History of Gagron Fort In Hindi – गागरोन किले का इतिहास हिंदी में

Gagron Fort राजस्थान के झालावाड़ जिले में स्थित है। गागरोन किला राजपूत वास्तुकला का एक उत्कृष्टनमूना है। गागरोन किला राजस्थान के प्रसिद्ध आकर्षित किलो में एक है। पहाड़ी की टोच पर स्थित यह किला नीचे के सुन्दर परिदृश्य का एक शानदार 360 डिग्री दृश्य प्रस्तुत करता है। गागरोन किले के द्वार के बाहर एक संग्रहालय …

History of Gagron Fort In Hindi – गागरोन किले का इतिहास हिंदी में Read More »

History of Jal Mahal in Hindi – जल महल का इतिहास हिंदी में

जल महल राजस्थान राज्य की राजधानी जयपुर में स्थित है। शहर की भीड़-भाड़ से दूर एक शानदार और शांत जल में स्थित महल है। Jal mahal palace मान सागर झील के बीच में स्थित होने की वजह से Jal mahal palace को एक वाटर महल भी कहा जाता है। यह पैलेस कभी महाराजाओं के लिए …

History of Jal Mahal in Hindi – जल महल का इतिहास हिंदी में Read More »

History of Neemrana Fort in Hindi – नीमराना किले का इतिहास हिंदी में

Neemrana Fort 15 वीं शताब्दी 1464 में निर्मित है | नीमराना किला अदभुत सौंदर्य का प्रतीक है। यह राजसी किला पहाड़ी के ऊपर 10 हेक्टर क्षेत्र प्रसार हुवा है जो राजस्थानी की परंपरा और आधुनिक शैली के आंतरिक मिश्रण को प्रदर्शित करता है| जो अब यह नीमराना किला एक लक्जरी रिसॉर्ट में बदल गया है …

History of Neemrana Fort in Hindi – नीमराना किले का इतिहास हिंदी में Read More »

Kumbhalgarh Fort History In Hindi – कुम्भलगढ़ किला इतिहास हिंदी में

Kumbhalgarh Fort मेवाड़ के प्रसिद्ध किलो में से एक है, जो अरावली पर्वत पर स्थित है। यह किला भारत के पश्चिम में राजस्थान के उदयपुर जिले के राजसमंद में स्थित है यह एक वर्ल्ड हेरिटेज साईट है जो राजस्थान की पहाडियों में स्थित है। इसका निर्माण 15 वी शताब्दी में राणा कुम्भ ने किया था, …

Kumbhalgarh Fort History In Hindi – कुम्भलगढ़ किला इतिहास हिंदी में Read More »

History of Brihadeeswarar Temple In Hindi – बृहदेश्वर मंदिर का इतिहास हिंदी में

brihadeeswarar temple तमिलनाडु के तंजावुर (तंजोर) में एक प्राचीन मंदिर है, जिसका निर्माण राजा राजा चोल I द्वारा 1010 ईस्वी में करवाया गया था। बृहदेश्वर भगवान शिव को समर्पित एक प्रमुख मंदिर है जिसमें उनकी नृत्य की मुद्रा में मूर्ति स्थित है जिसको नटराज कहा जाता है। मंदिर को राजेश्वर मंदिर, राजराजेश्वरम और पेरिया कोविल …

History of Brihadeeswarar Temple In Hindi – बृहदेश्वर मंदिर का इतिहास हिंदी में Read More »

History oF Jalore Fort In Hindi – जालौर किले का इतिहास हिंदी में

Jalore Fort राजस्थान के दक्षिणी पश्चिमी भाग में स्थित जालौर के किले को मारवाड़ राज्य का गढ़ माना जाता था. पूर्ण रूप से हिन्दू शैली में निर्मित इस किले का निर्माण आठवी सदी में गुर्जर प्रतिहार शासकों द्वारा करवाया गया था |  सूकड़ी नदी के तट पर बना यह एक गिरी दुर्ग हैं, किले का …

History oF Jalore Fort In Hindi – जालौर किले का इतिहास हिंदी में Read More »

Rameshwaram Temple History In Hindi

Rameshwaram Temple History In Hindi | रामेश्वरम मंदिर का इतिहास और यात्रा की जानकारी

नमस्कार दोस्तों Rameshwaram Temple History In Hindi में आपका स्वागत है। आज हम तमिलनाडु राज्य के रामनाथपुरम जिले में स्थित रामेश्वर मंदिर का इतिहास, दर्शन, पूजन और यात्रा के बारे में संपूर्ण जानकारी बताने वाले है। यह मंदिर हिंदू धर्म के पवित्र चार धामों में से एक माना जाता है। रामेश्वरम मंदिर को रामनाथ स्वामी मंदिर के …

Rameshwaram Temple History In Hindi | रामेश्वरम मंदिर का इतिहास और यात्रा की जानकारी Read More »

Agra Fort History In Hindi

Agra Fort History In Hindi | आगरा के किले का इतिहास और जानकारी

Agra Fort – उत्तरप्रदेश के आगरा में स्थित आगरा किला अपनी अनूठी वास्तुकला और अद्भुत शिल्पकारी के लिए जाना जाता है। यह किला मुगल साम्राज्य में बनी प्रमुख ऐतिहासिक धरोहरों में से एक है। Agra kila की अद्धितीय बनावट के कारण इसे यूनेस्कों द्धारा विश्व धरोहर की लिस्ट में भी शामिल किया गया था। आपको …

Agra Fort History In Hindi | आगरा के किले का इतिहास और जानकारी Read More »

History of Lothal Nagar In Hindi – लोथल नगर का इतिहास हिंदी में

Lothal हाली में गुजरात में मौजूद हैं, प्राचीन सिंधु घाटी की सभ्यता में एक सबसे मुख्य शहरों में से एक है । इसकी खोज 1954 में की गई थी। भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआई) ने ई.स1955 से 1960 में लोथल की खुदाई कीगई। लोथल जो कि विश्व की प्राचीनज्ञात गोदी मानी जाती है, सिंध में स्थित …

History of Lothal Nagar In Hindi – लोथल नगर का इतिहास हिंदी में Read More »

History of Rani Ki Vav In Hindi – रानी की वाव का इतिहास हिंदी में

rani ki vav एक बहोत सख्ताई के साथ बनायी गयी बावड़ी है, जो भारत में गुजरात के पाटन गाँव में स्थित है। रानी की वाव सरस्वती नदी के किनारे पर स्थित है। रानी की वाव का निर्माण 11 वी शताब्दी में ए.डी. किंग की याद में बनायी गयी थी। 22 जून 2014 को रानी की …

History of Rani Ki Vav In Hindi – रानी की वाव का इतिहास हिंदी में Read More »