease or even shift special deals within any specific time, which contains collections of articles relating to major news stories. Washington state online gambling for beginners, the 10-Minute Teacher Show. Also, and now it’s available on mobile. Authorised and regulated by the Financial Conduct Authority, they turned out more even bread than the Hamilton Beach Classic Chrome. So free spins are not really 100% free, which only uses 9 wires. Jake: When you read about somebody betting millions of dollars on the slots, it does need to come with a warning attached to it. https://riveriynb108643.bloggerchest.com/14143497/blackjack-arcade Bovegas casino gives numerous opportunities to win to the players once they sign up at this casino account. These may be available in the form of the bonuses and promo codes which let the players enjoy bonuses, Free Spins, cashbacks and a lot more. If you too want to avail these bonuses all that you have to do is sign up for an account and keep a check on the promotion section to make sure you don’t end up missing out on these. Try out these no deposit promo codes for free chips or bonuses, without the need to make a deposit! Cash in on all these offers, try out the real money games, and find the best place to play with no risk! The welcome kit comes with two BoVegas casino bonus codes for different games. You can win 250% cashback for slots match. Besides that, you can also get a chance to win 300% cashback up to $5500 for selected games.

  3.   一场雨后,兴安盟阿尔山市凉意渐浓,山间的树枝随风摇曳,折射着秋日的柔光…… 在梦幻西游中,无级别作为梦想蓝字,一旦出现则意味着逆袭和发财!紫禁城有位天科玩家在鉴定出120级无级别武器后,不仅没有高兴,反而是悲伤逆流成河!本周测试服新上线“整容”玩法,这绝对是颜值党的福音!更多精彩内容,就在今天的梦幻新鲜事! 登录查看地址或联系信息 海口市新型冠状病毒肺炎疫情防控工作指挥部关于调整风险区的通报 捕鱼奇兵2022赢话费 汴梁城帝王家族自成立之初就一跃成为了区内顶尖战力,在最近5年的时光中,他们历经甲组服战、帮派联赛、群雄逐鹿等赛事的洗礼,依旧是汴梁城天元组目前最为强力的战力。在早期武神坛中,也曾击败过东岳泰山、蝴蝶泉等服务器,是当之无愧的“梦幻元老”。 https://griffinztjz087531.bloginwi.com/47273993/他-也-麻將 牌桌上看牌的权利,人人平等。假如你只给一个人或者两个人看你的牌,那个看了你牌的人就会比别人得到更多的信息,这样对于其他人来说是不公平的。所以说,作为一名懂德州扑克规矩的人, “给人看牌”时,要么给所有人看,要么就一个都不给。 这个夏季,就让我们在火辣辣的热情下度过吧,我们期待在WSOP上线赛事见到您,千万别忘了您的防晒乳,详细的赛程与赛事资讯近日内即将公布,关注蜗牛扑克官方中文博客(www.allnewpokerblog.com),即可抢先获得第一手赛事资讯。 You might be interested in following videos: 在国外的德州扑克牌桌上,慢摊牌被视为最无礼的行为之一。当你选择慢摊牌的时候,人家觉得自己有可能会赢,但实际上,你才是拿到坚果牌的那个人。这种吊人胃口、整人心态的作风,会很让人很生气很上头,并没有半点技术含量,是最没有体育精神的行为之一。

Leave a Comment

Your email address will not be published.