History of Neemrana Fort in Hindi – नीमराना किले का इतिहास हिंदी में

Neemrana Fort 15 वीं शताब्दी 1464 में निर्मित है | नीमराना किला अदभुत सौंदर्य का प्रतीक है। यह राजसी किला पहाड़ी के ऊपर 10 हेक्टर क्षेत्र प्रसार हुवा है

जो राजस्थानी की परंपरा और आधुनिक शैली के आंतरिक मिश्रण को प्रदर्शित करता है| जो अब यह नीमराना किला एक लक्जरी रिसॉर्ट में बदल गया है जिसके चारों ओर हैंगिंग गार्डन और दो पूल और खूबसूरत कमरे शामिल है

शानदार, रोमांटिक और आनंद से भरा नीमराना किला नीमराणा में यात्रा के लिए सबसे अच्छे स्थलों में से एक है। जो यात्रिको के लिए लोकप्रिय बना हुआ है

लोग छुटियाँ के कुछ दिनगुजारने के लिए नीमराना किला आपके जीवन का सबसे अच्छा स्थान हो सकता है, जहा आप आपकी जिंदगी के कुछ समय सुखद माहोल मेंबिता सकते हैं। तो यदि आप नीमराणा किले जाये तो नीमराना की बावड़ी भी देख सकते है |

नीमराना दुर्ग के आसपास अनेक गुमने के स्थल है जो यात्रिको को अपनी और आकर्षित करते है। आप नीमराना किले से जुड़ी अन्य अधिक जानकारी पाना चाहते है तो हमारे इस आर्टिकल को पूरा जरूर पढ़े।

किले का नाम नीमराना किला
स्थान अलवर
राज्य राजस्थान (भारत)
निर्माण ई.स 1464
निर्माता निमोला मेउ
वास्तुकला की शैली मुगलकालीन और राजंपूताना
किले के कुल कमरे 72 कमरे
किला कितना मंजिला है 10 मंजिला
हालीमे किला क्या है एक टूरिस्ट रेस्टोरेंट

Table of Contents

नीमराना किले का इतिहास – History oF Neemrana Fort

नीमराना दुर्ग के क्षेत्र में निमोला मे वहा का मुखिया था उस मुखिया के नाम पर से इस किले नाम नीमराना रखा गया था। परन्तु पृथ्वीराज चौहान ने वह मुखिया को पराजित कर के शहर को अपने क्षेत्र में शामिल कर लिया था।

पृथ्वीराज चौहाण ने हराने के बाद उस मुखिया ने एक बातकही थी की मुखिया का नाम इस किले के साथ जोड़ी जाये | तब उस समय पृथ्वीराज चौहान ने उसकी बात का स्वीकार कर लीया और यह शहर नाम मुखिया का दिया।

ई.स 1464 में निर्माण किये नीमराना किले को पृथ्वीराज चौहान ने उत्तराधिकारी राजधानी के एक विभाग के रूप में शामिल किया था |

ई.स 1192 में पृथ्वीराज चौहान को मोहम्मद ग़ोरी ने हराया था। परन्तु जब भारत में अंग्रेज सरकार का शासन था तब चौहान के उत्तराधिकारी की ताकत कम पड़ गयी थी परन्तु उन्होंने कभी भी अंग्रेजो के सामने हार नहीं मानी थी।

History of Neemrana Fort in Hindi - नीमराना किले का इतिहास हिंदी में
History of Neemrana Fort in Hindi – नीमराना किले का इतिहास हिंदी में

ई.स1947 साल में राजा राजिंदर सिंह ने नीमराना किले का त्याग कर दिया और विजयबाग को एक मोहरे के विभाग के रूप में उपयोग करने का सोचा था। राजा राजिंदर सिंह ने करीबन चालीस सालों तक इस किले को बेचने के लिए खरीदार की राह देखी थी।

आखिरकार 1986 में इस किले की मरम्मत की गयी। सन 1991 में इस किले को लोगो को देखने के लिए खुला किया गया और उसमेसे 15 कमरों में लोगो को रहने के लिए इजाजत भी दी गयी।

उस वक्त इस किले को इन्ताच सत्ते पुरस्कार दिया था और उसके साथ ही आगा खान पुरस्कार के सम्मानित किया गया था |

ई.स 2008 की साल तक नीमराना किला एक महल neemrana fort-palace का रूप ले चूका था और इसमें 72 कमरोका निर्माण करवाया था कई सारे हैंगिंग गार्डन्स, रेस्टोरेंट और काफी बड़े बड़े तालाबो का भी इसमें निर्माण करवाया था।

एक समय में नीमराना किला पूरी तरह से खंडहर बन चूका था परन्तु अब नीमराना किला एक भव्य और सुन्दर आकर्षित महल का रूप ले चूका है।

नीमराना किला कहा स्थित है –

नीमराना किला राजस्थान की अरावली की पहाडिय़ों पर अलवर जिले में स्थित ऐतिहासिक किला मौजूद है |

नीमराना किले का निर्माण कब हुवा था –

नीमराना किला 15 वीं शताब्दी ई.स1464 में इस किले का निर्माण हुवा था |

नीमराना किले का निर्माण किसने करवाया था –

नीमराना किले का निर्माण राजा निमोला मेउ ने करवाया था

नीमराना किला कितना पुराना है – How old is Neemrana fort

नीमराना किला 552 साल पुराना माना जाता है।

नीमराना किले का नाम कैसे पड़ा –

नीमराना ऐतिहासिकन जरमें भी काफी महत्वपूर्ण है। उसे पृथ्वीराज चौहान के वंशजों ने अपनी राजधानी का हिस्सा बनाया |
पृथ्वीराज चौहान की ई.स 1192 में मुहम्मद गौरी के साथ युद्ध में मौत हो गई थी।

इसके बाद चौहान वंश के राजा राजदेव ने नीमराना चुना लेकिन यहां का निर्माता मियो नामक बहादुर शासक था।

History of Neemrana Fort in Hindi - नीमराना किले का इतिहास हिंदी में
History of Neemrana Fort in Hindi – नीमराना किले का इतिहास हिंदी में

चौहानों से के साथ युद्ध मेंपराजित होने के पश्चात निमोला मेउ ने आग्रह किया कि उस जगह को उसका नाम दे दिया जाए, तभी से इस किले को नीमराना किला कहा जाता है।

नीमराना किले का नाम उस क्षेत्र के मुखिया राजा निमोला मेउ के नाम परसे रखा गया था।

नीमराना किले में कितने कमरे और कितना मंजिला है –

नीमराना किला कुल 10 मंजिलों पर बना हुवा है | इस किले में कुल 72 कमरे इस रिसोर्ट में हैं। इसे ई.स1986 में हेरिटेज रिजॉर्ट केविभाग में शामिल कर दिया गया।

यहां नजारा महल और दरबार महल में कॉन्फ्रेंस हाल है। इस किले में बदले इस किले में कई रेस्टोरेंट बने हैं। इस पैलेस में ओपन स्विमिंग पूल भी मौजूद है।

History of Neemrana Fort in Hindi - नीमराना किले का इतिहास हिंदी में

पर्यटकों के भोजन के लिए राजमहल खाने के लिए आमखास, पांच महल, अमलतास, अरण्य महल, होली कुंड , महा बुर्ज बने हुए हैं। इस किले की संरचना ऐसीबनाई गई है कि हर कदम पर शाही ठाठ का अहसासदिखाई देता है।

नीमराना बावड़ी की हिस्ट्री – History of Neemrana Fort Bawdi

नीमराना के अंदर स्थित नीमराना की बावड़ी बहुत पुरानी औरसुन्दर आकर्षित बहु-मंजिला स्मारक है। जो नीमराना के प्रमुख पर्यटक स्थलों में से एक है, और जो पर्यटकों के लिए लोकप्रिय बनी हुई है।

यह बावड़ी नीमराना महल के नजदीक स्थित है जिसमे 170 चरण हैं, और जैसे-जैसे हम नीचे जाते हैं निर्माण छोटा होता जाता है। नीमराना बावड़ी पुरानी वास्तुकला की सुंदरता कोप्रदर्शित करती है।

History of Neemrana Fort in Hindi - नीमराना किले का इतिहास हिंदी में
History of Neemrana Fort in Hindi – नीमराना किले का इतिहास हिंदी में

जिसमे पुराने निर्माण कला की उत्कृष्टता दिखाई देती है। नीमराणा किले में मौजूद यह बावड़ी 9 मंजिला स्मारक है और दरेक मंजिला की ऊँचाई करीबन 20 फीट है।

यह बावड़ी अंदर से ठंडा और नम है। यह बावड़ी का इस्तेमाल पिने के लिए पानी और सिंचाई दोनों के लिए उपयोग किया जाता था | इसके साथ पर्यटकोका आकर्षण का केंद्र बना हुआ है। जिस कारन पर्यटकों कि भीड़ ज्यादा देखी जाती है।

नीमराना किले में हम क्या कर सकते है –

नीमराना किले में आप विंटेज कार में गुम के आनंद कर सकते हैं।

नीमराने किले में एक रोमांचकारी जिप लाइनिंग टूर में आप शामिल हों सकते हैं।

नीमराना किले के सुंदर दृश्यों ,नजारो का आनंद लें सकते हैं।

नीमराना किले में रहने के लिए कितना खर्च होता है – Neemrana Fort Booking

Neemrana Fort Rooms Prices – नीमराना किले में अनेक शानदार कमरे मौजूद है | इस किले में आप 4,500 से 30,000 रूपए तक के रूम्स आप बुक करवा सकते है |

नीमराना किले में फोटोग्राफी और विडिओ शूट का कितना खर्च होता है –

नीमराने किले में फोटो लोकेशन फोटोग्राफी शूटिंग के लिए प्रति दिन 75 हजार रूपए का खर्च होता है | नीमराना किले में वीडियो शूटिंग का चार्जेस प्रति दिन 1.5 लाख का होता है 

नीमराना किले की रेस्टोरेंट कैसी है – Neemrana Fort Hotel

नीमराना रेस्टोरेंट में कईतरह की खाने की चीजे मिलती है। किले का रेस्टोरेंट बाकी के रेस्टोरेंट से बिलकुल ही अलग है इस कारण यहापर खाने के वक्त बहुत अलग मजा ले सकते है। पर्यटक यहाँ के किसीभी रेस्टोरेंट में खाना खा सकते है।

नीमराना किले में किसी भी तरह का किसी पर कोईभी नियंत्रण नहीं है। आप जिस होटल में रहते हो उसी होटल में खाना खाना जरुरी है।

History of Neemrana Fort in Hindi - नीमराना किले का इतिहास हिंदी में
History of Neemrana Fort in Hindi – नीमराना किले का इतिहास हिंदी में

आप झील के बाजु में बैठकर सुबह का नाश्ता कर सकते हो और और रात के समय में आप छत पर बैठकर भी खाने का मजा ले सकते हो। यहाँ का होटल खास तौर पर राजस्थानी और फ्रेंच की खाने की चीजो के लिए काफी प्रसिद्ध है लेकिन यहापर थाई, चायनीज, और इटालियन के व्यंजन भी मिलते है।

मगर हमें जिस तरह के पदार्थ चाहिए उस तरह के व्यंजन भी यहाँ के रसोईये बना के देते है। अगर होटेल के मेनू में आपके पसंद की कोई चीज नहीं तो आपके कह्ने पर वो भी जल्द बनाई जाती है।

जब लोग यहापर बड़ी संख्या में आते है तो उन्हें यहाँ के तोडा महल में भारत के किसी भी कोने की खाने की चीज मिल जाती है।

नीमराना रेस्टोरेंट में खाने में क्या मिलता है –

नीमराना किले की रेस्टोरेंट में खास तौर पर राजस्थानी और फ्रेंच की खाने की चीजो के लिए काफी प्रसिद्ध है लेकिन यहापर थाई, चायनीज, और इटालियन के व्यंजन भी मिलते है।

आप झील के बाजु में बैठकर सुबह का नाश्ता कर सकते हो और और रात के समय में आप छत पर बैठकर भी खाने का मजा ले सकते हो।

नीमराना किले में होने वाली एक्टिविटीज – Neemrana Fort Activities

  • कल्चरल इवेंट:

नीमराना किले में म्यूजिक फाउंडेशन हर हॉलिडे में कल्चरल इवेंट होता है। इस इवेंट में देश-विदेश के कई पर्यटक इसमें हिस्सा लेके परफॉर्म करते है।

  • जिप लाइन टूर:

यहां आप जिप लाइन टूर कामजा ले सकते हैं, इनमे से कई अलग – अलग शुल्क अदा करना पड़ता है। जिसमे एडल्ट के लिए 2299 रूपए और बच्चो के लिए 1999 रूपए और स्टूडेंट के लिए 1999 रूपए का शुल्क अदा करना पड़ता है।

  • विंटेज कार राइड:

नीमराना किले में ठहरने वाले पर्यटकों के लिए विंटेज कार राइड की फैसिलिटी भी की गई है। आपको विंटेज कार राइड का मजा लेने के लिए 1000 रूपए का खर्च होता हैं।

नीमराना किले का प्रवेश शुल्क कितना है – Neemrana Fort Entry Fee

नीमराना किले में घूमने के लिए यात्रिको को 1900 रूपए शुल्क अदा करना पड़ता है। Neemrana Fort Charges जिस शुल्क में लंच भी शामिल है। अगर आप लंच करना नही चाहते है तो आप को फ़क्त 750 रूपये शुल्क अदा करके नीमराना किले में घूम सकते है।

नीमराना किला जाने का अच्छा समय – Neemrana Fort Timings

नीमराना किले यात्रा की योजना बना रहे है तो आपको बता दे की नीमराना जाने के लिए जुलाई से मार्च का समय सबसे अच्छा माना जाता है

क्योंकि नीमराणा किला जाने के लिए सर्दियाँ का समय सबसे बहेतर समय माना जाता है क्योंकि इस समय मौसम बहुत सुहाना होता है। नीमराना चारोंतरफ से सुन्दर और आकर्षक दृश्यों से भरा हुआ है,

यहीउसकी वजह हैकि उस स्थल का मौसम ज्यादातर खुशनुमा बना रहता है। नीमराणा किला मानसून में ज्यादा बारिश का अनुभव नहीं करता है, इस कारन जुलाई और सितंबर के बीच का समय अच्छा है।

नीमराना किले की यात्रा के लिए टिप्स – Tips for visiting Neemrana Fort

नीमराना किले यात्रा के लिए सितंबर से मार्च के बीच योजना बनाना पसंद कीजिये। क्योंकि इस समय के दौरान मौसम बहोत अच्छा है, और शहर में गुमने के लिए बिल्कुल सही है।

नीमराना किमें गुमने के लिए धूप से बचने के लिए आप चश्मा, टोपी, तैराकी पोशाक और सनस्क्रीन का इस्तेमाल कर सकते है।
नीमराना किला हलचल वाले शहर के जीवन , परेशानी से दूर रहने के लिए एक खूबसूरत जगह है, और यहाँ के लोग राजघराने की तरह रहते हैं।

तो आप यह देखने के लिए कम से कम एक रात रुकना चाहिए। अगर आप नीमराना किले में कुछ दिन रहना चाहते हैं, तो अपने कमरे को पहले से ही बुक करवाना होगा।

खासकरके अगर आप पीक सीजन में जाना चाहते है तो। नीमराना में आप ट्रैकिंग और रोमांचित जिप लाइनिंग टूर में भी शामिल हो सकते है

नीमराना किले के आसपास के अन्य पर्यटन स्थल –

  • अलवर किला 

अरावली रेंज में एक पहाड़ी की चोटी पर निर्मित अलवर किला नीमराना का महत्वपूर्ण पर्यटक स्थल है। 15 वीं शताब्दी में हसन खान मेवाती द्वारा निर्मित अलवर किला 300 मीटर ऊंची चट्टान पर बसा है।

और यह उत्तर से दक्षिण तक 5 किमी और पूर्व से पश्चिम तक 1.6 किमी के क्षेत्र में फैला हुआ है।

किलों में प्रवेश के छह दरवाजे मौजूद हैं जिनमेंसे जय पोल, सूरज पोल, लक्ष्मण पोल, चांद पोल, कृष्ण पोल और अंधेरी पोल के नाम से जाने जाते हैं। येदरवाजे राजपूतों की वीरता और शिष्टता का वर्णन करते हैं।

महल की दीवारों को प्राचीन शास्त्र और मूर्तियों के साथ बारीक रूप से तैयार किया गया है। किले का एक-एक हिस्सा इतिहास की विशेषताओं से भरा हुआ है। जो पर्यटकों के साथ साथ इतिहास प्रेमियों के लिए भी आकर्षण का केंद्र बना हुआ है।

  • विनय विलास महल या सिटी पैलेस – Neemrana Fort Palace

विनय विलास महल नीमराणा के आकर्षक स्थानों में से एक है। यह एक वास्तुकला का नमूना है जिसमे शाही जीवन शैली की एक झलक दिखाई देती है।

इसके भूतल के अलावा, इनकी अन्य सभी मंजिलें एक संग्रहालय के रूप में मौजूद हैं, जो आपको पुराने ऐतिहासिक समय के मधुर रहस्यों और संस्मरणों और राजाओं की दृष्टि से परिचित कराती है।

तो आपको नीमराणा के यात्रा में बावड़ी के साथ साथ विनय विलास महल को भी अपनी सूची में अवश्य शामिल करना चाहिय।

  • सिलीसेढ़ झील 

अलवर जिले में सिलीसेढ़ झील राजस्थान के खुबसूरत झीलो में से एक है जो नीमराणा का लोकप्रिय जगहों में से एक है। सिलीसेठ जिल शहर के भीड़-भाड़ से दूर सुन्दर ,शांति, शुकून ,आकर्षित और मनोरंजन के लिए

History of Neemrana Fort in Hindi - नीमराना किले का इतिहास हिंदी में
History of Neemrana Fort in Hindi – नीमराना किले का इतिहास हिंदी मेंHistory of Neemrana Fort in Hindi – नीमराना किले का इतिहास हिंदी में

सिलीसेढ़ झील पर्यटकों के लिए प्रसिद्ध पिकनिक स्पॉट बना हुआ है। तो यदि आप नीमराना के यात्रा की योजना बना रहे है तो अपना कुछ समय सिलीसेढ़ झील में अवश्य बिता सकते है।

नीमराना किला अलवर कैसे पंहुचा जाये : 

नीमराना किला घूमने जाने के लिए दिल्ली से 122 कि.मी और जयपुर से 150 कि.मी की दुरी पर मौजूद है, नीमराना पहुचने के लिए आप ट्रेन, सड़क या हवाई मार्ग से भी जा सकते है।

नीमराना किला हवाई मार्ग से कैसे पहुचे :

आप हवाई जहाज से यात्रा करके नीमराना जाने की योजना बना रहे है तो बता दे कि नीमराना का निकटतम हवाई अड्डा इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा दिल्ली है,

जो नीमराणा से लगभग 100 कि.मी की दुरी पर स्थित है। आप दिल्ली तक किसी भी प्रमुख शहर से उड़ान भर सकते है, और फिर आप वहा से नीमराना यानि अलवर से बस या टैक्सी लेकर आप नीमराना किले तक पहोच सकते है।

नीमराना किला ट्रेन से कैसे पहुचे – How to reach Neemrana Fort by train

नीमराना शहर का नजदीकी रेलवे जंक्शन रेवाड़ी है, जो नीमराना से 40 कि.मी की दूरी पर स्थित है, और प्रमुख जंक्शन नई दिल्ली जंक्शन है, जोकरीबन 120 कि.मी दूरी पर है।

तो आप आपकी सुविधानुसार इनमें से किसी भीजंक्शन तक ट्रेन से यात्रा करके पहुच सकते है, और फिर वहा से नीमराना पहुँचने के लिए सीधी बस या टैक्सी का उपयोग कर सकते है।

नीमराना किला सड़क मार्ग से कैसे पहुचे :

नीमराना किला स्थित दिल्ली-जयपुर राजमार्ग पर चलने वाली सभी बसों का एक मुख्य पड़ाव है।और यह मुख्य शहरो से सड़क मार्ग से जुड़ा हुआ है तो यहाँ आप बस, कार या टैक्सी से नीमराना किले तक पहुंच सकते है।

दिल्ही से नीमराना किला कैसे पहुचे – Neemrana Fort From Delhi

आप हवाई जहाज से यात्रा करके नीमराना जाने की योजना बना रहे है तो बता दे कि नीमराना का निकटतम हवाई अड्डा इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा दिल्ली है। जो नीमराणा से लगभग 100 कि.मी की दुरी पर स्थित है।

अगर आप दिल्हि से नीमराना ट्रेन में यात्रा करना चाहते है तो प्रमुख जंक्शन नई दिल्ली जंक्शन है, जोकरीबन 120 कि.मी दूरी पर है। तो आप आपकी सुविधानुसार इनमें से किसी भीजंक्शन तक ट्रेन से यात्रा करके पहुच सकते है

Neemrana Fort Palace Booking Website -:

Neemrana Fort Contact – :

और भी पढ़े -:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *