Mawsynram Tourism Place In Hindi

Mawsynram Tourism Place In Hindi | मौसिनराम के पर्यटन स्थल और जानकारी

नमस्कार दोस्तों Mawsynram In Hindi में आपका स्वागत है। आज हम मौसिनराम के पर्यटन स्थल और घूमने की जानकारी बताने वाले है। पर्यटकों को मंत्रमुग्ध कर देने वाला गाँव और दुनिया में सबसे नम स्थान मौसिनराम शिलांग से 61 कि.मी दक्षिण में स्थित है। प्रकृति प्रेमीयो के लिए सप्ताहांत की यात्रा का आदर्श स्थान और स्वर्ग है। मौसिनराम ने चेरापूंजी को थोड़े अंतर से हराकर भारत का सबसे गीला स्थान बना लिया है। मौसिनराम दुनिया के सबसे शानदार पर्यटन स्थलों में से एक हैं।

मौसिनराम में ‘माव’ एक खासी शब्द है जिसका अर्थ पत्थर होता है। यह खासी पहाड़ी विस्तार में खोजे गए अदभुत महापाषाण का प्रतीक है। मौसिनराम गाँव अपने विशाल आकार के स्टैलेग्माइट के लिए प्रसिद्ध है। जो एक शिवलिंग का आकार लेता है। मौसिनराम में बारिश जबरदस्त तेज होती है। कि स्थानीय लोगो को भारी बारिश से अपने घरों को ध्वनिरोधी बनाने के लिए मोटी घास का प्रयोग करना पड़ता है। मेघालय के पूर्वी खासी पहाड़ी जिले में स्थित मौसिनराम समुद्र तल से 1400 मीटर ऊपर स्थित है।

Best Time To Visit Mawsynram

मौसिनराम जाने का सबसे अच्छा समय – मौसिनराम सबसे नम स्थानों में से एक है। इसलिए अप्रैल और जून के बीच दौरा सबसे अच्छा मानाजाता है। क्योकि उस समय देश में गर्मी का मौसम है। और मासिनराम का मौसम बादलों के निवास में यह खूबसूरत पर्यटन स्थल गर्मियों में एक सुखद अनुभव प्रदान करता है। यहाँ तापमान पूरे दिन सुखद रूप से ठंडा रहता है। पर्यटक मानसून के मौसम की शुरुआत या अंत में, यानी जुलाई / सितंबर-अक्टूबर में सुंदर माहौल का अनुभव करने के लिए मौसिनराम जाने का विकल्प चुन सकते हैं।

यह भारत के सबसे गीले स्थानों में से एक है। उसके कारन जागरूक और सुसज्जित होने की आवश्यकता है। भारी वर्षा में यह क्षेत्र में जाने से बचाना चाहिए। अक्टूबर महीना भी पर्यटकों के लिए काफी सुखद समय है। उस समय में यह विस्तार हरी-भरी हरियाली से आच्छादित है और हवा ताज़ा और कायाकल्प कर रही है। यहाँ दिन धुंध और धूमिल होते हैं जो एक जादुई आकर्षण पैदा करते हैं। यहाँ लगभग पूरे साल वर्षा होती है। इसलिए बारिश के लिए तैयार रहना जरुरी है।

Mawsynram Latest Pics
Mawsynram Latest Pics

इसके बारेमे भी जानिए – खूबसूरत शहर और मेघालय की राजधानी शिलांग यात्रा की जानकारी

मौसिनराम की यात्रा कार्यक्रम

  • सबसे पहले आपको मौसिनराम पहुंच के रहने के लिए होटल बुक करनी होती है।
  • उसके पश्यात सुबह गरमा गरम क्वाई पियें और एक और घंटे में अपनी यात्रा शुरू करें।
  • पहले सिटी सेंटर से 17 किमी दूर मौसमाई जलप्रपात गंतव्य देखना है।
  • उसके बाद शहर के केंद्र से 8 किमी की दूरी पर स्थित मावसई गुफाओं देखना है।
  • उसके पश्यात चेरापूंजी, नोहकलिकाई जलप्रपात और मावलिंगबना की यात्रा करें।
  • बीच में आपको वनस्पति उद्यान और द्वारकसूद में वनस्पतियों को जरूर देखना है।
  • साथ साथ रॉक संरचनाओं को भी मिस नहीं करना चाहिए।
  • सुबह जल्दी शुरू किया जाए तो सभी गंतव्य को एक ही दिन में देख सकते है।
  • आप चाहें तो किसी भी झरने पर भी समय व्यतीत कर सकते हैं।

Tourist Places To Visit In Mawsynram

  • Mawsmai Caves 
  • Mawjymbuin Caves
  • Mawsmai Falls
  • Nohalikalai Falls / Nohkalikai Waterfalls
  • Mawlyngbna
  • Mawphlang
  • Cherrapunjee / Cherrapunji
  • Khreng Khreng Viewpoint

    Mawsynram photo gallery
    Mawsynram photo gallery

मौसिनराम में घूमने की जगह

Mawsmai Caves

मेघालय वैसे तो कई अद्भुत और रहस्यमय गुफा प्रणालियों का घर है। उस में मौसमई गुफा सबसे लोकप्रिय है। मेघालय के पूर्वी खासी पहाड़ियों में चेरापूंजी मावसई गुफा के केंद्र से सिर्फ 6 किमी दूर स्थित गुफाओं की एक लुभावनी भूलभुलैया है। वहा जगमगाती रोशनी चूना पत्थर से मिलती है। तो अनगिनत रंग और प्रकाश के पैटर्न का निर्माण होता है। वह सभी पर्यटकों का ध्यान आकर्षित करती है। 

उस गुफा के भीतर यात्रिओ को बहुत सारे वनस्पति और जीव भी देखने को मिलते हैं। वह गुफा की लंबाई 150 मीटर है। यह विस्तार की अन्य गुफाओं की तुलना में ज्यादा लंबी नहीं है। मगर देखने वाले के दिलो में निश्चित रूप से एक झलक प्रदान करती है। शिलांग और चेरापूंजी की यात्रा करने वाले को मावसई गुफाओं को जरूर देखना चाहिए। क्योकि यह सबसे अच्छी जगह है।

मौसिनराम इमेज
मौसिनराम इमेज

Mawsmai Falls

मौसिनराम में देखने योग्य और आकर्षण मौसमाई जलप्रपात है। मौसिन्रा के नजदीक स्थित जलप्रपात भारत का चौथा सबसे बड़ा जलप्रपात है। मौसमाई जलप्रपात को सेवन सिस्टर्स वाटरफॉल्स या नोह्सिंगिथियांग फॉल्स के उपनाम से भी पहचानते हैं। यह नयनरम्य और शानदार प्राकृतिक अजूबा 315 मीटर की ऊंचाई से झरने के साथ गिरता है। सूर्यास्त के समय पर्यटक यहाँ सबसे अच्छे दृश्य को देख सकते है। क्योंकि पानी ऐसा लगता है जैसे यह सीधे सूर्य से बह रहा है और डूबते सूरज के चमकीले रंग हैं।मौसिनराम फोटो गैलरी

मौसिनराम फोटो गैलरी
मौसिनराम फोटो गैलरी

इसके बारेमे भी जानिए – जम्मू कश्मीर के रहस्यमयी स्थल मैग्नेटिक हिल घूमने की जानकारी

Nohalikalai Falls

नोहकलिकाई जलप्रपात देश के सबसे ऊंचे जलप्रपात के रूप में एक शानदार चट्टान से 335 मीटर की ऊंचाई से बहता है। मेघालय और पूर्वोत्तर भारत के गौरव के रूप में खड़ा है। खासी पहाड़ी के सदाबहार वर्षावनों के बीच खूबसूरती से स्थित जलप्रपात बहुत खूबसूरत है। यह मेघालय के सबसे अच्छे झरनों में से एक और ऊपर से बहता नोहकलिकाई फ़िरोज़ा नीले लैगून में गिरता है। नोहकलिकाई जलप्रपात मौसिनराम में सबसे लोकप्रिय स्थानों में से एक है।

कहानी के मुताबिक फॉल्स का नाम का लिकाई नाम की एक महिला की दुखद कहानी से लिया गया है। उसने एक ऐसे व्यक्ति से दोबारा शादी की जो यह मानता था। कि वह अपनी बेटी से ज्यादा प्यार करती है। बाद में उस व्यक्ति ने अपनी बेटी को मार डाला, उसका मांस पकाया और का लिकाई को परोसा। यह जानकर महिला परेशान हो गई और इस झरने से गिरकर मौत के घाट उतर गई थी। 

Cherrapunjee

पृथ्वी पर सबसे पहला गीला स्थान मेघालय में चेरापूंजी उसको सोहरा भी कहा जाता है। वह डबल डेकर लिविंग रूट ब्रिज के लिए प्रसिद्ध है। शिलांग से 50 कि.मी दूर स्थित शहर  समृद्ध वनस्पतियों और प्राकृतिक आकर्षणों के लिए प्रसिद्ध है। मगर मौसिनराम आज पृथ्वी पर सबसे अधिक वर्षा वाला स्थान है। लेकिन चेरापूंजी का नाम सबसे अधिक वर्षा का रिकॉर्ड है। प्रसिद्ध जीवित रूट ब्रिज के साथ कई प्राकृतिक आकर्षणों में मौसमाई गुफाएं और क्रेम फाइलुत जैसी गुफा संरचनाएं शामिल हैं। 

यह विस्तार में धुंध भरी घाटियाँ और झरने चेरापूंजी के माध्यम से एक लंबी ड्राइव बनाते हैं। जो सड़क यात्रा करने वालों के लिए आदर्श है। घाटी के लुभावने मनोरम दृश्य और प्रसिद्ध नोहकलिकाई झरने जैसे झरने धूप वाले सर्दियों के दिनों में होने वाले अद्भुत अनुभव हैं। एशिया का सबसे स्वच्छ गांव, माविलिनगॉन्ग यहां का एक और प्रसिद्ध पर्यटन स्थल है। जहां पर्यटक आराम करने के लिए रह सकते हैं। और गांव के भोजन और संस्कृति का अनुभव कर सकते हैं।

Mawsynram Photos
Mawsynram Photos

Mawlyngbna

मौसिनराम से 15 किमी की दूरी पर मावलिंगबना मेघालय में पूर्वी खासी हिल्स जिले के मौसिनराम तहसील में स्थित एक सुंदर गांव है। यह मेघालय में घूमने के लिए खूबसूरत जगहों में से एक है और मौसिनराम पर्यटन का अनुभव करने के लिए सबसे अच्छी जगहों में से एक है। मावलिंगबना का सुंदर गांव एक पहाड़ी की चोटी पर स्थित है। यह शांत गांव 200 मिलियन वर्ष पुराने जानवरों के समृद्ध जीवाश्मों के लिए प्रसिद्ध है। गांव के भीतर कई प्राकृतिक झरने हैं जो साल भर स्वच्छ ताजे पानी की आपूर्ति करते हैं।

गाँव के बाहरी इलाके में एक बड़ा चौड़ा जंगल है जो लुप्तप्राय पूर्वज घड़े के पौधे के लिए प्रसिद्ध है। पहाड़ी की चोटी से कोई रोलिंग खासी पहाड़ियों के बांग्लादेश के मैदानों में विलय के नाटकीय अनुक्रम को देख सकता है। उसके साथ कई सुरम्य झरने भी हैं जिनमें से सबसे उल्लेखनीय हैं उम डिएंगकैन और अर फलत झरने। मावलिंगबना ग्राम समुदाय द्वारा संचालित एक साहसिक पार्क भी है जो तैराकी, ज़िप-लाइनिंग, मछली पकड़ने, कयाकिंग और नौका विहार जैसे साहसिक खेल प्रदान करता है। 

Hospitality in Mawsynram

मौसिनराम में आतिथ्य – छोटे से गीले गाँव में मानवता के साथ लोगों का एक समूह है। वह प्रजाति के लोग पर्यटकों को उनकी सर्वोच्च गुणवत्ता के साथ आपको उनकी छत के नीचे आश्रय लेने की भी अनुमति देते है। उसके साथ साथ आपको निश्चित रूप से ‘क्वाई’, उनकी स्थानीय चाय पर अपनी स्वाद कलियों को टिकाने का मौका मिलेगा उसका मजा भी आप ले सकते है।

rain images beautiful
rain images beautiful

इसके बारेमे भी जानिए – जम्मू कश्मीर के लदाख की नुब्रा घाटी और नजदीकी पर्यटक स्थल की जानकारी

Restaurants and Local Food in Mawsynram

पर्यटकों को खाने के लिए मौसिनराम में विकल्प सीमित हैं। मगर चेरापूंजी में पर्यटकों को खाना एक यादगार अनुभव हो सकता है। आप पोर्क राइस जैसे खासी व्यंजन और भी बहुत कुछ पसंद कर सकते हैं। यह शहर में पोर्क और अन्य रेड मीट बेचने वाली दुकानें फलती-फूलती हैं। सोहरा पुलाव जो बिना मसाले के तेल और सब्जियों के साथ पकाया जाने वाला चावल है। उसके साथ चेरापूंजी में भारतीय चीनी, पंजाबी और बंगाली व्यंजन भी मिलते है। मौसिनराम में रेस्तरां और स्थानीय भोजन की बात अनोखी कही जाती है। 

  • Goshen homestay
  • D Cloud Guesthouse
  • Ibankordor Jungle Resort
  • Polo Orchid Resort Cherrapunjee
  • The Escapade Inn
  • Jms lodge
  • Aisha Guest House
  • Hiraba Homestay
  • Rani Homestay
  • San Nael La Resort

How to Reach Mawsynram

मौसिनराम मेघालय की राजधानी शिलांग से 3 घंटे की दूरी पर स्थित है। शिलांग हवाई अड्डा मौसिनराम का निकटतम हवाई अड्डा है। मेघालय में कोई रेलवे कनेक्शन नहीं है इसलिए गुवाहाटी रेलवे स्टेशन शिलांग से 104 किमी की दूरी पर स्थित निकटतम रेलवे स्टेशन है। शिलांग और गुवाहाटी से अंतरराज्यीय बसें पड़ोसी राज्यों से होकर गुजरती हैं। आप भी यहाँ से यात्रा कर सकते है।

मौसिनराम तस्वीरें
मौसिनराम तस्वीरें

ट्रेन से मौसिनराम कैसे पहुंचे

How to reach Mawsynram by train – मेघालय में कोई रेलवे कनेक्शन नहीं है।  लेकिन गुवाहाटी रेलवे स्टेशन शिलांग से 104 किमी स्थित है। मौसिनराम के लिए गुवाहाटी रेलवे स्टेशन से पर्यटक जा सकते है। आपको गुवाहाटी स्टेशन पर उतरना है। और मौसिनराम के लिए टैक्सी या बस पसंद कर सकते है। गुवाहाटी स्टेशन से मौसिनराम पहुंचने में तक़रीबन 4 घंटे का समय लगता है।

सड़क मार्ग से मौसिनराम कैसे पहुंचे

How to reach Mawsynram by road – मौसिनराम से गुवाहाटी 150 किमी दूर आसानी से ड्राइव कर सकते हैं। ड्राइव सुंदर और बहुत ही सुरम्य है। उसके अलावा मौसिनराम की यात्रा के लिए आप टैक्सी या जीप भी बुक कर सकते हैं। मौसिनराम के नजदीकी स्थल घूमना मुश्किल नहीं है। यात्रा के लिए कैब और जीप उपलब्ध हैं। कैब वाले जगह को अच्छी तरह से जानते हैं और आपको शहर के चारों ओर सुरक्षित और आराम से ले जा सकते हैं।

फ्लाइट से मौसिनराम कैसे पहुंचे

How to reach Mawsynram by flight –

शिलांग हवाई अड्डा मौसिनराम का निकटतम हवाई अड्डा है। यह सभी प्रमुख शहरों और राज्यों को राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर जोड़ता है। हवाई अड्डे और मौसिनराम के बीच 86 किमी की दूरी तय करने के लिए आप कैब या स्थानीय परिवहन बस ले सकते हैं। एयरपोर्ट से मौसिनराम पहुंचने में पर्यटक को 3 घंटे का समय लगता है।

मौसिनराम के पर्यटन स्थल और जानकारी
मौसिनराम के पर्यटन स्थल और जानकारी

इसके बारेमे भी जानिए – लेह लद्दाख की सबसे लोकप्रिय पैंगोंग झील घूमने की पूरी जानकारी

Mawsynram Map मौसिनराम का लोकेशन

Mawsynram Tourism Place In Hindi Video

Interesting Facts About Mawsynram

  • मौसिनराम गांव शिलांग से 61 कि.मी दूर और दुनिया में सबसे नम गंतव्य है।
  • मौसिनराम गांव देखना हर प्रकृति प्रेमी का सपना है।
  • सुरम्य झरने और हरी-भरी भूमि के परिदृश्य से मौसिनराम प्रसिद्ध है।
  • मौसिनराम के लोग बरसात के मौसम की तैयारी में महीनों लगाते हैं।
  • मौसिनराम गांव की अदभुत विशेषता स्टैलेग्माइट का गठन है, जो एक ‘शिवलिंग’ के आकार में है।
  • समुद्र तल से 1400 मीटर की ऊंचाई पर बसे इस स्थान पर जोरदार बारिश होती है।
  • यहाँ  ग्रामीण घरों को गरजते बारिश से बचने के लिए मोटी घास का उपयोग करते हैं।

FAQ

Q .मासिनराम कहा है?

मासिनराम मेघालय में स्थित है।

Q .मासिनराम क्यों प्रसिद्ध है?

दुनिया में सबसे ज़्यादा नमी वाली जगह के लिए गिनीज़ बुक ऑफ़ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में मासिनराम का नाम दर्ज है।

Q .दुनिया में सबसे ज़्यादा बारिश कहां होती है?

मासिनराम, चेरापूंजी में दुनिया की सबसे ज़्यादा बारिश होती है।

Q .मासिनराम की विशेषता क्या है?

विश्व में सबसे अधिक वर्षा के लिए यह प्रसिद्ध है।

Q .मासिनराम किस राज्य में है?

भारत के मेघालय राज्य में मासिनराम गांव स्थित है।

Conclusion

आपको मेरा Mawsynram Tourism Place In Hindi बहुत अच्छी तरह से समज आया होगा। 

लेख के जरिये Mawsynram temperature, Mawsynram rainfall

और Mawsynram india से सबंधीत सम्पूर्ण जानकारी दी है।

अगर आपको किसी जगह के बारे में जानना है। तो कहै मेंट करके जरूर बता सकते है।

हमारे आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ शयेर जरूर करे। जय हिन्द।  

Note

आपके पास Mawsynram in meghalaya, Highest rainfall in india या 

Mawsynram meaning की जानकारी हैं। 

या दी गयी जानकारी मैं कुछ गलत लगे / तो दिए गए सवालों के जवाब आपको पता है।

तो तुरंत हमें कमेंट और ईमेल मैं लिखे हम इसे अपडेट करते रहेंगे धन्यवाद। 

! साइट पर आने के लिए आपका धन्यवाद !

अगर आपको यह पोस्ट पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तों को जरूर शेयर करें !

Google Search

Mawsynram in india map, highest rainfall in world, wettest place in the world, where is mawsynram located in india map, Mawsynram pronunciation, Mawsynram rainfall in cm, Mawsynram is located in which of the hills, Mawsynram weather, Mawsynram is in which state,

चेरापूंजी की औसत वार्षिक वर्षा कितनी है ?, भारत में सर्वाधिक वर्षा वाला स्थान कौन सा है, भारत में सर्वाधिक वर्षा वाला स्थान 2021, भारत में सर्वाधिक वर्षा वाला स्थान 2020, भारत में सबसे अधिक वर्षा वाला राज्य कौन सा है, मौसिनराम मीनिंग इन हिंदी, मासिनराम और चेरापूंजी, मासिनराम भारत, मौसिनराम के भीतर आवागमन, मासिनराम अर्थ, मासिनराम कहाँ स्थित है

इसके बारेमे भी जानिए – जगन्नाथ पुरी मंदिर के आश्चर्यजनक तथ्य और इतिहास की जानकारी

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *