Prag Mahal History In Hindi

Prag Mahal History In Hindi | प्राग महल का इतिहास और जानकारी

नमस्कार दोस्तों Prag Mahal Bhuj All information In Hindi में आपका स्वागत है। आज हम आइना महल के नजदीक सुंदर प्राग महल भुज की जानकारी बताने वाले है। उसका निर्माण 1860 में महान डिजाइनर कर्नल हेनरी सेंट विल्किंस ने इतालवी गोथिक शैली में बनाया गया था। आपको बतादे की महल महाराजा प्रगमलजी द्वितीय ने कमीशन किया गया था। उसके निर्माण कार्य में भारतीय और विदेशी कारीगरों दोनों का योगदान रहा है। पूरा महल इतालवी संगमरमर और बलुआ पत्थर से बना है। भव्य दरबार हॉल क्लासिक मूर्तियों और झूमरों के साथ आकर्षण है।

उस उत्कृष्ट संपत्ति का अपना घंटाघर है, उसके शीर्ष से भुज का नयनरम्य एव मनोरम दृश्य दिखाई देता है। प्राग महल भारत का दूसरा सबसे ऊंचा घंटाघर है। आज महल के एक हिस्से को संग्रहालय में बदल दिया गया है। उसमें कई अवशेष और शाही परिवार के व्यक्तिगत संग्रह प्रदर्शित हैं। 2010 में प्राग महल का एक हिस्सा भूकंप के कारण तबाह या नस्ट हो गया था। और वह काफी लंबे समय से नवीनीकरण के अधीन है। बॉलीवुड ब्लॉकबस्टर फिल्म लगान की शूटिंग के बाद महल बेहद लोकप्रिय हो गया है।

Prag Mahal History In Hindi

प्राग महल का इतिहास देखे तो राव प्रागमालजी द्वितीय के नाम पर प्राग महल के निर्माण का काम शुरू किया था। महल की नींव 1865 में रखी गई थीं। उसे कर्नल हेनरी सेंट विल्किंस ने इतालवी गोथिक शैली में डिजाइन किया था। उसके निर्माण में कई इतालवी कारीगर के साथ भारतीय थे। उसके वेतन का भुगतान सोने के सिक्कों में किया गया था। उसके निर्माण कार्य को पूरा करने 3.1 मिलियन रुपये लगे और 1879 में महल पूरी तरह तैयार हो गया था। 1875 में प्रागमलजी द्वितीय की मृत्यु के बाद खेंगरजी III या प्रगमलजी द्वितीय के बेटे को बदल दिया था। उन्होंने स्थानीय कच्छी बिल्डर समुदाय को इसके तहत नियोजित किया था। निर्माण के अंतिम चरण में कर्नल विल्किंस का मार्गदर्शन था।

Prag Mahal Images

इसके बारेमे भी पढ़िए – मसालों का स्वर्ग खारी बावली की जानकारी

Best Time To Visit Prag Mahal Palace

प्राग महल जाने का सबसे अच्छा समय – प्राग महल की यात्रा का आदर्श समय अक्टूबर से मार्च महीने तक यानि सर्दियों के मौसम में होता है। उस मौसम में यहाँ का मौसम ठंडा रहता है और यात्रा को सुखद बना देता है। आप उस समय में प्राग महल की यात्रा करते है। आपको कोई परेशानी का सामना नहीं करना होता है।

Address – Old Dhatia Falia, Bhuj, Gujarat 370001

Prag Mahal Palace

Architecture of Prag Mahal

प्राग महल की वास्तुकला राजस्थान से लाए गए इतालवी संगमरमर और बलुआ पत्थर से बनी गोथिक शैली में है। मुख्य हॉल खस्ताहाल टैक्सिडेरमी से भरा हुआ है। उसके दरबार हॉल में झूमर और शास्त्रीय मूर्तियाँ हैं। सुंदर महल के चारों ओर कोरिंथियन स्तंभ हैं। लोकप्रिय जली का काम दीवारों और खिड़कियों पर किया गया है। वह यूरोपीय पौधों और जानवरों को दर्शाते हैं। यहाँ एक घड़ी के साथ 45 फुट ऊंचा टावर सीधा खड़ा है। वहां से आगंतुक पूरे भुज शहर का नजारा देख सकते हैं। प्राग महल में एक छोटा मंदिर है, जो मुख्य भवन के ठीक पीछे के आंगन में सुंदर नक्काशीदार पत्थर के काम से बना है। घंटाघर भव्य महल का एक आश्चर्यजनक आकर्षण है।

Prag Mahal latest pics

इसके बारेमे भी पढ़िए – माउंट आबू में स्तिथ नक्की झील घूमने की संपूर्ण जानकारी

Prag Mahal Bhuj Entry Fee

महल के सामने पार्किंग करने 20 रुपये का शुल्क है।

प्रवेश शुल्क 20 रु वयस्क

बच्चे की फीस 10 रुपए 

स्कूल समूह के बच्चे रु. 5 रुपए 

कॉलेज समूह रु 10 रुपए 

मोबाइल कैमरा 20 रुपए 

कैमरा शुल्क 50 रुपए 

वीडियो ग्राफी 200 रुपए 

Prag Mahal Bhuj Timings

प्राग महल में प्रवेश का समय सुबह 9.30 से 12.15 और शाम 3 से शाम 5.45 बजे तक है। 

प्राग महल की फोटो गैलरी

इसके बारेमे भी पढ़िए – अग्रसेन की बावली की कहानी और घूमने की जानकारी

Prag Mahal Bhuj Clock Tower

आपको बतादे की प्राग महल का मुख्य आकर्षण या उसके और खींचने वाली चीज सबसे बड़ी घडी है। वह भुज शहर के सभी हिस्सों से दिखाई देती है। उस गड़ी की ऊंचाई तक़रीबन 150 फ़ीट या 45 मीटर है। प्रागमहल से पर्यटक क्लॉक टावर देखने जा सकते हो जहाँ करीब 60 से 70 सीढियाँ चढ़ कर जाना होता है। वहां पर ऊपर एक बड़ी घंटी और चार छोटी घड़ियाँ बनी हुई देखने को मिलते है। यहाँ से यात्री पुरे भुज शहर को बहुत अच्छे से देख सकते हो।

Prag Mahal Photos

How To Reach Prag Mahal

प्राग महल तक पहुंचना बहुत आसान है। क्योंकि भुज में पर्यटक आसानी से पहुंच सकते है। गुजरात राज्य की बसें परिवहन का उत्कृष्ट साधन हैं। और जिले के अधिकांश क्षेत्रों तक पहुँचने में आपकी मदद कर सकती हैं। कई स्लीपर बसें भुज शहर के लिए रात 8 बजे से रात 11 बजे के बीच निकलती हैं। और अगली सुबह 6 बजे से 8 बजे के बीच वहां पहुंचती हैं। नॉन-स्लीपर बसें भी उपलब्ध हैं। प्राग महल तक पहुँचने के लिए आप एक निजी जीप या टैक्सी भी किराए पर ले सकते हैं।

प्राग महल का इतिहास और जानकारी

इसके बारेमे भी पढ़िए – उडुपी का कृष्ण मंदिर की जानकारी

Prag Mahal Bhuj Map प्राग महल का लोकेशन

Prag Mahal In Hindi Video

Interesting Facts

भुज शहर के बाहरी इलाके में स्थित प्राग महल वास्तुकला का चमत्कार है। 

19वीं शताब्दी में निर्मित महल शहर के बीचोबीच स्थित है। 

यह भव्य महल में गॉथिक शैली की खिड़कियां और चारों ओर कोरिंथियन स्तंभ हैं। 

भव्य महल में देश का दूसरा सबसे ऊंचा घंटाघर अद्भुत दृश्य प्रस्तुत करता है। 

भव्य और सुंदर, देदीप्यमान महल ज्यादातर लाल बलुआ पत्थर से बना है। 

दीवारों पर सुंदर कला के साथ जटिल नक्काशी की गई है। 

प्राग महल में लगान, हम दिल दे चुके सनम, और कई गुजराती फिल्मे बनी है।

प्राग महल का नाम राजा राव प्रगमलजी द्वितीय के नाम पर पड़ा है।

आईना महल और प्राग महल एक ही परिसर में बने हुए है। 

FAQ

Q .प्राग महल कहा है?

भुज , गुजरात , भारत

Q .प्राग महल कब बनाया गया था?

19वीं शताब्दी में निर्मित महल शहर के बीचो बीच स्थित है। 

Q .आईना महल भुज का निर्माण किसने करवाया था?

आइना महल राव लखपतजी ने 1750 में बनाया गया था।

Q .प्राग महल भुज क्यों प्रसिद्ध है?

प्राग महल भव्य दरबार हॉल क्लासिक मूर्तियों और झूमरों के लिए आकर्षण है। 

Q .प्राग महल का निर्माण किसने करवाया था?

महाराजा प्रगमलजी द्वितीय

Conclusion

आपको मेरा लेख Prag Mahal History In Hindi बहुत अच्छी तरह से समज आया होगा। 

लेख के जरिये Prag mahal bhuj, Prag mahal architecture

और Facts about prag mahal से सबंधीत सम्पूर्ण जानकारी दी है।

अगर आपको किसी जगह के बारे में जानना है। तो हमें कमेंट करके जरूर बता सकते है।

हमारे आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ शयेर जरूर करे। जय हिन्द।  

Note

आपके पास Prag mahal wikipedia in hindi की जानकारी हैं। या दी गयी जानकारी मैं कुछ गलत लगे तो तुरंत हमें कमेंट और ईमेल मैं लिख हमे बताए हम अपडेट करते रहेंगे धन्यवाद। 

! साइट पर आने के लिए आपका धन्यवाद !

अगर आपको यह पोस्ट पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तों को जरूर शेयर करें !

Google Search

Aina mahal, Prag mahal bhuj timing, Bhuj museum, Bhuj palace, Bhuj Gujarat, Kutch Bhuj, Palaces in Kutch, Value of z for bhuj city is, Rakshak Van Bhuj wikipedia, Ranjit Vilas Palace Kutch, Old Bhuj, Ranjit Vilas Palace owner, Bhuj sp, Bhooj

इसके बारेमे भी पढ़िए – श्रवणबेलगोला के प्रमुख पर्यटन और तीर्थ स्थल की जानकारी

Leave a Comment

Your email address will not be published.