Palampur Tourism Information In Hindi

Palampur Tourism Information In Hindi | पालमपुर के पर्यटन स्थल की जानकारी

नमस्कार दोस्तों Palampur Tourist Places In Hindi में आपका स्वागत है। आज हम प्रकृति की गोद में बसा पालमपुर हिमाचल प्रदेश के दर्शनीय स्थल और घूमने की जानकारी बताने वाले है। हिमाचल प्रदेश हमारे भारत के सभी राज्यो में बेहद खुबसूरत राज्यो में से एक है। हिमाचल का शब्द का अर्थ हिमालय की गोद में होता है। वास्तव में यह राज्य हिमालय की उत्तर पश्चिमी गोद में बसा है। पालमपुर हिमाचल प्रदेश राज्य के प्रमुख पर्यटन और हिमालय की आकर्षक धौलाधार श्रेणी के सामने स्थित एक सुंदर स्थान है।

धौलाधार खेत्र के बीच स्थित पालमपुर चाय बागानों और चाय की अच्छी गुणवत्ता के लिए भी विस्व भर में प्रसिद्ध है। देवदार के जंगलों और चाय के बागानों से घिरा पालमपुर एक खुबसूरत शहर है। पर्यटक हिमाचल प्रदेश घूमने जा रहे हैं तो पालमपुर जाए बिना आपकी ट्रिप अधूरी है। क्योकि शहर की खूबसूरती, पानी और हरियाली के अद्भुत संगम आपके दिलको एक नया अहसास दिलाता है। यही शहर के विक्टोरियन शैली की हवेली और महल बेहद खूबसूरत हैं। तो चलिए Palampur In Hindi शुरू करते है।

Palampur History In Hindi

आपको पालमपुर का इतिहास बताये तो यह कांगड़ा घाटी में स्थित एक महत्वपूर्ण शहर है। पालमपुर एक प्रसिद्ध हिल स्टेशन और प्राचीन समय में जालंधर साम्राज्य का हिस्सा था। डॉ. जेमिसन ने 1849 में अल्मोड़ा से चाय की खेती की शुरुआत की थी। उसमें Tea garden फले-फूले और उस तरह शहर यूरोपीय चाय बागान मालिकों का चहिता बन गया है। 1947 तक नवाब मुहम्मद हयात खान और उनके वंशजों के साम्राज्य में था। उस समय से पालमपुर की कांगड़ा चाय विस्व भर में प्रसिद्ध है।

Palampur Photos
Palampur Photos

पालमपुर घूमने जाने का सबसे अच्छा समय

खूबसूरत शहर पालमपुर पहाड़ों और जंगलों बीच स्थित है। इसीलिए पुरे साल भर यहाँ पर्यटक आते रहते है। लेकिन Best Time To Visit Palampuri की बात करे तो पालमपुर घूमने का सबसे अच्छा मौसम सर्दियों का और गर्मियों की शुरुआत है। यहां घूमने के लिए अनुकूल महीने सितंबर से जून के बीच हैं। यह वह समय है जब पर्यटक बड़ी संख्या में यहां आते हैं। पूरे साल सुखद मौसम होता है। क्योकि गर्मियों के मौसम में भी 30 डिग्री तक तापमान बढ़ता है। मॉनसून में हल्की वर्षा के साथ तापमान शून्य तक गिरजाता है। पालमपुर शहर में सर्दियाँ में बर्फ भी जमने लगता है।

Palampur Photo Gallery
Palampur Photo Gallery

पालमपुर की पहाड़ियों का मनमोहक सौंदर्य

हिमाचल प्रदेश में धर्मशाला से कुछ ही दुरी पर पालमपुर राजसी धौलाधार पर्वतमाला में नयनरम्य दृश्यों के लिए प्रसिद्ध है। पालमपुर चाय बागानों और अच्छी गुणवत्ता वाली चाय के लिए जाना जाता है जिसमें औषधीय गुण होते हैं। जगह की सुखद और स्वास्थ्यवर्धक जलवायु एक प्रमुख प्रेरक कारक है। पर्यटकों को स्थान पर हनीमून और साहसिक प्रेमियों के लिए एक प्रमुख स्थान है। धर्मशाला-पालमपुर मार्ग पर स्थित गोपालपुर चिड़ियाघर यहाँ का सबसे प्रसिद्ध पर्यटक स्थल है। उसमें वनस्पतियों और जीवों की सुंदरता के साथ, बर्फ से ढकी धौलाधार पर्वतमाला की सुंदरता देखना बेहद ही सुहावना लगता हैं।

पालमपुर फोटो
पालमपुर फोटो

पालमपुर के आसपास प्रमुख पर्यटन और आकर्षण स्थल

  • Tashi Jong Monastery
  • Neugal Khad
  • Tea Gardens In Palampur 
  • Shree Jakhani Mata Temple
  • Baijnath Shiva Temple
  • Al-Hilal
  • Andretta Artist Village
  • St John Church
  • Sherabling
  • Dhauladhar National Park
  • Brajeshwari Devi Temple
  • Jwalamukhi Temple
  • Sobha Singh Art Gallery
  • Saurabh Van Vihar
  • Bundlamata Temple
  • Chamunda Devi Temple

    Palampur Images
    Palampur Images

Bir Billing Palampur

बिलिंग साहसिक प्रेमियों के लिए बहुत लोकप्रिय बीर बिलिंग को भारत की पैराग्लाइडिंग राजधानी कहा जाता है। जो कैंपिंग, पैराग्लाइडिंग और ट्रेकिंग में खुद को शामिल करना चाहते उन्हें यहाँ जरूर जाना चाहिए हैं। पैराग्लाइडिंग के लिए प्रसिद्ध बिलिंग एशिया का सबसे ऊंचा पैराग्लाइडिंग प्वाइंट है। बीर टेक-ऑफ साइट और बिलिंग लैंडिंग स्पॉट है। बीर गांव में एक तिब्बती मठ भी है।

Kareri Lake Palampur

धर्मशाला से 9 किमी उत्तर पश्चिम में धौलाधार श्रेणी में स्थित पानी की झील है। जिसे करेरी झील कहा जाता है। करेरी झील प्रमुख दर्शनीय स्थल और बेहद लोकप्रिय ट्रैकिंग स्थल भी है। करेरी झील में पानी बर्फ पिघलने से बनता एव झील कैफ उथली है। यह स्थल को घूमने के लिए बैकपैकर्स ट्राइंड या इंद्रहार पास सर्किट ट्रेकिंग के लिए आते रहते हैं। क्योकि यहाँ का ट्रेक शांत अनुभव देता है।

Images for Palampur
Images for Palampur

Chamunda Devi Temple Palampur

चामुंडा देवी का यह पहाड़ी मंदिर 51 शक्ति पीठों में से एक है। बानेर नदी के तट पर पश्चिम पालमपुर की ओर लगभग 10 किलोमीटर की दूरी पर है। यह हिमाचल के सबसे प्रतिष्ठित धार्मिक स्थलों में से एक है। चामुंडेश्वरी देवी को देवी दुर्गा के सबसे शक्तिशाली अवतारों में से एक कहा जाता है। नवरात्रि चामुंडा देवी मंदिर का एक प्रमुख उत्सव है। यह कई भक्तों को आकर्षित करता है। चामुंडा देवी मंदिर का निर्माण वर्ष 1762 में उमेद सिंह ने करवाया था। यह मंदिर पूरी तरह से लकड़ी से बना है। वह जाने के लिए 400 सीढ़ियों को चढ़कर या 3 किलोमीटर लंबी कंक्रीट रास्ते से पहुंच सकते है।

Brajeshwari Temple Palampur

पालमपुर के निकट स्थित ब्रजेश्वरी देवी मंदिर एक और खूबसूरत मंदिर है। मंदिर में अक्सर तीर्थयात्री और इतिहास-प्रेमी आते हैं क्योंकि यह वह मंदिर था जिसे महमूद गजनी ने 1909 में लूटा था। बाद में, फिरोज तुगलक ने भी मंदिर में तोड़फोड़ की और यहां से कीमती गहनों को निकालने का प्रयास किया। लेकिन सम्राट अकबर ने मंदिर का जीर्णोद्धार कराया गया।

पालमपुर के पर्यटन स्थल की जानकारी
पालमपुर के पर्यटन स्थल की जानकारी

Baijnath Temple Palampur

यहां भगवान शिव को ‘उपचार के देवता’ के रूप में पूजा जाता है। बैजनाथ मंदिर हिमाचल प्रदेश के सबसे लोकप्रिय मंदिरों में से एक है। बैजनाथ या वैद्यनाथ महान भगवान शिव के अवतार हैं। यहां भगवान अपने भक्तों को सभी दुखों और पीड़ाओं से छुटकारा दिलाते हैं। यह मंदिर भगवान शिव भक्तों के लिए ज्यादा महत्व रखता है। एव उसे अत्यंत पवित्र माना जाता है। वास्तव में, इस मंदिर का पानी औषधीय महत्व का माना जाता है। उसमें कई बीमारियों को ठीक करने की शक्ति है। मंदिर दुनिया भर से हजारों भक्तों को आकर्षित करता है।

Kangra Fort Palampur

हिमाचल के सबसे विशाल और प्राचीनतम किला काँगड़ा किला है। यह किला धर्मशाला शहर से 20 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यह फोर्ट हजारों साल की भव्यता, आक्रमण और युधों का साक्षी है। अपनी भव्यता और धन दौलत के चलते इस किले पर बहुत से आक्रमण हुए काँगड़ा का प्राचीन नाम त्रिगर्त था तीन नदियों से घिरा हुआ होने के कारण इसे त्रिगर्त कहा जाता है। हिमालय का सबसे बड़ा और भारत का सबसे पुराना किला है। यह किले में अकल्पनीय धन था। यहाँ किले के अंदर स्थित बृजेश्वरी मंदिर में बड़ी मूर्ति को धन चढ़ाया जाता था। खजाने की वजह से किले पर कई आक्रमण हुए है। किले का निर्माण कटोच वंश के राजा शुसर्मा चंद ने करवाया था।

पालमपुर की फोटो गैलरी
पालमपुर की फोटो गैलरी

Mcleodganj Palampur

प्रसिद्ध नामग्याल मठ, त्सुगलाखंग परिसर के स्थित है। Namgyal Monastery या Mcleodganj धर्मशाला के पास पर्यटकों से सबसे ज्यादा देखी जाने वाली जगहों में से एक कहाजाता है। मंदिर का यह परिसर दलाई लामा के निवास स्थान होने के साथ यहाँ पर मंदिर, किताबों की दुकानों, कई दूसरी दुकानें स्थित हैं। आपको  का दौरा जरूर करना चाहिए। मैकलोडगंज एक प्रमुख हिल स्टेशन है। 

Dhauladhar National Park Palampur

धौलाधार राष्ट्रीय उद्यान पालमपुर में घूमने के लिए एक और सबसे दिलचस्प जगह है। जहा Dhauladhar Range सबसे आकर्षक ट्रेक में से एक है। और साथ गोपालपुर चिड़ियाघर के नाम से भी जाना जाता है। यह वन्यजीव उत्साही और ट्रेक के लिए लोगों को आकर्षित करता है। यह ट्रेक आपको कई अदभुद दृश्य प्रदान करेगा। यहां चिड़ियाघर तेंदुए, काले भालू, एशियाई शेर, लाल लोमड़ी, अंगोरा खरगोश, सांभर और हिरण सहित कई लुप्तप्राय प्रजातियों का घर है।

पालमपुर इमेज
पालमपुर इमेज

Kangra Art Museum Palampur

कांगड़ा संग्रहालय तिब्बती और बौद्ध कलाकृति के शानदार चमत्कारों और उनके समृद्ध इतिहास को समर्पित है। इसके कीमती संग्रह की विशाल विविधता में दुर्लभ सिक्का, गहने, यादगार पेंटिंग, मूर्तियां और मिट्टी के बर्तन देखने को मिलते हैं। आदिवासी संस्कृति का सार उनकी संस्कृति पर कला के उत्कृष्ट टुकड़ों में खूबसूरती की चमक दिखाई देती है। आप धर्मशाला जाते है। तो आप कांगड़ा कला संग्रहालय को जरूर देखना चाहिए। 

Jwala Devi Mandir Palampur

हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा जिले में स्थित ज्वाला देवी मंदिर ज्वाला जी को समर्पित है। मंदिर की नौ अनन्त ज्वालाओं में  निवास के कारण ज्वलंत देवी के रूप में भी प्रसिद्ध है। भारत में 52 शक्तिपीठों में से यह एक है। जहा देवी सती की जीभ गिरी थी वह स्थल अब ज्वाला देवी मंदिर स्थित है। एक अनोखा मंदिर जिसमें मूर्ति नहीं है। ज्वाला देवी मंदिर में आयोजित पांच आरती मुख्य आकर्षण हैं। यह कांगड़ा घाटी के दक्षिण में 30 एव धर्मशाला से 56 किमी की दूर स्थित है। 

Restaurants And Local Food In Palampur

पालमपुर में पर्यटन को व्यंजनों के लिए कई तरह के विकल्प मिलते हैं। palampur hotels में पहाड़ी और जैन भोजन ज्यादा उपलब्ध है। यहां के कई रेस्तरां में उत्तर भारतीय, चीनी और महाद्वीपीय व्यंजन भी परोसे जाते हैं। इनके अलावा पालमपुर स्थानीय व्यंजनों के तत्वों और स्वादों को बढ़ावा देता है। यहां के लोकप्रिय स्थानीय व्यंजन हैं। यात्रिओ को सेपू वडी, भटूरा, चना मदरा, कद्दू का खट्टा, चिकन अनारदाना, ट्राउट मछली, मीठे चावल, पाटांडे, मोमोज और नूडल्स खाने  मिलते है।

Photos for Palampur
Photos for Palampur

How To Reach Palampur Himachal Pradesh 

ट्रेन से पालमपुर कैसे पहुंचे

पालमपुर का निकटतम रेलवे स्टेशन पठानकोट रेलवे स्टेशन है। वह पालमपुर से 90 किमी की दूरी पर है। पठानकोट से पालमपुर के लिए कई बसें और टैक्सियाँ उपलब्ध हैं। पालमपुर में स्थानीय परिवहन से भी पहुंच सकते है। पालमपुर एक छोटा सा गांव है और आप वह पैदल चलते हुए भी पहुंच सकते है। आप लगभग 700 रु. के कैब किराए पर भी ले सकते हैं। और बहुत आसानी से पहुंच जायेंगे।

सड़क मार्ग से पालमपुर कैसे पहुंचे

पालमपुर हिमाचल प्रदेश के सभी प्रमुख शहरों से अच्छी तरह जुड़ा हुआ है। धर्मशाला, मनाली, कांगड़ा, चंडीगढ़ और राजधानी शहर से भी सीधी बसें चलती हैं। बसों का किराया काफी उचित हैं। वह स्थल के लिए डीलक्स और गैर-डीलक्स बसों में 500-1000 रूपये तक चार्ज लिए जाते हैं। आप वहा बहुत आसानी से कम पैसो से भी दौरा कर सकते है।

हवाई जहाज से पालमपुर कैसे पहुंचे

पालमपुर का निकटतम हवाई अड्डा गग्गल हवाई अड्डा है।

गग्गल पालमपुर से 25 किमी की दूरी पर स्थित है।

गग्गल हवाई अड्डे से आप पालमपुर के लिए एक निजी टैक्सी किराए पर ले सकते हैं।

आप एचआरटीसी की बस से भी बहुत आसानी से जा सकते हैं जो गग्गल से पालमपुर के लिए आसानी से उपलब्ध है।

दूसरा चंडीगढ़ हवाई अड्डा पालमपुर से 162 किलोमीटर दूर स्थित है।

Palampur Map पालमपुर का लोकेशन

Palampur Tourist Places Video

Interesting Facts

  • प्रकृति की गोद में स्थित पालमपुर में घूमने के लिए कई शानदार जगहें है।
  • पालमपुर पहाडी क्षेत्र होने के कारण यहा का मौसम साल भर ठंडा रहता है।
  • धौलाधार पहाडी में प्राकृतिक सुन्दरता वाला पालमपुर एक प्रसिद्ध हिल स्टेशन और पर्यटन स्थल है।
  • प्राकृतिक सुन्दरता से भरपूर पालमपुर चाय के बागानों के लिए भी प्रसिद्ध है।
  • पालमपुर की खूबसूरत नदियां और पहाड़ियां साल पर बर्फ से ढकी रहती हैं।
  • विशाल बागो के कारण पालमपुर ” टी सिटी” के नाम से विश्वभर में प्रसिद्ध है।

FAQ

Q : पालमपुर कहा है?

हिमाचल प्रदेश की धौलाधार श्रेणी के सामने पालमपुर स्थित है।

Q : पालमपुर क्यों प्रसिद्ध है?

पालमपुर हिल स्टेशन, चाय बागानों और सुंदर मंदिरों के लिए प्रसिद्ध है।

Q : क्या पालमपुर देखने लायक है?

हा पालमपुर एक देखने लायक जगह और सुंदरता दिखाता है।

Q : क्या पालमपुर में बर्फबारी हो रही है?

हा पालमपुर में कई समय बर्फबारी होती रहती है।

Q : पालमपुर में क्या खरीद सकता हूं?

पालमपुर शहर में हर तरह की खरीददारी कर सकते है।

Conclusion

आपको मेरा Tourist Places Of Palampur बहुत अच्छी तरह से समज आया होगा। 

लेख के जरिये Palampur weather, Best Places To Visit In Palampur और 

, Palampur tourist places in hindi से सबंधीत सम्पूर्ण जानकारी दी है।

अगर आपको किसी जगह के बारे में जानना है। तो कहै मेंट करके जरूर बता सकते है।

हमारे आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ शयेर जरूर करे। जय हिन्द।  

Note

आपके पास Palampur temperature या Palampur to manali की कोई जानकारी हैं। 

या दी गयी जानकारी मैं कुछ गलत लगे / तो दिए गए सवालों के जवाब आपको पता है।

तो तुरंत हमें कमेंट और ईमेल मैं लिखे हम इसे अपडेट करते रहेंगे धन्यवाद। 

! साइट पर आने के लिए आपका धन्यवाद !

अगर आपको यह पोस्ट पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तों को जरूर शेयर करें !

इसके बारेमे भी जानिए –

धर्मशाला में घूमने के प्रमुख पर्यटन और दर्शनीय स्थल की जानकारी

पुष्कर के प्रमुख पर्यटन स्थल और जानकारी

छत्रपति शिवाजी टर्मिनस का इतिहास और जानकारी 

हेमिस राष्ट्रीय उद्यान की जानकारी

नामेरी राष्ट्रीय उद्यान की जानकारी

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *