Bhedaghat Tourist Places In Hindi | भेड़ाघाट धुआंधार जबलपुर की जानकारी

Bhedaghat Tourist Places In Hindi | भेड़ाघाट धुआंधार जबलपुर की जानकारी

हमारा भारत विविधताओं से भरा है। उसमे कई पर्यटक स्थल बहुत ही नयनरम्य होने के साथ कुदरत की अद्भुत रचना है। वैसे Bhedaghat Tourist Places In Hindi की जानकारी बताने वाले है। मध्यप्रदेश का भेड़ाघाट धुआंधार जबलपुर की पहचान माना  जाता है। 

भेड़ाघाट धुआंधार जबलपुर का सबसे अच्छा देखने योग्य पर्यटक स्थान है। धुआंधार झरने का पानी 30 मीटर की ऊंचाई से नीचे गिरता है। उनका नजारा बहुत ही नयनरम्य है। यहाँ आप गमरमर की चट्टानों एव झरने देखने का आनंद ले सकते है। Bhedaghat Mp वैसे तो एक जबलपुर जिले का एक नगर है। जबलपुर शहर से तक़रीबन 21 किलो मिटेर की दुरी पर नर्मदा नदी के किनारे भेड़ाघाट उपस्थित है। आज हम Bhedaghat Waterfall, Bhedaghat Best Time to Visit और Bhedaghat Tourism की सम्पूर्ण माहिती देने वाले है। 

हमारा यह आर्टिकल भेड़ाघाट के बारे में बताएंगा शानदार झरनों और संगमरमरीय सौंदर्य से भरा यह स्थान मध्यप्रदेश की एक अनोखी पहचान है। भेड़ाघाट में जलप्रपात चमकती हुई मार्बल की ऊंची चट्टनों तक़रीबन 100 फीट ऊँची है। यह चट्टानों पर जब सूर्य की किरणे और पानी पर छाया पड़ती है। तो एक जादुई प्रभाव डालती है। नर्मदा नदी यह सफ़ेद पत्थरो से गुजरती हुई। धुंआधार झरने में मिलती है। तो चलिए Dhuandhar Falls in Bhedaghat Jabalpur की सभी माहिती से ज्ञात करवाते है। 

Bhedaghat Tourist Places In Hindi –

मध्यप्रदेश का Bhedaghat Jabalpur एक अच्छा पर्यटक स्थल है। वह स्थान देखना अपने जीवन का एक सुखद अनुभव है। क्योकि वहा बोट राइडिंग भी मौजूद है। यह स्थान को चांदनी रात में देखना एक आल्हादक अनुभव है। चांदनी रात में यह जगह प्राकृतिक सुंदरता के साथ मनमोहक होता है। उस पहाड़ो के बीच में होने वाली नाव की यात्रा देखने वाले लोगो को बहुत आनंद देता है। आपको भेड़ाघाट में धार्मिक चिन्ह एव संगमरमर के हस्तशिल्प देखने और खरीदने को मिलते है। हर साल के कार्तिक में यहाँ मेला लगता है। दूर दूर से लोग यहाँ गुमने फिरने आया करते है। यह मेला हमारे भारतीय मेलों की कला और संस्कृति को उजागर करती है। 

इसके बारेमे भी जानिए – कामाख्या देवी मंदिर का इतिहास

भेड़ाघाट का इतिहास –

Bhedaghat History की बात करे तो उनसे जुड़ी कई कहानिया और किवदंतिया प्रचलित हैं। बुंदेल भाषा में भेड़ा का मतलब मिलना / भिड़ना होता है। उस जगह दो नदियां मिलने के कारन यह जगह का नाम कारन भेड़ाघाट रखा गया है। ऐसी कहानी प्रचलित है। यह इतिहास तक़रीबन 250 करोड़ वर्ष से भी पुराना माना जाता है। ऐसा जाता  कहा जाता है की प्राचीन समय  यह जगह पर पवित्र भृगु ऋषी का आश्रम हुआ करता था। वहा पवित्र बावनगंगा और नर्मदा का मिलन होता है।   

Bhedaghat Tourist Places In Hindi
Bhedaghat Tourist Places In Hindi

भेड़ाघाट के नजदीकी पर्यटक स्थल –

Balancing Rock –

बैलेंसिंग रॉक जबलपुर से सिर्फ 2 किमी दूर है। यह जगह शारदा देवी मंदिर रास्ते में पड़ती है। उस जगह दीर्घगोलाकर शिला आश्चर्यजनक स्थिति में एक विशाल पत्थर पर गुरूत्व केंद्र से टिका है। यह शिला भूतात्तिव वजह से अस्तित्व में आई ऐसा कहा जाता है। उनका मुख्य आकर्षण यह है। की यह पत्थर विशाल होते हुए भी सटीक गुरूत्व केंद्र के बल पर वर्तमान भी मूल  स्थिति में है। इतिहास रसिको के लिए यह स्थान बहुत ही मनमोहक लगता है। और Bhedaghat Jabalpur photos भी ले सकते है। 

Sea World Water Park –

Bhedaghat India का सी वर्ल्ड वाटर पार्क जबलपुर की बहुत ही अच्छी जगह है। क्योकि अगर आप अपने परिवार एव दोस्तों के साथ वक्त व्यतीत करने के लिए जा सकते है। यहाँ आप पूरा  मौज मस्ती कर सकते है। यहाँ कोस्टर की सवारी एव एडवेंचर वॉटर राइड ट्रिप है। वह वॉटर पार्क की जान है। सी वर्ल्ड वाटर पार्क सुबह दस बजे से शाम छ बजे तक खुला रहता है। जबलपुर से वॉटर पार्क 12 किलोमीटर दूर है। बच्चो के लिए 270 रूपए और बड़ो के लिए 360 रूपए प्रति व्यक्ति एंट्री फी है। Bhedaghat waterfall river बहुत ही नयनरम्य है। 

Chausath Yogini Temple –

चौंसठ योगिनी का यह हिन्दू मंदिर धुंआधार से थोड़ी दूर मौजूद है। हिन्दू वेदपुराणो और पौराणिक किवदंतियो  यह मंदिर देवी दुर्गा को समर्पित है। मंदिर की बनावट की बात कहे तो यहाँ कलचुरी वंश की यानि 10वीं शताब्दी की मूर्तियां होने का प्रतीत होता है। कई मुर्तिया टूट चुकी है। ऐसा कहा जाता है की मंदिर का भूमिगत मार्ग रानी दुर्गावती के महल से मिलता था। उस मंदिर के बीच भगवान शिव की मूर्ति स्थापित की हुई है। ऐसा कहा जाता है की 64 योगिनियां आज भी यहाँ पहरा देते है। इतिहासकारों के कहने पर यहाँ जगह का नाम गोलकी मठ था। 

Dhuandhar Falls –

Bhedaghat Waterfalls की बात करे तो नर्मदा नदी मार्बल की चट्टानों से गुजरती हुई दोनों किनारों की ऊंची चट्टानों को चीरती हुई अपना मार्ग प्रशस्त करती है। ऐसा कहे तो कुछ गलत नहीं है की चट्टानों से घिरा यह मशहूर मनमोहक स्थल है। माध्यम एव तेज गति से चलती हुई नदी 100 फुट नीचे झरने के स्वरूप गिरती है। उतना पानी निचे गिरने की वजह से धुंआ उठता है। एव यह फुहार घनी होकर धुएं में बदल जाती है। यह प्रतिक्रिया होने के कारन यह जगह को धुआंधार फॉल्स कहते है। पानी का प्रवाह तेज होने की वजह से आवाज भी सुनाई देती है। या स्थान घाट से 1 किलोमीटर दूर है। अगर केबल कार से देखना चाहते तो धुआंधार जलप्रपात देख सकते है। Dhuandhar Falls Distance From Jabalpur 35 किलोमीटर है। 

Marble Rocks Places – 

मार्बल रॉक्स वोटिंग एरिया भेड़ाघाट जबलपुर का मार्बल रॉक्स हमारे देखने योग्य स्थान हैं। मार्बल की संगमरमर जैसी चट्टानों पर ही अशोका फिल्म की शूटिंग हुई थी।  के गाने की शूटिंग में अभिनेत्री करीना कपूर खान ने पानी के मध्य में से शुटिंग करवाया था। यहाँ की संगमरमर पत्थरो की चट्टानें दर्शको के लिए सबसे खूबसूरत एव दर्शनीय स्थल  प्रतीति करवाता है। 

इसके बारेमे भी जानिए – डुमस बीच सूरत का इतिहास

भेड़ाघाट का मौसम –

मानसून में भेड़ाघाट जाने के लिए अच्छा समय नहीं माना जाता है। क्योकि यहाँ भारी बरिश हुआ करती है। उसकी वजह से सबकुछ बंध होता है। अगर आप को गर्मियों में भेड़ाघाट जाना चाहते है तो यहाँ का तपमान अधिकतम 34 डिग्री सेल्सियस रहता है। लेकिन मई -जून में यहाँ थोड़ी गर्मी हुआ करती है कोई दिक्कत नहीं होती है लेकिन आपको जाना है तो जा सकते है। सर्दियों  की बात करे तो मध्यप्रदेश राज्य में सर्दी  भी ज्यादा नहीं हुआ करती है। सर्दीयो के मौसम को यहाँ आने का सबसे अच्छा समय कहा जाता है। क्योकि उस यहाँ 10-20 डिग्री सेल्सियस तापमान से भेड़ाघाट मौसम बहुत ही सुहावना होता है। 

Bhedaghat की खरीदी –

  • हर कोई जगह का हर कोई चीज़ के लिए मशहूर हुआ करता है।
  • वैसे ही संगमरमर की कलाकृतियों के लिए भेड़ाघाट बहुत ही प्रसिद्ध है।
  • यहाँ पर सोपस्टोन बाजार का प्रसिद्ध बाजार लगता है।
  • उसमे आप देवी-देवताओं की मूर्तियां, एशट्रेज एव लिंगम जैसे हस्तशिल्प खरीद सकते हैं।
  • अगर आप भी यहाँ जाते है तो वह के देव देवताओ की मुर्तिया को लासकते है।
  • और उसे अपने पूजा घर मे स्थापित करके सेवा पूजा कर सकते है। 

नर्मदा महोत्सव –

हर साल भेड़ाघाट जबलपुर में कार्यक्रम का आयोजन हुआ करता है। जिन्हे नर्मदा महोत्सव कहते है। कुदरत के यह खूबसूरत रचना की जीतनी प्रशंसा उतनी काम है। नर्मदा महोत्सव उत्सव के भव्य कार्यक्रम में फिल्म और क्रिकेट के बड़े बड़े लोग शामिल होते है। और संगीत, नृत्य एव नाटक का मजा लेते है। यह कार्यक्रम अक्टूबर यानि शरद पूर्णिमा के आसपास आयोजन होता है। और उसमे कलाकारों एव प्रसिद्ध गायकों को बुलाया जाता है। यहाँ लोग रात में नौका विहार का मजा दूधिया सफेद पानी में लेते है। 

Laser Show

Jabalpur Bhedaghat को प्रसिद्ध करने के लिए Bhedaghat to Pachmarhi में लेजर शो की शुरुआत की गयी है। लेजर शो से पूरी दुनिया को नर्मदा का परिचय करवाया जाता है। वैसे तो Bhedaghat, Jabalpur River नर्मदा की गौरव गाथा सभी को पता है। लेकिन यहाँ की सारी बटप से वाकिफ करने के लिए आधुनिकता का उपयोग किया जाता है। उनके उपयोग से पत्थरो की संगमरमर खूबसूरत वादियों को कई लोगो को परिचित करवाया जाता है। यह का हजारो साल की परंपरा को आधुनिकता के जरिये दिखाया जाता है।

रविवार एव शनिवार को तीन शो दिखाते है। 30 मिनिट के शो में दस मिनिट का ब्रेक लिया जाता है। पहले शो में भेड़ाघाट की खूबसूरती दिखाई जाती है। दूसरे में देशभक्ति गीतों बजाके फाउंटेन की रंगबिरंगी फुहारों से दर्शकों को आकर्षित करते है। लेजर शो मंगलवार से शुक्रबार के दिन दो शो प्रदर्शित किया जाता है। पहला शो 7.30 से 8 बजे एव दूसरा 8:30 से 9 बजे प्रदर्शित किया जाता है। 

इसके बारेमे भी जानिए – साबरमती आश्रम का इतिहास

नौका विहार –

Boat Ride का समय सवेरे 10 से शाम 5 बजे तक हुआ करता है। अगर आपको संगमरमर पर सूरज की किरणें देखना है। तो आपको शाम चार बजे जा सकते है। आप को रोपवे का मजा लेना चाहते है ,तो पूरा एक घंटे क्ले सकते है। बोट राइड में कैप पहनना जरुरी माना जाता है। चांदनी रात में भी नाव की चलाई जाती है। लेकिन कुछ गलत न हो उसिलए अधिकारियों ने रात की बोट राइड के लिए मना करदिया है। लास्ट रोपवे शाम को 6 बजे पूर्ण हुआ करता है। नाव में तीन व्यक्तिओ को सवारी करने की व्यवस्था हुआ करती है। नाव की फ़ीस की बात करे तो 800 रूपए चार्ज लिया जाता है। और लाइफ जैकेट भी साथ में लेना जरुरी है। 

भेड़ाघाट की टाइमिंग – 

अगर आपको भेड़ाघाट गुमने फिरने जाना चाहते है तो आपको बतादे की केबल कार का वक्त सुबह 11 से शाम के 6 बजे और बोटिंग का समय सवेरे 8 बजे से शाम के 6 बजे तक बोटिंग माँ मजा ले सकते हैं। यहाँ की खूबसूरती को देखने के लिए आपको हमारे दिए समय पर भेड़ाघाट गुमने जाने से कोई परेशानी का सामना नहीं करना पड़ता है। 

Bhedaghat Best Time –

भेड़ाघाट जाने का सबसे अच्छा समय  बताये तो अक्टूबर से अप्रैल माह में यहाँ जाने से कोई दिक्कत का सामना नहीं करना पड़ेगा। क्योकि उस समय में यहाँ का मौसम बहुत ही लजवाब एव सुहावना होता है। उस समय में ज्यादा यात्रलुओ की संख्या सबसे ज्यादा होती है। बोटिंग का मजा लेना चाहते है। तो आपको भी अक्टूबर से अप्रैल के मध्य में ही भेड़ाघाट जाना चाहिए। जिससे मार्बल रॉक का सुखद नजारों का मजा आपको मिल सकता है। 

Bhedaghat की कुछ माहिती –

  • प्रकृति प्रेमियों चट्टान का निर्माण कैसे हाथी का पौन, हिरण मीरन कुंच, हाथी पैर,
  • एक गाय के सींघ एव घोड़े के पैरों के निशान आपको जरूर देखने चाहिए। 
  • भेड़ाघाट में प्राकृतिक सुंदरता के साथ साथ नर्मदा नदी पर नौका विहार आनंद ले सकते हैं।
  • प्रकृति प्रेमियों के साथ आप बंदर कूदनी  मजा ले सकते है।
  • उस जगह नाव में बैठे हुए संगमरमर की चट्टानों से गुजरते हुए जाते है।
  • दोनों पहाड़ के बिच इतने करीब होते हैं। की बंदर आपके चारों ओर कूदने है।
  • उस कारन से ही यह स्थान को बंदर कूदनी कहते है।
  • मार्बल रॉक्स का सफर करते हुए नाव की सवारी में आपका गाइड कॉमिक शैली में
  • आपको कहानी सुनाके मनोरंजन किया करता है। 

इसके बारेमे भी जानिए – बठिंडा का किला मुबारक की जानकारी

Jabalpur to Bhedaghat पहुंचने का रास्ता –

अगर आपको यह खूबसूरत स्थान पर जाना है। तो आपको उनका रास्ता मालूम होना जरुरी है। मध्यप्रदेश के जबलपुर जिले में भेड़ाघाट स्थित है। अगर आपको रेलवे  माध्यम से जाना है। तो Bhedaghat in Jabalpur रेलवे स्टेशन तक़रीबन 21 किमी दूर है। वह उतर के आप टेक्सी या बस से जा सकते है। अगर फ्लैट यानि हवाई मार्ग से जाना चाहते है। तो डुमना एयरपोर्ट से Bhedaghat Jabalpur Distance 35 किलोमीटर की दुरी पर ही भेड़ाघाट जा सकते है। अगर आप भी जाना चाहते है तो यहाँ से जा सकते है। जबलपुर हवाई अड्डा से आप बहुत ही आसानी से पहुंच सकते है। अगर आपको रोड के मार्ग से पहुंचना कहते है। तो बस या टैक्सी से पहुंच सकते है। 

Bhedaghat की नजदीकी होटल & गेस्टहाऊस –

  • Government Guest House
  • Hotel Marble City
  • MPT Marble Rocks
  • Vrindavan Gopala Resort
  • Hotel Shree Palace
  • Bhedaghat Hotels
  • Capital O 36691 Hotel Aashirwad 

Bhedaghat map & Location – 

इसके बारेमे भी जानिए – नटराज मंदिर चिदंबरम की पूरी जानकारी

Tourist Places & Bhedaghat Waterfall Video –

Interesting Facts –

  • 2016 में बॉलीवुड की फिल्म मोहेंजो दारो में  भेड़ाघाट को दर्शाया है। 
  • भेड़ाघाट में नगर पंचायत का राज चलता है।
  • 1961 में की साल में पद्मिनी और राजकूपर की फिल्म जिस देश में गंगा बहती है यहाँ शूट हुई है। 
  • यहाँ पर अशोका नाम की बॉलीवुड फिल्म का शूटिंग हुआ था। 
  • उसके अलावा हिंदी फिल्म प्राण जाए पर वचन ना जाए मूवी को भी यहाँ शूट किया गया है। 
  • उस मूवी में रात का नशा अभी सॉन्ग में नर्मदा की संगमरमर चट्टानों को दर्शाया है। 
  • संगमरमर के पत्थरो को देखना जीवन का अमूल्य पल बन सकता है। 

FAQ –

1 .भेड़ाघाट जबलपुर से कितने किलोमीटर दूर है ? 

20 किमी 

2 .जबलपुर का भेड़ाघाट किस चट्टान के लिए प्रसिद्ध है ?

संगमरमर की चट्टानें

3 .भेड़ाघाट में शिवलिंग लिंग कहां मिलता है ?

चौंसठ योगिनी मंदिर में 

4 .पुल के ऊपर कितना पानी है भेड़ाघाट में ?

ऊपर पानी नहीं है। 

5 .जबलपुर भेड़ाघाट में मगरमच्छ कब दिखते हैं ?

हररोज 

6 .Bhedaghat Bandh Kitni lambai hai ?

5.4 Km 

7 .भेड़ाघाट जबलपुर से कितनी दूर है ?

20 किमी

इसके बारेमे भी जानिए – अंबाजी मंदिर का इतिहास गुजरात

Conclusion –

आपको मेरा Bhedaghat Tourist Places In Hindi बहुत अच्छी तरह से समज आया होगा। 

लेख के जरिये Dhuandhar Water Fall और भेड़ाघाट पर निबंध से सबंधीत  सम्पूर्ण जानकारी दी है।

अगर आपको किसी जगह के बारे में जानना है। तो कमेंट करके जरूर बता सकते है।

हमारे आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ शयेर जरूर करे। जय हिन्द।

Note –

आपके पास Bhedaghat Resort या Bhedaghat Jabalpur Video की कोई जानकारी हैं।

या दी गयी जानकारी मैं कुछ गलत लगे तो दिए गए सवालों के जवाब आपको पता है।

तो तुरंत हमें कमेंट और ईमेल मैं लिखे हम इसे अपडेट करते रहेंगे धन्यवाद 

1 .भेड़ाघाट जबलपुर से कितने मील दूर है ?

2 .भेड़ाघाट का नाम भेड़ाघाट क्यों पड़ा ?

3 .क्या मई के महीने में भेड़ाघाट जा सकते हैं ?

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *