Jim Corbett National Park Information in Hindi

Jim Corbett National Park Information in Hindi | जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क

जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क (Jim Corbett National Park) रामगंगा नदी के किनारे और हिमालय पर्वत की तलहटी में उत्तराखण्ड के नैनीताल जिले में स्थित है। जिम कॉर्बेट राष्ट्रीय उद्यान रॉयल बंगाल टाइगर की लुप्तप्राय प्रजातियां के लिए जाना जाता है।

जानवरों की 50 प्रजातिया, पेड़ों की लगभग 50 प्रजातिया, 580 पक्षियों की प्रजातियां और सरीसृप की 25 प्रजातियां पाई जाती है। 500 से अधिक वर्ग मीटर क्षेत्र में फैला हैंली नेशनल पार्क के नाम से स्थापित किया गया था। 1936 की साल में बंगाल बाघ की रक्षा के लिए उसको बनाया गया था। क्योकि बागो की लुप्तप्राय प्रजातियां के लिए यह बहुत जरुरी था। जिम कॉर्बेट राष्ट्रीय उद्यान क्षेत्र में बेल्ट, झीलें, पहाड़ी, नदियां, दलदली अवसाद और घास के मैदान हैं।

जिम कॉर्बेट राष्ट्रीय उद्यान भारत का सबसे पुराना राष्ट्रीय उद्यान है। उसका नाम कारन उसकी स्थापना में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले जिम कॉर्बेट के नाम से किया गया था। Jim Corbett National Park in Hindi में आपको नेशनल पार्क की सैर कराने वाले है। आज हम where is jim corbett national park, jim corbett national park is located in और jim corbett national park resorts की जानकारी बताएँगे तो चलिए

Jim Corbett National Park Information in Hindi –

नाम  जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क
स्थापना 1936 (राष्ट्रीय उद्यान)
पहचान   भारत का सबसे पुराना और का पहला राष्ट्रीय उद्यान
उद्देश्य पहली भारतीय बाघ संरक्षण परियोजना
पता रामनगर शहर, नैनीतैल जिला, उत्तराखंड, भारत
क्षेत्र 1318.54 वर्ग किमी
बफर क्षेत्र 797.72  वर्ग किमी
प्रमुख क्षेत्र 520.8 वर्ग किमी
देशांतर 7805′ पू से 7905′ पू
आक्षांश 29025′ पू से  29040′ उ
समुद्र तल से ऊंचाई 385 मी – 1100 मी उपर
साल में वर्षा 1400-2800 मिमी
तापमान गर्मियों में 42°सेल्सि एव सर्दियों में 4° सेल्सि
जलवायु पूरे वर्ष समशीतोष्ण

Jim Corbett National Park History in Hindi –

जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क का इतिहास देखे तो लेखक और प्रसिद्ध वन्यजीव संरक्षणवादी जिम कॉर्बेट ने 1930 की साल में ब्रिटिश सरकार की सहायता से हैली नेशनल पार्क की स्थापना की थी। उसके बाद 1936 की साल में 300 वर्ग किमी के क्षेत्र में हैली नेशनल पार्क नाम का एक वन्यजीव आरक्षित पार्क स्थापित हुआ। 1956 की साल में हैली नेशनल पार्क का नाम बदलते हुए जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क रखा गया था। उसका मुख्य कारन जिम कॉर्बेट थे। जिन्होंने न्य जीवन के संरक्षण के योगदान दिया और पार्क स्थापना में उन्होंने बहुत ही अच्छी भूमिका निभाई थी।

1974 की साल में जिम कॉर्बेट राष्ट्रीय उद्यान वन्यजीव संरक्षण अभियान द्वारा प्रोजेक्ट (jim corbett national park where) टाइगर को बाघ संरक्षण के लिए पसंद किया गया था। 1991 में वन विभाग के तहत सोनांडी वन्यजीव अभयारण्य क्षेत्र तत्काल सीमा में जोड़ा था। जिम कॉर्बेट राष्ट्रीय पार्क का इतिहास काफ़ी समृद्ध है। पहले यह टिहरी गढ़वाल के शासक राजाओ की सम्पत्ति हुआ करता था। उस समय यह खूंखार जंगली जानवर रहते थे। उस समय शाल वृक्षों का रोपण करके 1879 में वन विभाग ने अपने अधिकार में ले लिया था।

जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क का इतिहास
जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क का इतिहास

इसके बारेमे भी जानिए – टिहरी बाँध का इतिहास और घूमने की पूरी जानकारी

Best time to visit Jim Corbett National Park –

जिम कॉर्बेट राष्ट्रीय उद्यान की यात्रा करने का सबसे अच्छा समय बताये तो पूरे साल आप जा सकते है। मगर सबसे अच्छा समय नवंबर से फरवरी का होता है। क्योकि उस समय आपको अधिक जानवरों को देखने का मौका मिलता है। यहाँ गर्मियों के मौसम में जानवरों को जलाशय के पास देखने का यह अच्छा समय होता है। बारिश में यानि जून- अगस्त) का समय पार्क में जाने के लिए अच्छा नहीं रहता है। क्योकि उस समय में पार्क बंद रहता है।

जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क जानकारी
जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क जानकारी

कॉर्बेट नेशनल पार्क के जानवर-

Fauna in Corbett National Park की बात करे तो जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क पशुओ को रहने के लिए बहुत अच्छा अनुकूल स्थान हैं। पार्क में दिखाई देतेव जानवरों में चीता, हाथी, बाघ, हिरण, पाढ़ा, साम्बर, बार्किंग हिरन, जंगली सूअर, स्लोथ भालू, घूरल, रेसस बंदर और लंगूर शामिल हैं। पार्क में घड़ियाल एव एशियाई हाथी के साथ लुप्तप्राय प्रजातियों का आवास है। यहाँ का मुख्य आकर्षण राजसी रॉयल बंगाल टाइगर कहे जाते है।

उसके अलावा 600 प्रजातियों के रंगबिरंगे पक्षी में तीतर, मोर, कबूतर, हॉर्नबिल, उल्लू, बार्बिट, मैना, चक्रवाक, मैगपाई, तीतर, मिनिवेट, चिड़िया, नॉटहैच, टिट, वागटेल, बंटिंग, सनबर्ड, ओरियल, ड्रोंगो, किंगफिशर, कबूतर, बतख, कठफोडवा, चैती, सारस, गिद्ध, जलकाग, फ्लायकेचर, बाज़ और बुलबुल शामिल हैं। जंगल में आपको 51 प्रकारकी झाडियाँ 30 प्रकार के बाँस एव 110 प्रकार के विभिन्न पेड़ दिखाई देते है। जोभी कॉर्बेट नेशनल पार्क के सुनसान जंगलों गुमने जाते है।

वहा ढिकाला पाटिल दून घाटी के तट पर स्थित है। ढिकाला से सभी को घाटी का मनोरम दृश्य दिखाई देता है। कांडा पर्वतश्रेणी भी दिखाई देती है । वह पर जाते हुए आपको चीतल, जंगली हाथी, हिरण और पक्षियों की प्रजातिया को देखने का मजा मिल सकता है। यह जाने के लिए आपको अनुभवी गाईड को हायर करना चाहिए। उसके आलावा जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क में मुगर मगरमच्छ, लुप्तप्राय सरीसृप, और किंग कोबरा दिखाई देते है।

Jim Corbett National Park photo
Jim Corbett National Park photo

Flora in Corbett National Park –

जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क में पाए जाने वाले वनस्पति में यहाँ पर 600 प्रजातियाँ पाई जाती हैं। 521 वर्ग किमी के विशाल क्षेत्र में फैले पार्क में विविध वनस्पतियों का भंडार है। जिसमे अल्पाइन वनस्पति और ताजे पानी की वनस्पति देखने को मिलती हैं। पार्क में साल के पेड़ अधिक दिखाई देते है जो 75% से अधिक हिस्से को कवर करता है।

वृक्ष में सबसे मुख्य प्रजातियों में खैर, साल, और सिसो के पेड़ होते हैं। हरियाली से भरे यहाँ स्थान पर देखने वाले यात्रिको के मन को खुबसूरत पेड़-पौधे अपनी और खींच लेते हैं। आपको यहाँ पर चीड़ का एकमात्र शंकुधारी वृक्ष देखने को मिलता है। उसके अलावा काचरन, सेमल, जंगल की आंच और और चमकीले नारंगी फूल ढाक भी दिखाई देते है।

Images for Jim Corbett National Park
Images for Jim Corbett National Park

इसके बारेमे भी जानिए – भाखड़ा बांध का इतिहास

Jungle Safari Jim Corbett National Park –

यह जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क (Corbett National Reserve) में जंगल सफारी करना बेहद ही जरुरी है। क्योकि हिमालय की तलहटी के विशाल क्षेत्र में फैला park टाइगर रिजर्व का हिस्सा है। यहाँ की यात्रा करना आपके लिए बेहद यादगार हो सकता है। उसकी वजह छोटी नदियां, पर्णपाती एव उप-उष्णकटिबंधीय जंगल, सरीसृपों, पक्षियों और जानवर यह जगह को बेहद आकर्षक और खास बनाते हैं। यहाँ पर सफारी करना आपके जीवन का एक यादगार प्रसंग हो सकता है। आपको यहाँ एलिफेंट सफारी, जीप सफारी और कैंटर सफारी का मजा मिल सकता है। आप अपनी यात्रा का मजा लेने के लिए सफारी की यात्रा कर सकते है।

यहाँ पर आपको पाँच सफारी जोन मिलते है। जिसमे ढिकाला ज़ोन, ढेला ज़ोन, दुर्गादेवी ज़ोन, झिरना ज़ोन और बिजरानी ज़ोन शामिल है। सोननदी वन्यजीव अभयारण्य देखना अभी बेहद ही आनंद दे सकता है। उसको सीतावनी जोन भी कहते है। यह पार्क के बहार है। जहा पर आपको जंगली सूअर, रॉयल बंगाल टाइगर, भौंकने वाले हिरण, सियार, सांभर हिरण, हिमालयी भालू, हॉग हिरण, हाथी और स्लोथ जैसे देखने को मिलते है। यह जानवरों की उत्तम प्रजातियों को देखना जंगल साफरी के समय मिस ना करें।

Jim Corbett National Park Images
Jim Corbett National Park Images

सफारी का समय सर्दी में 

सुबह 7:30 बजे से 10:30 बजे

शाम 3:00 बजे से 6:00 बजे

सफारी का समय गर्मीयो में 

सुबह 6:30 बजे से 9:30 बजे

शाम 4:00 बजे से 6:00 बजे

Durga Devi Zone –

रामनगर से से 36 किमी जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क की उत्तर-पूर्वी सीमा पर दुर्गा देवी जोन स्थित है। यह जगह पक्षी प्रेमियों के लिये आकर्षण का केन्द्र है। राष्ट्रीय उद्यान में ख़ास रूप से दिखाई देते अभी पक्षियों को देखने के लिए यह प्रसिद्ध स्थान है। सारे रिजर्व में आपको ज्यादा पक्षी यहीं देखने को मिलते हैं। जिससे यह स्थान पक्षी प्रेमियों के लिये मुख्य केंद्र बना है। आप यहाँ पर फोटोग्राफी भी कर सकते है।

जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क की फोटो
जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क की फोटो

Bijrani zone –

रामनगर से 1 किलोमीटर दूर प्राकृतिक सुंदरता एव हरे भरे घास के मैदानों के लिये बिजरानी ज़ोन प्रसिद्ध है। यहाँ पर आपको जंगली जीव स्पष्ट दिखाई देते है। यह आपको एक अलग शांति का एहसास करा सकता हैं। यह जगह की पार्क की सुंदर जगहों में से एक माना जाता है। पर्यटक ज्यादातर यही पर ही सफारी करना पसंद करते हैं।

Dhikala Zone –

ढिकाला सफारी जोन सबसे अलग क्षेत्र होने के कारन सैलानियों का सबसे पसंदीदा क्षेत्र है।

आप अगर पूरा दिन यही व्यतीत करना चाहते है। तो रामनगर से 18 किमी दूर यह स्थित है।

यहाँ आप पूरी तरह से आनंद लेना चाहते है। तो आपको रात रुकना चाहिए।

यहाँ रात गुजारना आपके मन को रोमांच दे सकता है।

booking at jim corbett national park
booking at jim corbett national park

इसके बारेमे भी जानिए – जोग जलप्रपात शिमोगा कर्नाटक

Dhela Safari Zone –

सैलानियों के लिए जिम कॉर्बेट राष्ट्रीय उद्यान में पूरे तरीके से खुला ढेला सफारी जोन है। यह जगह को 2014 के नवंबर में टाइगर रिज़र्व ज़ोन में मिलाया था।  आपको बतादे की यह एक नया इको टूरिज्म ज़ोन है। यहा के समृद्ध जैव विविधता और हरे भरे वन पर्यटकों को बहुत आकर्षित करते है। उसे देखके सैलानियों के मन आनंदित हो जाते है। ढेला सफारी जोन रामनगर से 13 किलोमीट दूर स्थित है। 

Tourist zone –

Corbett National Park Images
Corbett National Park Images

यात्रियों और पर्यटकों के लिए टूरिस्ट जोन बनाया गया है। आने वाले सैलानियों के लिए जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क में सफारी से घूम के लिए बनाया है। यहाँ से आप बहुत आसानी के साथ जानवरों को पास से देखकर आनंद उठा सकते हैं।

Jhirna Safari Zone

रामनगर शहर से 16 किमी दूर पर झिरना सफारी जोन स्थित है। यह झिरना गेट को सभी से अलग तरीके से बनाया गया महत्वपूर्ण पर्यटन स्थान है। यह स्थान शहर की सीमा से अच्छी तरह जुड़ा है। यह स्थान भालू को देखने के लिए प्रसिद्ध है। और यहाँ जाने के लिए आपको टैक्सियों एव बसों की सुविधा उपलब्ध हो सकती है।

Jim Corbett National Park
Jim Corbett National Park

जिम कार्बेट नेशनल पार्क कैसे पहुंचे –

रामनगर से दिल्ली 260 किलोमीटर 

नैनीताल से रामनगर 62 किलोमीटर

लखनऊ से रामनगर 436 किलोमीटर

देहरादून से रामनगर 232 किलोमीटर

रेलवे से जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क कैसे पहुँचे –

How to Reach Jim Corbett National Park by Train – जिम कॉर्बेट का नजदीकी रेलवे स्टेशन रामनगर है। यह रेलवे स्टेशन पार्क से 12 किमी दूर स्थित है। यह रेलवे स्टेशन वाराणसी, लखनऊ, दिल्ली और हरिद्वार जैसे बड़े शहरो से बहुत अच्छे से जुड़ा हुआ है। और नियमित रूप से सीधी ट्रेन चलती है। दिल्ली से रामनगर के लिए एक ट्रेन और मुरादाबाद के लिए एक चलाई जाती है। उसके अलावा दिल्ही के लिए आप हल्दवानी या काठगोदाम पहुंच के टैक्सी के जरिए पहुंच सकते है। 

सड़क मार्ग से जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क कैसे पहुंचें –

How to Reach Jim Corbett National Park – दिल्ली से कॉर्बेट नेशनल पार्क की दूरी 261 किलोमीटर है। रामनगर देश के सभी शहरों से बहुत अच्छे से जुड़ा है। नैनीताल, हरिद्वार और दिल्ली जैसे मुख्य शहरों के लिए रामनगर से नियमत बसें चलाई जाती है। दिल्ही से 6 घंटे की ड्राइव करते हुए सड़क मार्ग से आप रामनगर पहुंच सकते है। भारत के उत्तराखंड राज्य के रामनगर में पार्क स्थित है।

jim corbett national park photos uttarakhand
jim corbett national park photos uttarakhand

जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क फ्लाइट से कैसे पहुंचे –

How to Reach Jim Corbett National Park – रामनगर का निकटतम घरेलू हवाई अड्डा पाटनगर हवाई अड्डा है। वह रामनगर से 50 किलोमीटर दूर स्थित है। वहा उतरके आप बहुत आसानी से टेक्सी या कैब की सहायता से बहुत आसानी से कॉर्बेट नेशनल पार्क पहुंच सकते है। पार्क का निकटतम अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा दिल्ली में IGI हवाई अड्डा है। यह यहाँ से तक़रीबन 235 किलोमीटर दूर स्थित है। जो विस्व के सभी मुख्य शहरों से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है।

इसके बारेमे भी जानिए – साइंस सिटी गुजरात

Jim Corbett National Park Location – जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क का पता


Nainital District, Ramnagar, Uttarakhand 244715

Jim Corbett National Park Information in Hindi Video –

Interesting Fact –

  • भारत के उत्तराखंड के नैनीतैल और पौड़ी जिला के रामनगर शहर में जिम कॉर्बेट राष्ट्रीय उद्यान फैला है।
  • जिम कॉर्बेट राष्ट्रीय उद्यान 50 स्तनधारियों, 577 पक्षियों और 25 सरीसृप प्रजातियों का निवास स्थान है।
  • कॉर्बेट राष्ट्रीय उद्यान में पक्षियों की प्रजातियों को 5 अलग अलग श्रेणियों में विभाजित किया गया है।
  • साल में करीब 70 हजार टूरिस्ट्स भारत के अलावा दुनियाभर से जिम कॉर्बेट देखने आते हैं।
  • दिल्ली से रामनगर के लिए सीधी ट्रेन भी चलती है।
  • उद्यान में घूमने का सबसे अच्छा मौसम 15 नवम्बर से 15 जून है।
  • जिम कॉर्बेट की मुख्य नदी रामगंगा और सोनांदी, पलेन और मंडल नदी भी दिखाई देती है। 

FAQ –

Q : जिम कॉर्बेट कहाँ पर है?

Ans : भारत के उत्तराखंड के नैनीतैल जिला के रामनगर शहर में जिम कॉर्बेट राष्ट्रीय उद्यान स्थित है।

Q : जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क का पुराना नाम क्या है?

Ans : हेली नेशनल पार्क जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क का पुराना नाम है। 

Q : जिम कॉर्बेट का जन्म कब हुआ था?

Ans : 25 July 1875 को जिम कॉर्बेट का जन्म हुआ था।

Q : कार्बेट राष्ट्रीय उद्यान की स्थापना कब की गई?

Ans : 1936 की साल में कार्बेट राष्ट्रीय उद्यान की स्थापना हुई थी।

Q : हेली नेशनल पार्क की स्थापना कब हुई?

Ans : हेली नेशनल पार्क की स्थापना 1936 में हुई थी।

Q : जिम कॉर्बेट में कौनसी नदियां बहती हैं?

Ans : रामगंगा एव उसकी सहायक नदियां सोनांदी, पलेन और मंडल भी जिम कॉर्बेट में बहती हैं।

Q : जिम कॉर्बेट कितने दिन में घूमा जा सकता है?

Ans : आप प्रकृति प्रेमी है और आपको पूरा पार्क गुमना है। तो चार दिन का समय चाहिए।

इसके बारेमे भी जानिए – नंदी हिल्स का इतिहास

Conclusion –

आपको मेरा Jim Corbett National Park Information in Hindi बहुत अच्छी तरह से समज आया होगा। 

लेख के जरिये jim corbett national park kahan hai और

जिम कॉर्बेट राष्ट्रीय उद्यान का पुराना नाम से सबंधीत  सम्पूर्ण जानकारी दी है।

अगर आपको किसी जगह के बारे में जानना है। तो कहै मेंट करके जरूर बता सकते है।

हमारे आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ शयेर जरूर करे। जय हिन्द।

Note –

आपके पास jim corbett national park hotels या jim corbett national park booking की कोई जानकारी हैं। 

या दी गयी जानकारी मैं कुछ गलत लगे / तो दिए गए सवालों के जवाब आपको पता है।

तो तुरंत हमें कमेंट और ईमेल मैं लिखे हम इसे अपडेट करते रहेंगे धन्यवाद। 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *