Badami Caves Temples Information In Hindi

Badami Caves Temples Information In Hindi | बादामी गुफा घूमने की जानकारी

नमस्कार दोस्तों Badami Caves In Hindi में आपका स्वागत है। आज हम चालुक्य वंश के बादामी गुफा घूमने की जानकारी बताने वाले है।  भगवान विष्णु को समर्पित बादामी गुफा मंदिर भारत के कर्नाटक राज्य में बागलकोट जिले में स्थित हैं। अगस्त्य झील के चारों ओर ऊबड़-खाबड़ लाल बलुआ पत्थर की घाटी में स्थित बादामी प्राचीन समय में वातापी नाम से जाना जाता था। अपने खूबसूरती से तैयार किए गए बलुआ पत्थर के गुफा मंदिरों किले और नक्काशी के कारण एक पुरातात्विक स्थल बादामी यूनेस्को की विश्व धरोहर स्थलों का हिस्सा है। 

जो ऐहोल बदामी पट्टदकल का गठन करते हैं और भारत में पारंपरिक मंदिर वास्तुकला का बेहतरीन उदाहरण है। प्राचीन काल में चालुक्यों की शाही राजधानी बादामी द्रविड़ वास्तुकला के कई उदाहरणों का घर है। उसकी वास्तुकला में दक्षिण और उत्तर भारतीय दोनों शैलियों के उदाहरण हैं। बादामी गुफाओं में तीन हिंदू मंदिर और एक जैन मंदिर हैं। कुछ रोमांच की तलाश करने वाले लोगों के लिए भी रॉक क्लाइम्बिंग एक लोकप्रिय गतिविधि है। पर्यटक प्राचीन गुफाओं में स्थित मंदिर, किले और नक्काशी को देखने आते हैं।

Badami Caves History In Hindi

बादामी गुफा का इतिहास छहठी से आठवीं शताब्दी के समय का होने का बताया जाता है। और यह खूबसूरत बादामी गुफाओं का निर्माण पल्लव वंश के राजाओ ने अपने शासन काल में करवाया था। वातापी नगरी चालुक्य वंश की राजधानी के रूप में प्रसिद्ध थी। यहाँ 550 ई. में पुलकेशी प्रथम ने राजधानी स्थापित की थी। वातापी में अश्वमेध यज्ञ करके वंश की सुदृढ़ नींव स्थापित की थी। 608 ई. में पुलकेशी दूसरा वातापी के सिंहासन पर बैठे थे। वह बहुत प्रतापी राजा था। 

उन्होंने 20 साल तक गुजरात, राजस्थान, मालवा, कोंकण और वेंगी पर अपना अधिपत्य जमाया था। शिव के मंदिर पर नक़्क़ाशी की घटना का दृश्य अजन्ता के एक चित्र (गुहा संख्या 1) में अंकित किया गया है। वातापी पर चालुक्यों का 200 वर्षों तक राज्य रहा था। हिन्दू, बौद्ध और जैन तीनों ही सम्पद्रायों ने अनेक मन्दिरों तथा कलाकृतियों से यह नगरी को सुशोभित किया था। छठी शती के अन्त में मंगलेश चालुक्य ने वातापी में एक गुहामन्दिर बनवाया था जिसकी वास्तुकला बौद्ध गुहा मन्दिरों के जैसी है।

Badami Caves Images
Badami Caves Images

इसके बारेमे भी जानिए – सिद्दिविनायक मंदिर का इतिहास और दर्शन की जानकारी

Best Time To Visit Badami Cave

बादामी गुफा मंदिर घूमने जाने का सबसे अच्छा समय – बादामी की यात्रा के लिए सर्दी और वसंत यानी अक्टूबर से अप्रैल सबसे अच्छा समय है। उस मौसम में यहाँ का तापमान मध्यम रहता है। उससे पर्यटक साइट को पूरी तरह से देख सकते हैं। मानसून का मौसम भी सुखद होता है। क्योंकि यहाँ लगातार भारी बारिश नहीं होती है। आप बहुत आसानी से कोई भी समय यहाँ जा सकते है।  

Badami Caves Timings

बादामी गुफा मंदिर के खुलने और बंद होने का समय बताए तो पर्यटक बादामी गुफा घूमने जाना चाहते है। तो सुबह के 9 बजे से शाम के 5.30 बजे तक यह खूबसूरत पर्यटक स्थल खुला रहता है।

Badami Caves Entry Fees

बादामी गुफा में लगने वाला प्रवेश शुल्क की बात करे तो विदेशी नागरिक के लिए 100 रूपए प्रति व्यक्ति शुल्क देना है। उसके अलावा भारतीय नागरिक के लिए 10 रूपए प्रति व्यक्ति और पंद्रह साल से काम उम्र के बच्चो के लिए प्रवेश निशुल्क है।

Badami Caves Information In Hindi
Badami Caves Information In Hindi

इसके बारेमे भी जानिए – माँ वैष्णो देवी का मंदिर और यात्रा की जानकारी

Badami Caves Architecture

बादामी गुफा मंदिर की संरचना – बादामी अगत्स्य झील के किनारे पर स्थित एव लाल पत्थरों की आकर्षित घाटी में स्थित हैं। उसकी संरचना में चालुक्यों की वास्तुकला देखने को मिलते हैं। वह 6 वीं शताब्दी के समय की याद दिलाती हैं। चालुक्य वंश के राजाओ ने यहाँ कई मंदिर एव खूबसूरत गुफाओं को बनाया था। सैंडस्टोन पहाड़ियों से निर्मित बादामी गुफा मंदिर रॉक-कट वास्तुकला में बनी हैं। 

उसमे चार गुफा मंदिर हैं उसमे तीन हिन्दू धर्म से और एक जैन धर्म से सम्बंधित हैं। वह गुफा मंदिर सुंदर नक्काशी के लिए प्रसिद्ध है। उस गुफा मंदिरों में दक्षिण भारतीय द्रविड़ वास्तुकला और उत्तर भारतीय नगर शैली की झलक देखने को मिलती है। हरेक गुफा में एक बरामदा, गर्भगृह, एक हॉल, स्तंभ और जलाशय देख सकते हैं। गुफाओं तक पहुँचने 2000 सीढ़ियां चढ़नी पड़ती हैं।

Badami Cave Temples Information

बलुआ पत्थर की गुफाएं और मंदिर की जानकारी बताए तो बादामी प्राचीन चालुक्य वंश के गौरव का केंद्र है। उसके मंदिर छठी शताब्दी समय के हैं। भारत का सबसे बड़ा गुफा मंदिर (बादामी में गुफा 3) भगवान विष्णु को समर्पित है। वह गुफा मंदिरों के नीचे की झील का नाम बादामी में भूतनाथ मंदिरों के नाम से रखा गया है। यहां की संरचनाएं बलुआ पत्थर से बनी हैं जो नीले आसमान और गुफाओं से सटी खूबसूरत अगस्त्य झील के साथ एक सुंदर विपरीतता प्रदान करती हैं। 2015 में गुफा परिसर से आधा कि.मी की दूरी पर एक और गुफा की खोज की गई जिसमें 27 से अधिक हिंदू नक्काशी हैं। गुफाओं की संख्या निर्माण की उम्र से करते है। 

Badami Caves 1

बादामी गुफा संख्या एक को शैव गुफा के नाम से पहचानते है। वह आकर्षित Badami gufa में चुलौक्य शाही परिवार के कुल देवता शिवजी के 18-सशस्त्र नृत्य नक्काशी, गणेश जी की दो हाथो वाली नक्काशी, महिषासुर मर्दिनी, अर्ध नरेश्वर एव शंकरनारायण की नक्काशी हैं। गुफा का छत एक नाग आकृति की तरह दिखाई देती हैं। सीढ़ियों की एक सुंदर उड़ान आपको पहली गुफा तक ले जाती है।

Plan Your Trip To Badami
Plan Your Trip To Badami

इसके बारेमे भी जानिए – शिरडी का इतिहास और पर्यटक स्थल घूमने की जानकारी

Badami Caves 2

बदामी कर्नाटक गुफा संख्या दो में वैष्णव प्रभावों को त्रिविक्रम और भुवराहा के साथ प्रदर्शित किया गया हैं। उसके अलावा छत पर अनंतनायण, शिव, ब्रह्मा, विष्णु  और अन्य अष्टदिक्पालों की दर्शनीय नक्काशी की गई हैं। यह गुफा मंदिर, गुफा 1 से 64 कदम की दूरी पर स्थित एव एक विष्णु मंदिर के रूप में स्थित है। आप अगर यहाँ घूमने के लिए जाते है। तो यह गुफा को जरूर देखनी चाहिए। 

Badami Caves 3

बादामी गुफा संख्या तीन बादामी की सबसे सुन्दर एव बड़ी गुफा हैं। वह यात्रिओ को ज्यादा आकर्षित करती हैं। वह गुफा में शैव और वैष्णव से सम्बंधित नक्काशी देखने को मिलती है। केव्स तीन आप में त्रिविक्रम, नरसिम्हा, शंकरनारायण, भुवराहा, अनंतसयाना और हरिहर को शानदार ढंग से एव खूबसूरती के साथ उकेरा गया हैं। वह गुफा 2 से 60 कदम ऊपर स्थित है। उसमें 578 ईस्वी के दौरान एक शिलालेख में मंगलेश का निर्माण के रिकॉर्ड की जानकारी उपलब्ध हैं।

Badami Caves 4

बादामी गुफा संख्या चार गुफा संख्या तीन के पूर्व में स्थित हैं। चौथी गुफा जैन धर्म से सम्बंधित एव गर्भगृह को सुशोभित करने वाली एक दर्शनीय छवि श्री महावीर की देख सकते हैं। गुफा 4 गुफा 3 से 2 मीटर नीचे स्थित है और परिसर का सबसे छोटा गुफा मंदिर है। आपको हमारी बादामी गुफा मंदिर की जानकारी कैसी लगी हमें कमेंट  जरूर बताए।

बादामी चालुक्य वास्तुशिल्प
बादामी चालुक्य वास्तुशिल्प

इसके बारेमे भी जानिए – कालाहस्ती मंदिर का इतिहास और उसकी संपूर्ण जानकारी

Best Places To Visit In Badami City Karnataka

  • बादामी किला
  • अगस्त्य झील
  • ऐहोल बादामी
  • भूतनाथ मंदिर
  • बनशंकरी मंदिर
  • पत्तदकल मंदिर
  • मालेगिट्टी शिवालय किला
  • मंदिर बादामी
  • बादामी पुरातत्व संग्रहालय
  • महाकूटा मंदिर

कर्नाटका के बादामी शहर के प्रमुख पर्यटन स्थल

Pattadakal Temple

बादामी पर्यटन में घूमने की अच्छी जगहो में पत्तदकल मंदिर शामिल है। पत्तदकल छोटा सा गाँव को रक्तापुरा भी कहते हैं। पत्तदकल में पत्थर से बने दस अद्भुत एव खूबसूरत मंदिर हैं। उसका निर्माण 7 वीं और 8 वीं शताब्दी के समय किया गया था। उसमे दस मंदिरों में से एक जैन धर्म से एव नौ हिंदू मंदिर हैं।

Mahakuta Temple

बादामी के प्रसिद्ध मंदिरो में महाकूटा मंदिर भी शामिल है। बादामी के बहार महाकूटा मंदिर एक दर्शनीय स्थान हैं। वह चालुक्यों के अदभुत रॉक-कट निर्माण वास्तुकला को प्रस्तुत करता हैं। उसका निर्माण सातवी शताब्दी में एव वह भगवान शिव को समर्पित हैं। 

Badami Fort

बादामी किला 543 ईस्वी चालुक वंश के राजा पुलकेसगी ने बनाया था। बादामी में देखने वाली जगहों में शामिल उसमे दो शिवालय परिसर के साथ किला एक चट्टान के शीर्ष पर स्थित हैं। 14 वीं शताब्दी और 16 वीं शताब्दी के दौरान निर्मित प्रहरीदुर्ग को भी चट्टान पर चित्रित किया गया हैं।

चालुक्य वंश के बादामी गुफा घूमने की जानकारी
चालुक्य वंश के बादामी गुफा घूमने की जानकारी

इसके बारेमे भी जानिए – बद्रीनाथ मंदिर का इतिहास और दर्शन की पूरी जानकारी

Badami Archaeological Museum

बादामी के मशहूर पर्यटन स्थल में यहाँ का पुरातत्व संग्रहालय है। उसमे आप कई प्राचीन संस्कृतिक कलाकृतियों को देख सकते हैं।  यह उत्तरी पहाड़ी की तलहटी में ऐतिहासिक खजाने के रूप में स्थित है। पुरातत्व संग्रहालय में मूर्तियां, प्राचीन पत्थर, औजार, शिलालेख और वास्तुशिल्प संरक्षित है। संग्रहालय में चार गैलरी है उसमे शिवजी,  गणेशजी और विष्णु जी के चित्रित है। 

Agastya Lake

बादामी शहर का मुख्य आकर्षण स्थल अगस्त्य झील है। यह चिकित्सा शक्तियों के लिए के लिए भी प्रसिद्ध है। अगत्स्य झील लाल बलुआ पत्थर के मंदिरों से घिरी हुई है।

Malegitti Shivalaya Fort And Badami Temple

मालेगिट्टी शिवालय किला और मंदिर बादामी बादामी में दर्शनीय स्थल है। चालुक्य वास्तुकला में बने यह खूबसूरत स्थल शानदार नक्काशीदार, रॉक-कट मंदिर है। ऊबड़-खाबड़ पथरीली चट्टानी स्थान से घिरा यह मंदिर का निर्माण 7 वीं शताब्दी में हुआ था। वह द्रविड़ शैली को उजागर करती हैं।

Bhoothnath Temple

भूतनाथ मंदिर अगस्त्य झील के सामने बादामी के दर्शनीय स्थलों में एक हैं। वह मंदिर बलुआ पत्थरो से निर्मित हैं। भूतनाथ मंदिर भोलेनाथ जी को समर्पित हैं।

Banashankari Temple

 अम्मा मंदिर के नाम से प्रसिद्ध बनशंकरी मंदिर बादामी के धार्मिक स्थल में से एक है। यह बगलकोट जिले के चोलाचगड में स्थित है। हिन्दू धर्म के कर्नाटक के प्रसिद्ध मंदिरों में से एक हैं। यह मंदिर में राहू काल के समय मंदिर में पूजा होती हैं।

बादामी गुफा घूमने की जानकारी
बादामी गुफा घूमने की जानकारी

इसके बारेमे भी जानिए – केदारनाथ मंदिर का इतिहास, दर्शन और यात्रा की पूरी जानकारी

Aihole Badami

कर्नाटका के बादामी प्रमुख पर्यटन स्थल में ऐहोल बादामी प्रमुख पर्यटन स्थल हैं। 

Famous Food In Badami Tourism

  • उड़द की दाल
  • गुड़
  • चावल
  • रागी
  • ज्वार
  • नारियल
  • मांस
  • मछली
  • समुद्री भोजन
  • हलवा
  • चिरौटी
  • मैसूर

Where To Stay Near Badami Cave Temple

बादामी गुफा मंदिर घूमने के पश्यात यात्री यहाँ रुकने के लिए अच्छे होटल की तलाश में है। तो बतादे की पर्यटकों को यहाँ हाई बजट  लॉ बजट यानि सभी प्रकार की होटल उपलब्ध है। आप अपनी जरुरत और पसंद के मुताबिक बुक कर सकते हैं। हम कुछ नाम बताते है। अगर आपको पसंद आते है। तो आप वहाँ बहुत आसानी से रूम बुक कर सकते है। 

  • Hotel Mayura Chalukya
  • The Heritage Resort
  • Hotel Rajsangam International
  • Krishna Heritage
  • Hotel Badami Court

Best Places To Visit In Karnataka

इसके बारेमे भी जानिए – प्राचीन तुंगनाथ मंदिर चोपता उत्तराखंड की पूरी जानकारी

बादामी गुफा मंदिर की फोटो गैलरी
बादामी गुफा मंदिर की फोटो गैलरी

 

How To Reach Badami Caves

ट्रेन से बादामी की गुफाओं तक कैसे पहुंचे

How To Reach Badami Caves By Train – बादामी रेलवे स्टेशन के माध्यम से बादामी पहुँचा जा सकता है। वह केवल बैंगलोर और बेलगाम के शहरों और कस्बों से जुड़ा है। रेलवे स्टेशन से पर्यटक स्थानीय साधनों की सहायता से हिल स्टेशन आसानी से पहुंच सकते है।

सड़क मार्ग से बादामी गुफा तक कैसे पहुंचे

How To Reach Badami Cave By Road – सभी नजदीकी शहरों और कस्बों से बादामी के लिए बसें उपलब्ध हैं। बादामी पहुंचने का सबसे सुविधाजनक तरीका सड़क मार्ग है। बस के माध्यम से यात्री आसानी से बादामी पहुंच सकते है। उसके अलावा निजी साधनों की से बादामी गुफा मंदिर पहुँच सकते हैं।

फ्लाइट से बादामी गुफा मंदिर कैसे पहुंचे

How To Reach Badami Cave Temples By Flight – बादामी गुफा मंदिर का निकटतम प्रमुख हवाई अड्डा बैंगलोर में है। वहां से आप बादामी तक ड्राइव कर सकते हैं। या फिर स्थानीय साधनों की सहायता से बादामी गुफा मंदिर पहुँच सकते हैं।

बादामी गुफा मंदिर
बादामी गुफा मंदिर

इसके बारेमे भी जानिए – केरल की सबसे लोकप्रिय अष्टमुडी झील घूमने की जानकारी

Badami Caves Map बादामी गुफा मंदिर का लोकेशन

Badami Cave Temple in Hindi Video

Interesting Facts About Badami Caves

  • पर्यटक यहाँ रॉक क्लायम्बिंग का आनंद ले सकते हैं।
  • प्राचीन समय में बादामी चालुक्य वंश की राजधानी थी।
  • बादामी गुफाओं को रॉक-कट वास्तुकला का बेहतरीन उदाहरण मानाजाता हैं।
  • 2015 में यहां एक दूसरी गुफा की खोज की गई थी।
  • मार्च महीने में पट्टडकल में विरुपाक्ष मंदिर का कार महोत्सव देखने योग्य है।
  • आप गुफा में 27 हिन्दू देवी-देवताओं की मूर्तिया देख सकते है। 
  • साल भर बादामी गुफाओं में पर्यटकों की भीड़ जमी रहती हैं।
  • यहां भगवान शिव के अर्धनारीश्‍वर एव  हरिहर अवतार की प्रतिमा है।

FAQ

Q .बादामी गुफा किस पर्वत श्रेणी में स्थित है?

भारत के कर्नाटक के उत्तर भाग में बगलकोट जिले के एक कस्बे बादामी में स्थित हैं।

Q .बादामी गुफा की खोज कब हुई?

2015 में यहां एक दूसरी गुफा की खोज की गई थी।

Q .बादामी की कितनी गुफाएं हैं?

बादामी बलुआ पत्थर से बने गुफाओं की संख्या 1 से 4 तक है।

Q .बादामी गुफा किस राज्य में स्थित है?

Karnataka

Q .बादामी गुफा किस धर्म से संबंधित है?

बादामी गुफाओं में तीन हिंदू मंदिर और एक जैन मंदिर हैं।

Q .कर्नाटक के प्राचीन मंदिरों के शिल्पकार कौन थे?

बादामी चालुक्यों को राष्ट्रकूट और कल्याणी चालुक्यों की सफलता है।

Q .बादामी गुफा किस नदी के किनारे स्थित है?

बादामी गुफा मालाप्रभा नदी घाटी में स्थित है। 

Q .बादामी गुफाएं कहां पाई जाती है?

भारत के कर्नाटक के उत्तरी भाग में बागलकोट जिले के बादामी में स्थित है।

Conclusion

आपको मेरा लेख Badami information in hindi बहुत अच्छी तरह से समज आया होगा। 

लेख के जरिये Badami in hindi, Badami caves timings

और Badami caves are situated in which state से सबंधीत सम्पूर्ण जानकारी दी है।

अगर आपको किसी जगह के बारे में जानना है। तो हमें कमेंट करके जरूर बता सकते है।

हमारे आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ शयेर जरूर करे। जय हिन्द।  

Note

आपके पास Is badami caves open की जानकारी हैं। या दी गयी जानकारी मैं कुछ गलत लगे तो तुरंत हमें कमेंट और ईमेल मैं लिख हमे बताए हम अपडेट करते रहेंगे धन्यवाद। 

! साइट पर आने के लिए आपका धन्यवाद !

अगर आपको यह पोस्ट पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तों को जरूर शेयर करें !

Google Search

Shopping In Badami Tourism, Caves at badami, Badami caves paintings, Badami caves upsc, Badami caves built by which dynasty, Badami caves pdf, Badami gufa sthit hai, बादामी गुफा बादामी का नक्शा, बादामी गुफा कहां है, बादामी गुफा किस पर्वत श्रेणी पर स्थित है, हंपी बदामी, बादामी पर्यटन में खरीददारी, बादामी गुफा मंदिर इतिहास 

इसके बारेमे भी जानिए – भृगु झील मनाली की जानकारी और घूमने की जगह

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *