Matheran Hill Station Information in Hindi

Matheran Hill Station Information in Hindi | माथेरान हिल स्टेशन की जानकारी

नमस्कार दोस्तों Matheran Hill Station Information in Hindi में आपका स्वागत है। आज हम भारत का सबसे छोटा हिल स्टेशन माथेरान हिल स्टेशन घूमने की पूरी जानकारी बताने वाले है। महाराष्ट् राज्य का बेहद खूबसूरत और आकर्षक हिल स्टेशन माथेरान मुंबई से लगभग 108 किलोमीटर दूर स्थित है। समुद्र तल से 2600 फीट की ऊंचाई पर महाराष्ट्र के पश्चिमी घाट पर सह्याद्रि श्रेणी के बीच माथेरान एक छोटा सा हिल स्टेशन है। यह भारत का सबसे छोटा हिल्स स्टेशन होने के पश्यात भी महाराष्ट्र के सबसे खूबसूरत हिल्स स्टेशन में शामिल किया है।

माथेरान का अर्थ माता का जंगल होता है। यह स्थान के आस-पास की हरियाली उसके नाम को और खूबसूरत बनाती है। अगर आप वेकेशन माथेरान आना चाहते हैं तो बतादें की यहाँ पर्यटकों के लिए बहुत कुछ ख़ास है । यहां का शांत वातावरण, आकर्षक दृश्य, ठंडी हवा के झौंके, दूर तक फैली हरी-भरी घाटी, उड़ते बादल और पर्वतों का खूबसूरत नज़ारा पर्यटकों को मंत्रमुग्ध बना देते है। माथेरान के कुछ खास दर्शनीय स्थल की हम बात करने वाले है। तो चलिए Matheran in Hindi शुरू करते है।

Matheran Hill Station kyon famous hai

माथेरान हिल स्टेशन का खूबसूरत नजारा और ठंडी-ठंडी हवाएं पर्यटकों की सारी थकान और परेशानियां दूर कर देती हैं। लुइसा पॉइंट पर जाने के पश्यात पर्यटको को दो विभिन्न दृश्य देखने को मिलते हैं। एक दृश्य नीचे गहरी घाटी, आकाश को छूते हुए पहाड़ और दूसरा शेर्लोट झील जिसपर पड़ती सूरज की रोशनी यह स्थान को चार चांद लगा देती है। माथेरान अपने नज़ारों के लिए सबसे प्रसिद्ध है। उसमे कुल 36 दृश्य देखने को मिलते है। जहां से आप सह्याद्री पर्वत श्रृंखला के आकर्षक दृश्यों का आनंद लेते हुए। ट्रेकिंग और कैम्पिंग जैसी एडवेंचर एक्टिविटीज का भी आनंद ले सकते है।

matheran city photos
matheran city photos

माथेरान हिल स्टेशन की यात्रा का रिजन

कई पर्यटक यह कहते है की माथेरान की यात्रा किसे करनी चाहिए ? यह सवाल माथेरान जाने वाले सभी यात्रिओ के मन में एकबार जरूर होता है। तो आपको बताये देते है माथेरान हिल स्टेशन एक ऐसा प्रसिद्ध पर्यटक स्थल है। जहा आप परिवार के साथ वेकेशन, फ्रेंड्स के साथ वीकेंड एव कपल यानि लाइफ पार्टनर के साथ हनीमून पर भी जा सकते है। अगर आपको एडवेंचर एक्टिविटीज का शौख है तो माथेरान की यात्रा जरूर करनी चाहिए। यहाँ ट्रेकिंग, कैम्पिंग, जैसी कई एडवेंचर एक्टिविटीज की पेशकश देखने को मिलती है।

माथेरान हिल स्टेशन कहां स्थित है

भारत देश के महाराष्ट्र राज्य के रायगढ़ जिले यह खुबसुरत पर्यटक स्थल स्थित है। माथेरान दुनिया की उस गिने-चुने स्थलों में से एक है। जहां खतरनाक रास्ते होने के कारन यहां पर कोई भी गाड़ियां ले जाने पर सख्त प्रतिबंध कर दिया है। यात्रिओ को माथेरान हिल्स घूमने जाने के लिए ट्वॉय ट्रेन से जाना पड़ता है। ट्वॉय ट्रेन ऊंचे पहाड़ों के किनारे बेहद कठिन रास्तों से गुजरती है।

matheran latest photos
matheran latest photos

Matheran History in Hindi

1850 में थाने जिले के डिस्ट्रिक्ट कलेक्टर ह्यू पायंट्ज़ मेल्ट ने माथेरान की खोज की थी। उसके बाद मुंबई शहर के गवर्नर लॉर्ड एलफिन्सटोन ने हिल स्टेशन की आधारशिला की नीव रखी थी । ब्रिटिश सरकार ने यह विस्तार में पड़ने वाली गर्मी से बचने के लिए माथेरान का विकास ज्यादा किया था। 1907 की साल में माथेरान हिल रेलवे का निर्माण किया गया था। घने जंगलो के विशाल में खेत्र में फैला यह स्थान को युनेसको वर्ल्ड हेरिटेज साइट के लिए देखा गया था। लेकिन वर्ल्ड हेरिटेज साइट की सूची में स्थान पाने में असफल रहा है।

माथेरान घूमने जाने का सबसे अच्छा समय

वैसे तो पुरे वर्ष में कोई भी समय आप जा सकते है। मगर माथेरान घूमने का सबसे अच्छा समय की बात करे तो अप्रैल से मई और अक्टूबर से जनवरी महीने का समय सबसे अच्छा होता है। उस समय में तापमान 22 और 33 डिग्री सेल्सियस के बीच होता है। उसिलिये मुंबई और पुणे शहर के पर्यटक यहां जरूर दौरा करते है। माथेरान में मानसून के बाद का मौसम बहुत ही सुहावना होता है। धुंध भरी पहाड़ियों और ठंडी हवा के साथ आदर्श हिल स्टेशन बनाता है।

matheran photography
matheran photography

माथेरान हिल स्टेशन में करने लायक गतिविधियां

Activities in Matheran Hill Station की बात करे तो यहाँ एन्जॉय करते हुए आपका पूरा दिन गुजर जाएंगा। परिवार और दोस्तों के साथ आप यहाँ ट्रेकिंग, कैम्पिंग, वर्ड वाचिंग, फोटोग्राफी जैसी कई एक्टिविटीज को एन्जॉय कर सकते है।  यहां ट्रेकिंग के लिए कई खूबसूरत ट्रेकिंग ट्रेल्स, कैम्पिंग के लिए कई नयनरम्य स्थल और फोटोग्राफी के लिए यह स्थान अदभुत नजारों की पेशकश करता है। माथेरान से आप मड़े के सामान, कोल्हापुरी के जूते, चिक्की, शहद और साधारण हस्तशिल्प की चीजे खरीद सकते है।

माथेरान में घूमने की जगहें 

Honeymoon Point Matheran

माथेरान का हनीमून पॉइंट एक नज़ारा है। जो हमारे देश के ग्रांड कैन्यन के नाम से प्रसिद्ध हुआ है। यह स्थल से पहाड़ों और पास के प्रबलगढ़ किले का नयनरम्य दृश्य देखा जा सकता है। यह हिल्स स्टेशन में शामिल सबसे बड़ा वैली क्रॉसिंग पॉइंट माना जाता है। यह हनीमून पॉइंट माथेरान का एडवेंचर के शौकीनों के लिए महत्वपूर्ण पर्यटक स्थल है।

Prabalgad Fort Matheran

माथेरान और पनवेल के बीच स्थित प्रबलगढ़ किला पर्यटकों के बीच बेहद प्रसिद्ध एव लोकप्रिय है। उन्हें कलावंतिन दुर्ग के नाम से भी जाना जाता है। चट्टानी पठार की चोटी पर बना ये फोर्ट ट्रेकर्स के लिए भी आकर्षण का केंद्र है। महाराष्ट्र के सबसे कठिन ट्रेकिंग चुनौतियों में से एक है। शेडुंग के बेस गांव से शुरू होने वाले ट्रेक में लगभग 3 घंटे लगते हैं। फोर्ट तक जाने के लिए रॉक-कट सीढ़ियों का भी निर्माण किया गया है। यहाँ से आप कर्नाला फोर्ट भी घूमने के लिए जा सकते हैं।

माथेरान हिल स्टेशन की जानकारी
माथेरान हिल स्टेशन की जानकारी

Monkey point Matheran

मंकी पॉइंट माथेरान का अनूठा गंतव्य पश्चिमी घाट, ऊंचे-ऊंचे पहाड़ों और गहरी घाटियों के सुंदर एव नयनरम्य दृश्यों के बीच स्थित है। उसके नाम से ही पता चलता है। की यह जगह पर बंदरो का झुंड जमा रहता होगा । यह स्थल पर स्वदेशी वनस्पतियों और जीवों की मात्रा ज्यादा देखने को मिलती है। आप वनस्पति के बारे में दिलचस्पी रखते हैं, तो  यह जगह जरूर जाना चाहिए। बंदरों होने के कारन आपको थोड़ा ज्यादा खयाल रखना चाहिए।

Louisa point Matheran

माथेरान में बसे अधिक घूमें जाने वाली जगह और सबसे प्रसिद्ध पर्यटक लुइसा पॉइंट है। मुख्य बाजार से 1.5 किमी दूर लुइसा पॉइंट स्थित है। यात्री यहाँ पर ट्रेकिंग करके जा सकते है। यहाँ पर्यटकों को थकान और परेशानीयों को दूर करने के लिए। खूबसूरत दृश्यों और ठंडी ठंडी हवा का अनुभव होता है। लुइसा पॉइंट के आकर्षक नजारें माथेरान आने वाले पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र बने हुए है। माथेरान हिल स्टेशन की यात्रा लुइसा पॉइंट बीना अधूरी है।

Ambarnath Temple Matheran

माथेरान में अंबरनाथ मंदिर एक प्राचीन एव ऐतिहासिक हिंदू मंदिर है। यह मंदिर भगवान शिव को समर्पित है। मुंबई शहर के पास अंबरनाथ में स्थित मंदिर का निर्माण 1060 में हुआ था। यह मंदिर परिसर माउंट आबू में स्थित दिलवाड़ा मंदिरों के समान ही दिखाई देते है। मंदिर की प्राचीन एव अद्भुत वास्तुकला बेहद खूबसूरत और आकर्षक है। यहाँ महाशिवरात्रि उत्सव मनाया जाता है।

Charlotte lake Matheran

चारलोटी झील या शार्लोट झील के नाम से प्रसिद्ध यह स्थल दर्शनीय स्थलों में से एक है। चार्लोट झील माथेरान के सबसे शानदार आकर्षणों में से एक है। यह स्थल पिकनिक मनाने के लिए बेहद आकर्षक जगह है। प्राकृतिक सुंदरता का लुफ्त उठाने के लिए पर्यटक यह स्थल को पसंद करते है। यही झील से ही माथेरान के लिए पानी सप्लाई होता है। परिवार, दोस्तों या पार्टनर के साथ पिकनिक मनाने के लिए एकदम बेस्ट है। र्योदय और सूर्यास्त के दौरान चार्लोट झील जाना बेहद अच्छा रहता है। यहाँ पिशरनाथ महादेव या भगवान शिव का प्राचीन मंदिर है।

matheran photos hill station
matheran photos hill station

Shivaji ladder Matheran

वन ट्री हिल और माथेरान घाटी के बीच शिवाजी सीढ़ी स्थित है। यह एक रस्सी पर चलकर जाने वाला रास्ता है। हरियाली से भरे जंगल से घिरा माथेरान में सबसे लोकप्रिय ट्रेकिंग स्थलों में से एक है। प्राचीन समय में मराठा साम्राज्य के सम्राट छत्रपति शिवाजी महाराज ने माथेरान में शिकार यात्रा के लिए। यही मार्ग का उपयोग किया था। जो आज भी देखने को मिलता है।

Neral Matheran Toy Train

अगर कोई माथेरान जाता हैं।  तो यहां नेरल माथेरान टॉय ट्रेन बिल्कुल मिस नहीं करनी चाहिए।

यह टॉय ट्रेन की सहायता से पर्यटक  पश्चिमी घाटों की खूबसूरती और नयनरम्य दृश्य देखने को मिलते है।

नेरल को माथेरान से 21 किलोमीटर की रेलवे लाइन से जोड़ता नेरल माथेरान टॉय ट्रेन एक विरासत रेलवे है।

यहाँ 1900 में निर्माण हुई दो फीट की नैरो गेज रेलवे है।

One tree hill point Matheran

हाराष्ट्र के सबसे खूबसूरत नज़ारों में से एक वन ट्री हिल पॉइंट है। पहाड़ी की चोटी पर आपको सिर्फ एक पेड़ देखने को मिलता है। उसके कारन ही उनका नाम वन ट्री हिल पॉइंट रखा गया है। यहाँ आने वाले पर्यटकों मंत्रमुग्ध करने वाली गहरी घाटियों और फैले हुए जंगलों का मनोरमदृश्य प्रस्तुत करता है। उसके साथ यह स्थान ट्रेकिंग के लिए भी प्रसिद्ध है। आप अपने परिवार और दोस्तों या पल के साथ घूमने के लिए जाते है। तो आपको वन ट्री हिल पॉइंट जरूर जाना चाहिए।

Echo point Matheran

माथेरान हिल्स में घूमने के लिए सबसे अच्छी जगहो में इको पॉइंट भी शामिल है। यह स्थल जंगलो की जाड्या अपने द्वारा उत्पन्न होने वाली प्रतिध्वनियों और गूँज के लिए प्रसिद्ध है। उसके साथ साथ यहाँ प्राकृतिक सुंदरता भी जबरदस्त है। पहाड़ी की चोटी से पूरे क्षेत्र का विहंगम दृश्य दिखाई देता है। सह्याद्री के पहाड़ का नयनरम्य दृश्य बहुत ही अदभुत दिखाई देता है। यह स्थान रस्सी पर चढ़ने और जिप लाइनिंग जैसी गतिविधियों के लिए भी प्रसिद्ध है।

matheran photos
matheran photos

Panorama point Matheran

पैनोरमा पॉइंट माथेरान का एक दर्शनीय स्थान पश्चिमी घाटों के 360-डिग्री नयनरम्य दृश्य को प्रस्तुत करता है। उसके नीचे मौजूद गांव और खूबसूरत मैदानों को यात्री देख सकते हैं। ट्रैकिंग करने के लिए यह स्थल बहुत अच्छा विकल्प है। अगर आप ट्रेकिंग नही करना चाहते,तो घोडा या नेरल-माथेरान टॉय ट्रेन की सहायता से पहुंच सकते है।

माथेरान का स्थानीय भोजन 

मुंबई शहर के पास होने के कारन होने के कारन यह छोटा सा विस्तार होने के बाद भी यहाँ आने वाले पर्यटकों को कई प्रकार के भोजनो की पेशकश करता है। यह स्थल का भोजन में पर्यटकों को उँगलियाँ चाटने पर मजबूर कर देते है। माथेरान के प्रसिद्ध भोजन में सबसे अधिक कबाब, वड़ा पाव और लोकप्रिय मिठाई चिक्की मुख्य है। उसके अलावा शहर के कई होटल महाराष्ट्रीयन, मुगलई, गुजराती, पंजाबी और चाइनीज व्यंजनों भी उपलब्ध होते है।

माथेरान में रुकने के लिए होटल्स

अगर आप परिवार और दोस्तों के साथ माथेरान हिल स्टेशन यात्रा करते है। तो आपको वहाँ रुकने  हाई बजट से लेकरके लौ बजट की सभी होटल उपलब्ध होती है। आपको माथेरान के बेस्ट टूरिस्ट प्लेसेस के पास ही होटल्स मिलते है। उसमे से कुछ नाम हम बताएँगे अगर आपको पसंद आते है। तो बुकिंग कर सकते है। उसमे आपको हर तरह की फेसिलिटी मिलती है।

  • Lords Central Hotel
  • Adamo The Village
  • Westend Hotel
  • Park View Hotel
  • Adamo the Resort

    माथेरान फोटो
    माथेरान फोटो

माथेरान हिल स्टेशन केसे पहुचें

ट्रेन से माथेरान केसे पहुचें

अगर आप ट्रेन से सफर कर रहे हैं तो नेरल स्टेशन माथेरान से सबसे नजदीक है।

इनके बीच की दूरी लगभग 21 किलोमीटर की है।

इसके बाद आप मुंबई और पुणे पहुंचने पर यहां से आप डेक्कन एक्सप्रेस

या सहयाद्री एक्सप्रेस में टिकट बुक करवा सकते हैं।

ये नेरल तक जाती हैं। नेरल से आप सड़क मार्ग के जरिए

करीब आधे घंटे में माथेरान आसानी से पहुंच सकते हैं।

सड़क मार्ग से माथेरान केसे पहुचें

माथेरान जाने के लिए आप मुंबई या फ़िर पुणे से स्टेट ट्रांसपोर्ट की बस ले सकते हैं।

अगर आप माथेरान घूमने के लिए खुद की कार ले जाना चाहते हैं।

तो ये भी अच्छा ऑप्शन है। लेकिन एक बात जो ध्यान देने वाली है वो है।

ये की आपको अपनी गाड़ी दस्तूरी पॉइंट पर पार्क करनी पड़ेगी।

इसके बाद ही आप यहां से शहर के अंदर जा सकते हैं।

matheran photoshoot
matheran photoshoot

फ्लाइट से माथेरान केसे पहुचें

माथेरान के सबसे नजदीक के एयरपोर्ट मुंबई (100 किलोमीटर) और पुणे (120 किलोमीटर) पर हैं।

इन एयरपोर्ट्स से आप बस या टैक्सी बुक कर भी सीधे माथेरान जा सकते हैं।

यहां पर वाहन बैन होने के कारण आपको शहर से करीब 2.5 किलोमीटर बाहर ही उतरना पड़ेगा।

वहां से आप घोड़े की सवारी करके या फ़िर रिक्शा के जरिए भी आप माथेरान घूम सकते हैं।

Matheran Location माथेरान का मेप

Matheran Hill Station Information in Hindi Video

Interesting Facts

  • माथेरान हिल्स पर किसी भी प्रकार का वाहन नहीं ले जा सकते है।
  • खतरनाक रास्ते होने के कारन यहां गाड़ियां ले जाने पर सख्त प्रतिबंध है।
  • माथेरान को पर्यावरण संवेदनशील क्षेत्र घोषित किया गया है।
  • माथेरान बेहद खूबसूरत और सबसे छोटा हिल स्टेशन है।
  • वीकेंड के लिए महाराष्ट्र का माथेरान हिल स्टेशन बिल्कुल परफेक्ट स्थल है।

FAQ

Q : माथेरान कहा है?

Ans : यह हिल स्टेशन महाराष्ट्र के रायगढ़ जिले में स्थित है।

Q : क्या अब माथेरान खुला है?

Ans : हा अब माथेरान खुला है।

Q : मैं माथेरान कैसे जा सकता हूँ?

Ans : सड़क मार्ग, हवाई मार्ग या ट्रेन से माथेरान जा सकते है।

Q : माथेरान जाने का सबसे अच्छा समय क्या है?

Ans : अप्रैल से मई और अक्टूबर से जनवरी

Q : क्या हम माथेरान जा सकते हैं?

Ans : हा आपको माथेरान एकबार जरूर देखना चाहिए।

Conclusion

आपको मेरा Matheran Hill Station Information in Hindi बहुत अच्छी तरह से समज आया होगा। 

लेख के जरिये matheran hotels और

matheran weather से सबंधीत  सम्पूर्ण जानकारी दी है।

अगर आपको किसी जगह के बारे में जानना है। तो कहै मेंट करके जरूर बता सकते है।

हमारे आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ शयेर जरूर करे। जय हिन्द।

Note

आपके पास Matheran resort या matheran hill station points की कोई जानकारी हैं। 

या दी गयी जानकारी मैं कुछ गलत लगे / तो दिए गए सवालों के जवाब आपको पता है।

तो तुरंत हमें कमेंट और ईमेल मैं लिखे हम इसे अपडेट करते रहेंगे धन्यवाद। 

इसके बारेमे भी जानिए –

पन्हाला किला का इतिहास और घूमने की जानकारी

चोखी ढाणी जयपुर घूमने की जानकारी

होयसलेश्वर मंदिर का इतिहास

कलिंजर किले का इतिहास और घूमने की जानकारी

अंकोरवाट विश्व का सबसे बड़ा हिन्दू मंदिर

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *