Ramappa Temple History In Hindi

Ramappa Temple History In Hindi | रामप्पा मंदिर का इतिहास और जानकारी

नमस्कार दोस्तों Ramappa Temple In Hindi में आपका स्वागत है। आज हम तेलंगाना राज्य के वारंगल शहर के पास पालमपेट गाँव में स्थित रामप्पा मंदिर का इतिहास और रामप्पा मंदिर वारंगल की मूर्ति का रहस्य बताने वाले है। रामप्पा मंदिर को एक और नाम रामलिंगेश्वर मंदिर से भी जाना जाता है। और यही नाम से प्रसिद्ध है। पूरे विश्व में यही शायद अकेला ऐसा मंदिर होगा जिसका नाम मंदिर के विराजित देवता या भगवान के नाम पर न होकर मंदिर बनाने वाले शिल्पकार ‘रामप्पा’ के नाम पर रखा गया है। 

रामप्पा मंदिर वारंगल से लगभग 67 किमी दूर एव हैदराबाद से 160 किमी दूर स्थित है। किसी भी वारंगल यात्रा का एक महत्वपूर्ण हिस्सा, यह मंदिर अपनी ऐतिहासिक समृद्धि और स्थापत्य उत्कृष्टता के लिए जाना जाता है। मंदिर के आसपास के क्षेत्रों की प्राकृतिक सुंदरता भी देखने लायक है। तेलंगाना राज्य के रामप्पा मंदिर में 800 साल से भी अधिक पुराने कई अनोखे रोचक रहस्य छुपे हैं। आपको बतादे की मंदिर कई भूकंप आने के बावजूद आज भी वैसा ही खड़ा है। मगर उस काल के कितने ही मंदिर खंडहर हो चुके हैं।

Ramappa Temple History In Hindi

रामप्पा मंदिर का इतिहास देखे तो कुछ अभिलेखों के अनुसार रामप्पा मंदिर का निर्माण लगभग 1213 ई. इस मंदिर का निर्माण काकतीय राजा गणपति देव के शासन काल में हुआ था। इसे चीफ कमांडर रेचेरला रुद्र की देखरेख में बनाया गया था। हालाँकि मंदिर को इसके मूर्तिकार रामप्पा के नाम से जाना जाता है। यह मंदिर दक्षिण भारत के मध्यकालीन मंदिरों में सर्वश्रेष्ठ में से एक माना जाता है। दशकों पुराने होने और समय के साथ विभिन्न आक्रमणों और युद्धों को देखने के बावजूद, रामप्पा मंदिर अभी भी भव्य रूप से खड़ा है, जो हर आगंतुक पर एक आकर्षक प्रभाव पैदा करता है।

रामप्पा मंदिर का इतिहास और जानकारी

इसके बारेमे भी पढ़िए – तारापीठ मंदिर का इतिहास और संपूर्ण जानकारी

Ramappa Temple Was by Built by

रामलिंगेश्वर मंदिर जिसे रामप्पा मंदिर के नाम से जाना जाता है। वह 1213 ईस्वी पूर्व का है। यह काकतीय साम्राज्य के शासनकाल के दौरान बनाया गया था। भगवान रामलिंगेश्वर को समर्पित यह देश का एकमात्र ऐसा मंदिर है जो अपने मूर्तिकार के नाम से जाना जाता है, जिसका नाम रामप्पा था। आज भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण के प्रशासन के तहत मंदिर क्षेत्र के गौरवशाली अतीत और काकतीय शासन की एक झलक प्रस्तुत करता है। वर्तमान में झील के किनारे रेस्टोरेंट के साथ कॉटेज भी हैं। जिन्हें पर्यटन विभाग ने स्थापित किया है। उसलिए आप खूबसूरत मंदिर और आसपास के क्षेत्रों को आराम से देख सकते हैं और बाद में कॉटेज में आराम से समय बिता सकते हैं।

रामप्पा मंदिर का फोटो

Ramappa Temple Timings

रामप्पा मंदिर के दर्शन का समय या खुलने का समय सुबह 6 बजे से शाम 6 बजे तक है। उस समय में किसी भी समय में आप मंदिर में दर्शन के लिए जा सकते है।

Ramappa Temple Images

इसके बारेमे भी पढ़िए – जिंजी किला का इतिहास और महत्वपूर्ण जानकारी

Best Time To Visit Ramappa Temple Warangal

रामप्पारामप्पा मंदिर वारंगल जाने का सबसे अच्छा समय – वारंगल जिला सम्मक्का-सरक्का जात्रा या मण्डली उत्सव की मेजबानी करता है। यह एक द्विवार्षिक मेला है, जिसमें अनेक लोग हिस्सा लेते है। यात्रिओ को रामप्पा मंदिर वारंगल घूमने का सबसे अच्छा समय सितंबर से अप्रैल तक माना जाता है। रामप्पा मंदिर कुछ भव्य पत्थर की नक्काशी देखी जा सकती है। मंदिर 1213 ईस्वी पूर्व का एक सुंदर स्मारक है। यह काकतीय साम्राज्य की प्रतिभा और समृद्धि को दर्शाता है।

Ramappa Temple Photos

Ramappa Temple Architecture

रामप्पा मंदिर की वास्तुकला काकतीय शैली का एक अद्भुत उदाहरण है। मंदिर को एक ऊँचे तारे के आकार के मंच पर अपने परिवेश से ऊपर उठाने के लिए डिज़ाइन किया गया है। मंदिर के मुख्य गर्भगृह में तीन प्रवेश द्वार हैं। जिनमें से प्रत्येक विस्तृत मूर्तियों और नक्काशी से घिरा हुआ है। बलुआ पत्थर से निर्मित मंदिर मूर्तियाँ मंदाकिनी से लेकर पौराणिक जानवरों तक कई चीजों को दर्शाती हैं। तीन अलग-अलग खंड, अर्थात् अंतराल, महा मंडप और गर्भगृह मिलकर रामप्पा मंदिर का निर्माण करते हैं। मंदिर की दीवारें नक्काशियों से सुशोभित एव खंभों और छतों पर भी पाई जाती हैं।

कमल के रूपांकनों, विभिन्न मुद्राओं में हाथी और नरसिंह और गणेश जैसे देवताओं की छवियां रामप्पा मंदिर की छत को बनाए रखने वाले कई स्तंभों को सुशोभित करती हैं। इनमें से प्रमुख हिंदू पौराणिक कथाओं की मूर्तियां हैं। जो मंदिर को उसके आधार से लेकर उसकी दीवार के पैनल और छत तक सभी तरह से कवर करती हैं। मंदिर की छत अल्ट्रा लाइट ईंटों से बनी है, जो पानी पर तैरने के लिए पर्याप्त प्रकाश है। शिव के आकाशीय बैल नंदी की मूर्ति को भी परिसर की रखवाली करते देखा जा सकता है।

रामप्पा मंदिर की फोटो गैलरी

इसके बारेमे भी पढ़िए – गिर नेशनल पार्क घूमने की पूरी जानकारी

How To Reach Ramappa Temple Warangal

वारंगल से रामप्पा मंदिर के लिए कोई सीधी बस नहीं है। मगर रामप्पा मंदिर वारंगल से 67 किमी दूर स्थित है। यह पालमपेट गांव में स्थित मुलुगु मंडल से 19 किमी दूर है। वहाँ मंदिर तक पहुँचने के लिए पर्यटकों को हैदराबाद से वारंगल पहुँचने की आवश्यकता होती है। आप मुलुग के लिए एक बस में सवार हो सकते हैं जहाँ से आप पालमपेट के लिए बस ले सकते हैं। बस आपको मंदिर के प्रवेश द्वार पर छोड़ देगी जहां से आप मंदिर के लिए एक ऑटोरिक्शा ले सकते हैं। जो प्रवेश द्वार से 2 किलोमीटर दूर है। आप मंदिर जाने की योजना बना रहे हैं, तो आप NH202 से एतुनगरम और फिर जंगलपल्ली और अंत में घानापुरम जा सकते हैं। आप निजी टैक्सी किराए पर ले हैदराबाद से मंदिर की यात्रा कर सकते हैं।

Ramappa Temple latest pics

इसके बारेमे भी पढ़िए – पूर्णा वन्यजीव अभ्यारण्य की जानकारी

Ramappa Temple Warangal Map रामप्पा मंदिर का लोकेशन

Ramappa Temple History In Hindi Video

Interesting Facts

  • तेलंगाना के काकतिया वंश के महाराजा गणपति देवा ने 1213 में मंदिर का निर्माण करवाया था। 
  • मंदिर में बनी स्त्री मूर्तियाँ पर्यटकों को आश्चर्यचकित कर देंती है। 
  • मंदिर के शिल्पकार रामप्पा के काम प्रसन्न हुए राजा गणपति देवा ने मंदिर का नाम रामप्पा रख दिया था।
  • उस मंदिर के सभी मंदिर ज्यादातर अब खंडहर में तब्दील हो चुके हैं। 
  • मगर रामप्पा मंदिर को ज्यादा नुकसान नहीं पहुंचा है। 
  • शिवरात्रि के दौरान रामप्पा मंदिर में श्रद्धालुओं की भीड़ लगी रहती है।
  • वारंगल में स्थित रामप्पा मंदिर भगवान शिव को समर्पित है। 
  • 12वीं सदी में बने इस मंदिर का निर्माण काकतिया वंश के महाराज ने करवाया था।
  • तेलंगाना के वारंगल का रामप्पा मंदिर तैरने वाले पत्थरों से बनाया गया है।
  • मंदिर लाल बलुई पत्थर से बना है और मूर्तियाँ काले ग्रेनाइट स्टोन से बनी है। 
  • रामप्पा मंदिर के प्रवेशद्वार पर बाँसुरी की कलाकृति है जिसे ठोंकने पर सा-रे-गा-मा की आवाज निकलती है।
  • मंदिर 6 फुट ऊंचे तारे के आकार के चबूतरे पर खड़ा मंदिर दीवारों, खंभों और छतों पर बारीक नक्काशी है। 
  • रामप्पा मंदिर तेलंगाना का पहला विश्व धरोहर स्थल है। 

FAQ

Q .रामप्पा मंदिर कहाँ है ?

रामप्पा मंदिर भारत के तेलंगाना राज्य में स्थित है।

Q .रामप्पा मदिर में दर्शन का समय क्या है ?

सुबह 6 बजे से शाम के 6 बजे तक

Q .रामप्पा मंदिर का निर्माण किस राजा ने करवाया था ?

रामप्पा मंदिर का निर्माण काकतिया वंश के प्रतापी राजा गणपतिदेव ने करवाया था। 

Q .रामप्पा मंदिर किस देवता को समर्पित है ?

रामप्पा मंदिर भगवान् शिव जी को समर्पित है।

Q .रामप्पा मंदिर का निर्माण कब हुआ था ?

रामप्पा मंदिर का निर्माण 1213 ईस्वी पूर्व में हुआ था।

Q .वारंगल से रामप्पा मंदिर के बीच की दुरी क्या है ?

यात्री राष्ट्रीय राजमार्ग 163 का प्रयोग करते है तो वारंगल से रामप्पा मंदिर के बीच की दुरी 67 कि.मी है। 

Q .रामप्पा मंदिर किस राज्य में स्थित है ? 

तेलंगाना

Conclusion

आपको मेरा लेख Ramappa Temple Warangal In Hindi बहुत अच्छी तरह से समज आया होगा। 

लेख के जरिये Who built ramappa temple, Ramappa Temple mystery

और रामप्पा मंदिर यूनेस्को विश्व धरोहर से सबंधीत सम्पूर्ण जानकारी दी है।

अगर आपको किसी जगह के बारे में जानना है। तो हमें कमेंट करके जरूर बता सकते है।

हमारे आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ शयेर जरूर करे। जय हिन्द।  

Note

आपके पास Ramappa Temple in which district की जानकारी हैं। या दी गयी जानकारी मैं कुछ गलत लगे तो तुरंत हमें कमेंट और ईमेल मैं लिख हमे बताए हम अपडेट करते रहेंगे धन्यवाद। 

! साइट पर आने के लिए आपका धन्यवाद !

अगर आपको यह पोस्ट पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तों को जरूर शेयर करें !

Google Search

Ramappa Temple – wikipedia, Ramappa Temple upsc, bhadrakali temple, रामप्पा मंदिर तेलंगाना, मंदिरों वाला शासक किसे कहा जाता है, सूर्यदेव मंदिर, व्याडेश्वर मंदिर, ग्रेनाइट मंदिर, औरंगाबाद मंदिर, तेलंगाना के प्रसिद्ध मंदिर, गंगाईकोंडचोलापुरम मंदिर, रॉक कट मंदिर

इसके बारेमे भी पढ़िए – जीभी के पर्यटन स्थल की संपूर्ण जानकारी

Leave a Comment

Your email address will not be published.