Natraj Temple Chidambaram In Hindi - नटराज मंदिर चिदंबरम की पूरी जानकारी

Natraj Temple Chidambaram In Hindi – नटराज मंदिर चिदंबरम की पूरी जानकारी

नमस्कार मित्रो आपका स्वागत है। आज हम भारत की द्रविड़ संस्कृति के बेनुम एव प्राचीन भारत के स्थापत्य Natraj Temple Chidambaram in Hindi की जानकारी बताने वाले है। अगर आपको दक्षिण भारत को देखने जाते है तो आपको नटराज मंदिर चिदंबरम की पूरी जानकारी प्राप्त होना जरुरी है। 

Natraj Temple Chidambaram तमिलनाडु के चेन्नई शहर से 251 कि.मी की दूर पर उपस्थित है। वह एक तीर्थ स्थल एव बहुत अच्छा खूबसूरत पर्यटन स्थान है। आज हम Nataraja Temple in Chennai, Nataraja Temple Near Trichy और Nataraja Temple is Located in की जानकारी बताएँगे। जिनसे आपको वहा गुमने में सरलता रहेंगी। वहा हररोज कई संख्या में श्रद्धालुओं आया करते है। एक नन्हा सा नगर भगवान शिव के मंदिर एव मैंग्रोव के जंगल के लिए बहुत प्रसिद्ध जगह है।

उसकी बनावट बहुत ही नयन रम्य और अद्भुत है।  भारतीय प्राचीन संस्कृति को उजागर करता नजर आता है। उसका कल्चर पर्यटन आकर्षण का मुख्य केंद्र है। इस बहुत पुराने नगर की कुछ बाते आपको बहुत आनंद दे सकती है। क्योकि Chidambaram Temple History ही ऐसी है। जो हर किसी का मन मोहित करदिया करती है। 

Natraj Temple Chidambaram in Hindi –

भगवान नटराज या शिव और भगवान पेरूमल को समर्पित मंदिर 11 वीं सदी में बनाया गया है। यह Temple तक़रीबन  40 एकड़ में फैला हुआ और द्रविड़ संस्कृति को बताता नजर आता है। नटराज मंदिर को दक्षिण भारत का सबसे लोकप्रिय और प्रसिद्ध शिव मंदिर कहते है। मंदिर का निर्मणा विक्रम चोल ने किया है। और दूसरी और पल्लव राजा सिंहवरम ने मंदिर को पुनर्निर्मित करवाया था। परिसर में चार गोपुरम यानि बुर्ज हैं। उस पर दंतकथाये और धार्मिक दृश्यों अंकित किये हुए हैं। 

इसके बारेमे भी पढ़िए :- अंबाजी मंदिर का इतिहास गुजरात

Natraj Temple History in Hindi –

भारत के अति प्राचीन मंदिरों से एक नटराज मंदिर बनावट की कोई खास तिथि उपलब्ध नहीं है। लेकिन मंदिर की बनावट को देख के कहा जा सकता है। की उसका निर्माण (NatarajaTemple Was Built by) चोल शासन के राजा विक्रम चोल ने पांचवी शताब्दी में करवाया है। उसका उल्लेख  चिदंबरम के नृत्य देवता सांभर और उल्लेख अपार में 7 या 6 शताब्दी जो ग्रंथो में लिखा मिलता है। उसके पश्यात उसके वारिस राजाओ ने 12 वी और 13 वी शताब्दी बदलाव और सुधर किये थे। उस सुधर में चेरा वंश, पल्लव, विजयनगर, पंड्याऔर चोला वंश के राजाओ का उल्लेख मिलता है।  

चोल राजाओं इ जरिये नटराज भगवान को उनके संरक्षक देव के रूप में पूजा और मंदिर के लिए बंदोबस्त किए थे । पांड्य राजाओं ने भी उनकी पूजा की थी। उसके बाद विजयनगर के शासकों ने मंदिर में उत्तरी गोपुर में कृष्णदेवराय की प्रतिमा स्थापित की हुई है।18 वीं शताब्दी में मैसूर के राजा मंदिर को अपने किले के जैसा उपयोग किया था। उस वक्त शिवकसमुंदरी और नटराज की मूर्तियों को सुरक्षित रखने हेतू तिरुवरूर त्यागराज मंदिर में रखा गया। 

Natraj Temple Chidambaram In Hindi
Natraj Temple Chidambaram In Hindi

Nataraja Temple Chidambaram Timings – 

Chidambaram Natraj Temple के खुलने का समय सुबह 6.00 बजे से लेकर शाम तक कोई भी समय आप दर्शन के लिए जा सकते है। आपको यह इसलिए बताया की अगर आपको मंदिर दर्शन करने के लिए जाना है। तो उसका समय जानना बहुत ही आवश्यक है। नहीं तो आप समय जाने बिना किसी स्थान पर पहुंच जाते है तो आपको उसके दर्शन नहीं हुए तो आपको बहुत दुःख हो यह हम नहीं चाहते है। 

नटराज मंदिर घूमने का सबसे अच्छा समय –

Natraj Temple Chidambaram Best time to visit  बताये तो Natraj Mandir चिदंबरम जाने को सर्दिया बहुत अच्छा समय है। क्योकि की उस वक्त पर्यटकों की संख्या बहुत अच्छी रहती है। वैसे तो यह जगह बंगाल की खाड़ी के तट पर होने की वजह से साल भर बहुत अच्छा जलवायु का अनुभव रहता है। कोई भी समय आप जाना चाहते है। तो जा सकते है। उसमे कोई दिक्कत नहीं है। Chidambaram Temple Rain में भी बहुत अच्छा समय कहा जाता है। 

इसके बारेमे भी पढ़िए :- Statue Of Unity India Information In Hindi – Gujarat

Natraj Temple Entry Fees –

नटराज मंदिर का प्रवेश शुल्क की बात करे तो नटराज मंदिर में दर्शन एव प्रवेश के लिए कोई भी फीस या शुल्क नहीं लिया जाता है। अगर आप पैसे नहीं देंगे तो भी यह मंदिर में घूम सकते है। कोई भी शुल्क देने की जरुरत नहीं है। 

Natraj Temple Architecture –

नटराज मंदिर की वास्तुकला भारतीय द्रविड़ संस्कृति को उजागर करती है। मंदिर की वास्तुकला देखे तो वास्तुशिल्प का यह मंदिर खजाना है। क्योकि मंदिर के आकर्षक शिलालेख, कलात्मक नक्काशी से भरी विशाल दीवारे के लिए मंदिर प्रसिद्ध हुआ है। मंदिर में कई देवी देवताओ की मुर्तिया स्थापित है। जिसमे गणेश, सुब्रह्मण्यर, नंदी और विष्णु भगवान की मुर्तिया है। मंदिर के दो मुख्य मुर्गे और कई सभा हॉल मौजूद है। 

इसके बारेमे भी पढ़िए :- Pattadakal Temple History Karnatak Pattadakal

नटराज मंदिर के आसपास  घूमने के पर्यटक स्थल –

कोई भी व्यक्ति अगर नटराज मंदिर घूमनेफिरने के लिए जाना चाहता है। या गया है। तो उन्हें Natraj Temple के नजदीकी पर्यटक स्थल की जानकारी भी हम बताने वाले है। जो उसके नजदीकी प्रसिद्ध मंदिर और पर्यटक स्थल है। जिन्हे देख के आपकी यात्रा सफल हो सकती है। 

  • शिवकामीमन मंदिर
  • पिचवारम मैंग्रोव वन 
  • चैथापरीनाथर मंदिर
  • काली मंदिर
  • थिलाई काली अम्मन मंदिर

थिलाई काली अम्मन मंदिर –

चिदंबरम नटराज मंदिर के पास ही प्रसिद्ध थिलाई काली अम्मन मंदिर हैं। यह मंदिर में मां काली साक्षात विराजमान है। कहाजाता है कि शिवजी भगवान से नृत्य में हार के देवी काली उस स्थल पर बैठे थे। मंदिर चिदंबरम नटराज के उतर भाग में है। काली TEMPLE में शिलालेख भी हैं। उसपर पुराने वक्त की जानकारियां लिखी हुई हैं। यह मंदिर में रीति रिवाजों और विधिविधानों के साथ पूजा अर्चना की जाती है। 

पिचवारम मैंग्रोव वन 

अगर आप चिदंबरम भ्रमण करते है। और पिचवारम मैंग्रोव जंगल नहीं देखते तो अपने कुछ नहीं देखते हैं। दक्षिण भारत का अति लोकप्रिय पर्यटन स्थल मैंग्रोव जंगल 1,100 हेक्टेयर के विस्तार में फैला हुआ है। जंगल के रेतीले किनारे बहुत नयन रम्य दिखे जाते है। जंगल कई विभागों और द्वीपों में विभाजित है। उस जंगल में कई तरह के जीव जन्तुओं और वनस्पतियों को पाया जाता है। उसके अलावा 177 पक्षियों की प्रजातियां मौजूद है।

इसके बारेमे भी पढ़िए :- Virupaksha Temple Pattadakal History In Hindi

चिदंबरम नटराज मंदिर का त्यौहार

नटराज मंदिर चिदंबरम में दो वार्षिक भ्रामोत्सवों के त्यौहार मनाये जाते है। आपको बतादे की उसी दिन सड़कों पर त्योहार देवताओं के रंगीन जुलूस निकाले जाते है। यह त्यौहार 15 दिसंबर से 15 जनवरी किया जाता है।  दूसरा त्यौहार में महीने में होता है। यह त्यौहार सर्दियों और गर्मियों के संक्रांति यानि मिथुन और धनु से पहले आते हैं।

Natraj Temple Map – Chidambaram Map

Chidambaram NatarajaTemple official Website

नटराज मंदिर चिदंबरम की नजदीकी होटल्स –

  • BalaSatya HomeStay – बालासत्य होमस्टे
  • Arudhra Residency – अरुधरा रेसीडेंसी 
  • Meera Lodge – मीरा लॉज 
  • Hotel Saradharam – होटल सरधारम 
  • Hotel Jayaram – होटल जयराम 

नटराज मंदिर चिदंबरम पहुचने के मार्ग –

Natraj Temple History in Hindi
Natraj Temple History in Hindi

सड़क मार्ग से नटराज मंदिर पहुच –

अगर आपको नटराज मंदिर जाना है। तो सड़क मार्ग से जाना चाहते है तो आपको ज्ञात करदे की यह नटराज मंदिर  रोड  मार्ग से आसपास के सभी प्रमुख शहरो से बहुत अच्छी तरह से जुड़ा हैं। सड़क मार्ग से जाने में आपको कोई दिक्कत का सामना नहीं करना पड़ेगा। यानि आप आसानी से नटराज मंदिर चिदंबरम पहुँच सकते है। आपको दूसरे शहरो से बस, सेल्फ ड्राइव या टेक्सी का सहारा ले सकते है।

ट्रेन से नटराज मंदिर पहुचें –

जिसको नटराज मंदिर चिदंबरम जाना है। और उन्हें रेलवे मार्ग से जाने की चाहना है।

उन्हें बतादे की चिदंबरम रेलवे स्टेशन मयिलादुथुराई,कुड्डलोर, चेन्नई, बैंगलो, नागोर के अलावा मनमदुरई, तिरुपति, कुड्डालोर, रामेश्वरम और विल्लुपुरम से जुड़ा हुआ है। वह से आप जा सकते है। 

फ्लाइट से नटराज मंदिर पहुचें –

अगर आप नटराज मंदिर जाने के लिए हवाई मार्ग पसंद किया हैं।

तो नटराज मंदिर से तक़रीबन 66 किलोमीटर दूर पोंडिचेरी एयरपोर्ट नटराज मंदिर चिदंबरम का नजदीकी हवाई अड्डा हैं।

उसके अलावा इंटरनेशनल एयरपोर्ट चेन्नई चिदंबरम शहर से तक़रीबन 183 किलोमीटर दूर है। वह उतरके भी आप जा सकते है। 

इसके बारेमे भी पढ़िए :- Gol Gumbaz History In Hindi bijapur

Chidambaram Temple Scientific Facts –

  • नटराज मंदिर दुनिया के चुंबकीय भूमध्य रेखा के केंद्र बिंदु पर उपस्थित है।
  • चिदंबरम नटराज मंदिर 9 शरीर की नसों को दर्शाने वाले मानव पर आधारित है।
  • पश्चिमी वैज्ञानिकों द्वारा भगवान नटराज के नृत्य को लौकिक नृत्य के रूप में वर्णन किया गया है।
  • नटराज मंदिर की छत 21600 सोने की चादरों से बनी है।
  • वह हररोज एक व्यक्ति द्वारा ली गई 21600 सांसों को दर्शाता है। 
  • “पंच बूटा” मंदिरों के बीच, चिदंबरम आसमान को दर्शाता है। कालाहस्ती हवा को दर्शाता है।
  • कांची एकमबेरेश्वर भूमि को दर्शाता है। यह एक आश्चर्यजनक तथ्य और खगोलीय चमत्कार है। 

नटराज मंदिर चिदंबरम के प्रश्न – 

1 .नटराज की मूर्ति कहां है ?

भगवन नटराज की मूर्ति मंदिर में है। 

2 .चिदंबरम का नटराज मंदिर किसने बनवाया ?

चिदंबरम का नटराज मंदिर चोल शासन के राजा विक्रम चोल ने बनाया था। 

3 .नटराज मंदिर किसने बनवाया था ?

नटराज मंदिर चोल शासन के राजा विक्रम चोल ने बनवाया था। 

4 .नटराज मंदिर किस राज्य में स्थित है / नटराज मंदिर कहां है ?

नटराज मंदिर तमिलनाडु राज्य के चिदंबरम नगर में उपस्थित है। 

5 .नटराज मंदिर स्थित है ?

हा नटराज मंदिर यथावत उपस्थित है।  

6 .नटराज की प्रसिद्ध कांस्य मूर्ति किस कला का उदाहरण है ?

नटराज की प्रसिद्ध कांस्य मूर्ति चोल कला का उदाहरण है। 

7 .नटराज की मूर्ति घर में रखना चाहिए या नहीं ?

हा भगवान की मूर्ति  घर में रखना चाहिए। 

8 .नटराज की मूर्ति किस काल में बनी ?

भगवान नटराज की मूर्ति चोल शाशन काल में बनी थी। 

9 .नटराज मंदिर का निर्माण किसने किया ?

नटराज मंदिर का निर्माण राजा विक्रम चोल ने किया था।

इसके बारेमे भी पढ़िए :- Mysore Palace History In Hindi

Conclusion –

आपको मेरा Natraj Temple Chidambaram in Hindi बहुत अच्छी तरह से समज आया होगा। 

लेख के जरिये NatarajaTemple Chidambaram और Chidambaram Temple Story से सबंधीत  सम्पूर्ण जानकारी दी है।

अगर आपको अन्य जगह या तीर्थ स्थान के बारे में जानना है। तो कमेंट करके जरूर बता सकते है।

हमारे आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ शयेर जरूर करे। जय हिन्द।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *