Qila Mubarak Bathinda History In Hindi - बठिंडा का किला मुबारक की जानकारी

Qila Mubarak Bathinda History In Hindi – बठिंडा का किला मुबारक की जानकारी

नमस्कार मित्रो आज के हमारे लेख में आपका स्वागत है। आज Qila Mubarak Bathinda History In Hindi में, हमारे देश के पंजाब राज्य के (Qila Mubarak is Situated in) बठिंडा नाम के शहर में बहुत पुराण एक ऐतिहासिक स्थापत्य है। जिन्हे बठिंडा का किला मुबारक कहाजाता है। आज हम उसका इतिहास बताने वाले है। 

क़िला मुबारक को राष्ट्रीय स्थापत्य का दर्जा दिया गया है। उनकी देखभाल करने के लिए भारतीय पुरातत्त्व सर्वेक्षण विभाग को जिम्मेदारी दी गयी है। उस किले का निर्माण तक़रीबन 90 और 110 ईस्वी में हुआ ऐसा प्रतीत होता है। आज हम Bathinda Fort Amritsar, Bathinda fort Punjab और Bathinda fort Gurudwara से कुछ नया Qila Mubarak Faridkot की जानकारी बताने वाले है।वह भारत देश का बहुत प्रचित किला है। जो आजतक अपने अस्तित्व को टिकाये हुए खड़ा है। 

ऐसा कहा जाता है। की जब रज़िया सुल्ताना को पराजय का सामना करना पड़ा। और उन्हें बंदी बनालिया गया तब उन्हें बंदी बनाकर बठिंडा नगर के मुबारक फोर्ट में रखा गया था। आपको बतादे की उस किले की बनावट में कुषाण काल की सामग्री का उपयोग किया गया है। उस वक्त जब भारत और मध्य एशिया के कई भागो पर सम्राट कनिष्क का शाशन काल चलता था। तो चलिए Bathinda fort History in Hindi की जानकारी बताना शुरू करते है। 

Bathinda Fort Mubarak History In Hindi –

Bathinda Fort को भारत के राष्ट्रीय स्मारकों में स्थान दिया गया है। क्योकि वह सबसे प्राचीन किलों मे से एक कहाजाता है। मुबारक फोर्ट की बनावट तक़रीबन 90 और 110 ईस्वी के समय में करवाई गयी थी। और (Who Built Qila Mubarak) सम्राट कनिष्क ने उन्हें बनाया का प्रमाण मिलता है। उसके निर्माण के बाद वह किला कई आक्रमण और युधो का साक्षी रहा है। Moo Mubarak Fort का निर्माण का मुख्य उद्देश् यह बताया जाता है। की हूण राजा सम्राट कनिष्क के राज्य पर कोई भी आक्रमण करने का नहीं सोच सके। ऐसा कहाजाता है की राजा जयपाल ने 11 वीं शताब्दी में आत्महत्या करली थी।

उसके पश्यात महमूद गजनी ने मुबारक किले पर अपना अधिकार स्थापित करलिया था। वह शानदार किले का दौरा 1705 में गुरु गोबिंद सिंह जो शिखो के दसवें सिख गुरु है। उन्होंने किया था। इसके बाद में इस फोर्ट में गुरुद्वारा का निर्माण हुआ है। 17 वीं शताब्दी में अला सिंह महाराजा ने फोर्ट पे अपना अधिकार जमाया था। इसके पश्यात उन्होंने किले का नाम चेन्ज करके गोबिंदगढ़ करलिया था। अलग अलग राजाओं ने अपने शाशन में फोर्ट में कई बदलाव किये है। आज वह एक खंडहर में बड़ला हुआ फिर भी मौजूद है। 

 

Qila Mubarak Bathinda History In Hindi
Qila Mubarak Bathinda History In Hindi

इसके बारेमे भी जानिए – नटराज मंदिर चिदंबरम की पूरी जानकारी

Qila Mubarak Structure in Hindi –

हमारे भारत देश के पंजाब राज्य की सबसे पुरानी संरचनाओं मे प्रमुख और एक राजशाही अनुभव प्राप्त करवाने वाला फोर्ट मुबारक सभी किलो में से सबसे ऊँचा कीला है। उसकी बनावट नन्ही नन्ही ईंटों से सम्राट कनिष्क ने करवाया है। आपको बतादे की उसकी ऊंचाई तक़रीबन 118 फीट है। उसके अंदर प्रवेश करते ही दो गुरुद्वारे मौजूद है। ऐसा कहाजाता है। की रज़िया सुल्तान को बंदी बनाय रखने के लिए किले को एक नया रूप दिया और सजाया गया था। वह आज भी मौजूद है। 

Qila Mubarak Bathinda Timing –

अगर कोई भी व्यक्ति को मुबारक किले पर घूमने जाना है। और समय का पता नहीं है। सबको बतादे की Monday को छोड़कर हररोज़ सवेरे 9.00 बजे से लेकर के शाम 5.00 बजे तक सभी के लिए खुला रहता है। सभी उस समय मर्यादा तक हमेशा देखने के लिए खुला रहता है। मुबारक किला की एंट्री फीस की बात करेतो मुबारक की शेयर पर आनेवाले सभी को घूमने और प्रवेश के लिए कोई भी फीस देने की जरुरत नहीं है। यानि आपको यहाँ अनेके लिए कोई भी भुगतान करने की जरुरत नहीं है। 

किला मुबारक के आसपास के पर्यटक स्थल –

अगर कोई भी व्यक्ति मुबारक किला बठिंडा (Bathinda Fort Kohinoor) को देखने जाता है। तो उन्हें उसके नजदीक के देखने योग्य पर्यटक स्थल की लिस्ट होने जरुरी है। क्योकि अगर आप वहा गए ही है। तो नजदीकी देखने योग्य स्थान का पता होना चाहिए ऐसे ही हमने आपके लिए उसके लिए एक लिस्ट बनाया है। जो आपको बताएंगा की आपको यह जगह जरूर देखनी चाहिए। 

  • रोज गार्डन
  • दमदमा साहिब गुरुद्वारा
  • बीर तालाब जू
  • लाखी जंगल
  • चेतक पार्क
  • मैसर खाना मंदिर
  • पीर हाजी रतन का मजार

इसके बारेमे भी जानिए – अंबाजी मंदिर का इतिहास गुजरात

Qila Mubarak Best Time To Visit –

ऐसे तो पूरा पंजाब राज्य बहुत खूबसूरत है। लेकिन उसमे प्राकृतिक सुन्दरता उन्हें और खूबसूरती प्रदान करती है। उनके पर्यटक स्थल तो क्या बात करे बात करते करते थकते ही नहीं है। फिरभी आपको बठिंडा के मुबारक किले की शेर करनी है। तो आप अक्टूबर से मार्च के बीच जाये टी अच्छा रहेगा। (Bathinda Fort Timings) क्योकि उस समय सर्दियों के मौसम होने के कारन उस जगह का मंजर बहुत ही मनमोहक हुआ करता है। क्योकि उस समय सभी जगह हरियाली छाई होने के कारन बेहद खूबसूरत दिखाई देता है। ऐसे तो गर्मियों के मौसम में उस मुबारक किले का तापमान 45 डिग्री सेल्सियस को निचे राख के ऊपर चला जाता है। 

किला मुबारक के अंदर एक नजर –

वैसे तो पूरा फोर्ट बहुत अच्छा और नयन रम्य स्थान है। लेकिन उसकी कुछ खास बातो से आपको पहचान करवाते है। फोर्ट के परिसर में अंदरून के किनारे मेहमान घर बना हुआ है। और एक हॉल उपस्थित हैं। उसमे कई विभिन्न अलग अलग आईने यानि शीशे लगे हुए हैं। दरबार हॉल में चित्रकारी के बेनुम नमूने और तस्वीर लगी हुई है। जो अपने राजाओ एव शासकों की कला करदानी को रूबरू करवाती है। आपको बताते की फोर्ट में भूमिगत सीवरेज प्रणाली शामिल है। वैसे तो बहुत प्राचीन किले की हालतअब अच्छी नहीं रही लेकिन 2004 की साल में विश्व स्मारक के जरिये उन्हें 100 सबसे लुप्तप्राय स्मारकों में में उन्हें प्रवेश करलिया है। 

किला मुबारक की नजदीकी होटल –

  • Hotel Ahluwalia Regency
  • Hotel Galaxy
  • Red Rose Hotel
  • Hotel D.R. Plaza
  • Bathinda Fort Information in Hindi 

इसके बारेमे भी जानिए – Statue Of Unity India Information In Hindi – Gujarat

किला मुबारक भटिंडा पहुचें के मार्ग –

सड़क मार्ग से बठिंडा पहुचें –

वैसे तो बठिंडा जिला पंजाब का सबसे प्रसिद्ध शहरों में से एक है। इसीलिए पंजाब के सभी मुख्य शहरों के सड़क मार्ग से जुडा हुआ है।  सिर्फ उतनाही नहीं पुरे भारत देश के कई हिस्सो से बस, रेलवे को जोड़ा गया है।आप बस, टेक्सी या किसी प्रायवेट वाहन से किला मुबारक बठिंडा की सफर कर सकते है। वह भी एकदम आसानी से। बठिंडा नगर के लिए लुधियाना, अमृतसर, पटियाला जैसे मुख्य  शहरों से हररोज बसे भी चलाई जाती है। उसमे कोई भी व्यक्ति आसानी से सफर करके बठिंडा जा सकता है। 

ट्रेन से बठिंडा पहुचें –

अगर कोई भी व्यक्ति को Qila Mubarak Bathinda जाने के लिए ट्रेन का मार्ग लेना है। तो उन्हें कहदेते है। की भटिंडा शहर का खुद का रेलवे स्टेशन है। और उतनाही नहीं। उन्हें भारत के सबसे बड़े रेलवे जंक्शनों से जोड़ा गया है। और सुपर फ़ास्ट एव कई एक्सप्रेस ट्रेन उसके लिए चलाई जाती है। और कई मुख्य राज्य से उनका कनेक्शन जुड़ा है। उसकी वजह से आपको अगर उसकी सफर करनी है। तो कोई भी परेशानी का सामना नहीं करना पड़ता है। रेलवे जंक्शन पर उतरके स्थानीय साधन की सहायता से आप मुबारक फोर्ट जा सकते है।

हवाई मार्ग से बठिंडा केसे पहुचें –

अगर आप बहुत दूर से बठिंडा मुबारक फोर्ट को देखने आते है। तो आपको अगर फ्लाइट का सहारा लेना पड़ रहा है। तो आपको बतादे की बठिंडा के लिए कोई सीधा कनेक्शन नहीं है। लेकिन आपको चंडीगढ़ आना पड़ेगा यानि वह बठिंडा का सबसे नजदीकी हवाई अड्डा है। वह तक़रीबन बठिंडा से 145 किलोमीटर की दुरी पर उपस्थित है। चंडीगढ़ भारत के मुख्य शहरों से जुड़ा हुआ है। और वह से कई शहरो के लिए उड़ाने संचालित की जाती है। वह उतरके आपको कोई भी वाहन से जाना है। तो किला मुबारक भटिंडा पहुंच सकते है। 

इसके बारेमे भी जानिए – Pattadakal Temple History Karnatak Pattadakal

Qila Mubarak Map – 

Qila Mubarak Interesting Fact – 

  • बठिंडा किला मुबारक में एक समय बाबर अपनी कुछ तोप लेके आया था। 
  • उसमे से 4 तोप आज भी मौजूद है। मुबारक के स्थान पर जो उसका इतिहास बताती है। 
  • किला मुबारक तक़रीबन साढ़े चौदह एकड़ में फैला हुआ और Bathinda Lake भी है। 
  • मुबारक किला बठिंडा को बकरामघर, गोविन्दघर,रजिया सुल्तान किला और गोबिंदगढ़ जैसे कई नामो से पहचाना जाता है। 
  • किला मुबारक सबसे पुराण छठी शताब्दी में बनाया और वह पहला स्मारक है जिनकी बनावट ईटो से की गयी है। 

किला मुबारक के प्रश्न –

1 .भटिंडा से कहां कहां की उड़ान है ?

भटिंडा से की उड़ान नहीं है। क्योकि वहा हवाई अड्डा नहीं है। उसके लिए आपको चंडीगढ़ जाना पड़ेगा। 

2 .बठिंडा किस राज्य में है ?

बठिंडा पंजाब राज्य में है। 

3 .बठिंडा कितने किलोमीटर है ?

बठिंडा 145 किलोमीटर की दुरी पर चंडीगढ़ हवाई अड्डा है। 

4 .किला मुबारक कब खुला ?

किला मुबारक सुबह 9.00 बजे से लेकर के शाम 5.00 बजे तक खुलता है। 

5 .क्या आपको किला मुबारक की यात्रा करने के लिए अग्रिम बुकिंग करनी होगी ?

नहीं लेकिन आपको रहने की व्यवस्था करनी है। तो होटल बुक करनी पड़ती है। 

6 .किला मुबारक के पास कौन से होटल हैं ? किला मुबारक के पास कौन से रेस्तरां हैं ?

किला मुबारक के पास में होटल अहलूवालिया रीजेंसी, होटल गैलेक्सी, होटल रेड रोज और होटल डी.आर. प्लाजा नजदीक है। 

7 .किला मुबारक का निर्माण किसने करवाया था ?

.किला मुबारक का निर्माण सम्राट कनिष्क ने करवाया था। 

8 .बठिंडा का किला कितना पुराना है ?

.बठिंडा का किला 90 और 110 की साल में बना है। 

9 .बठिंडा क्यों प्रसिद्ध है ?

भटिण्डा ज़िला (Bathinda City) अपने मुबारक किले के कारन बहुत प्रसिद्ध है। 

10 .भारत का सबसे पुराना जीवित किला कौन सा है ?

भारत का सबसे पुराना जीवित किला किला मुबारक है।

इसके बारेमे भी जानिए – Virupaksha Temple Pattadakal History In Hindi

Conclusion –

आपको मेरा Qila Mubarak Bathinda History In Hindi बहुत अच्छी तरह से समज आया होगा। 

लेख के जरिये Qila Mubarak Kohinoor और Qila Mubarak Faridkot से सबंधीत  सम्पूर्ण जानकारी दी है।

अगर आपको अन्य व्यक्ति के जीवन परिचय के बारे में जानना चाहते है। तो कमेंट करके जरूर बता सकते है।

हमारे आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ शयेर जरूर करे। जय हिन्द।

13 thoughts on “Qila Mubarak Bathinda History In Hindi – बठिंडा का किला मुबारक की जानकारी”

  1. albenza naproxeno con paracetamol suspension dosis Rice said Lilly was looking for ways to reach the revenuegoal and would reduce costs to meet its objectives of at least 3 billion in annual net income and 4 billion in operating cashflow through 2014 ivermectin for humans walmart I know that several years ago during my own surgery chemo

  2. Generally speaking, the 30 free spins no deposit is worth claiming, as is any other kind of free spins bonus. Even though there are wagering requirements (most of the time) and various other terms and conditions, free spins bonuses can still be worthwhile, especially since you have a chance of winning real money from them. The 30 free spins bonus is a good offer to take advantage of because it gives you a good number of free turns on slots, thereby giving you quite a few chances to win. Though many forms of gambling are illegal in the Philippines, land-based casinos are an integral part of the Philippine economy and attract significant revenue as part of the country’s tourism industry. As such, some 20 land-based casinos are in Metro Manila alone, many of which are owned and operated by the government’s gambling authority, the Philippine Amusement and Gaming Corporation (PAGCOR). Unfortunately, no-account online casinos are not allowed. https://www.thediplomatnetwork.com/community/profile/alecia40h228425/ Live dealer casinos are more relevant than ever. Players crave live communication during the game, those who can live with them the moment of excitement and winning. Therefore, many casinos have added games to their functionality that offer to play with real dealers. Thus, using a special chat, the player can communicate with real people, discussing the course of the game or talking about other popular topics, thereby having a beneficial and fruitful time. These casinos also accept GCash as a payment method and allow you to withdraw your winnings using GCash. GCash is the Philippines’ unique e-wallet supported by many casinos. By visiting the official website of this wallet or downloading a mobile application, you can create an account – your electronic wallet, which allows you to quickly and commission-free make financial transactions within the country. This method is popular – it is supported by many banks in the country and therefore, does not charge additional costs for using their accounts in the electronic GCash wallet. As a way to make a deposit or withdraw money, GCash is used in many casinos; however, it only supports the local currency of the Philippines, PHP.

  3.   休息一年以进行重大手术,然后健康归来。自从回到巡回赛,她在全球德州扑克巡回赛五钻全球德州扑克经典赛中赢得第四名,在职业玩家巡回赛开幕赛中赢得第五名,在Rio 世界德州扑克锦标赛巡回冠军赛中赢得第二名。 我是一个曾经的职业牌手,就是天天在上海的地下赌场里跟别人赌德州扑克的人,现在德州扑克在QQ啊,360啊,各种渠道玩的很多,只是一般人玩的是游戏币,我们玩的是人民币。   “德州扑克差不多从2011年起开始在中国流行起来,当时北京的德州扑克圈子很好,因为这个游戏是从国外传进来的,很时尚,来打德州扑克的老外和女孩很多,也吸引了不少高端人士。”从事德州扑克俱乐部管理的刘宏伟告诉新京报记者。 https://retirewithcrypto.net/community/profile/marcellaorlandi/ 亨德尔《皇家焰火音乐》 第一乐章 序曲 娱翅星闻官 2022-09-19 12:11:56 《地下城与王国》融合自走棋竞技与RPG副本,玩家可以自由的选择职业与天赋,雇佣强力棋子,组建自己的勇者队伍。完成谜题与目标,收集资源,挑战强大BOSS拾取史诗装备,随时随地体验精彩绝伦的开荒冒险之旅。 庄家百家乐的优势大概是+0.25。但他们要付出赌资出入转账费用,红利,投放费,员工工资,场地等,按理说,庄家的优势不至于把赌客轻轻松松斩于马下!但现实是,赌民屡战屡败。原因,恐怕要在赌客身上找! 8月13日,美国商务部(工业和安全局)正式宣布最终规定,对设计GAAFET(全栅场效应晶体管)结构集成电路所必须的EDA软件;金刚石和氧化镓为代表的超宽带半导体材料;燃气涡轮发动机使用的压力增益燃烧(PGC)等四项技术实施新的出口管制。

Leave a Comment

Your email address will not be published.