Alai Darwaza History In Hindi

Alai Darwaza History In Hindi | अलाई दरवाजे का इतिहास और वास्तुकला

नमस्कार दोस्तों Alai Darwaza History In Hindi में आपका स्वागत है। आज हम अलाई दरवाजे का इतिहास, वास्तुकला और जानकारी बताने वाले है। अलाई दरवाजा भारत की राजधानी दिल्ली शहर के महरौली में कुव्वत-उल-इस्लाम मस्जिद के दक्षिणी विस्तार से प्रमुख प्रवेश द्वार के रूप में स्थित है। अलाई दरवाजा को 1311 ईस्वी में दिल्ली के दूसरे खिलजी सुल्तान अला-उद-दीन खिलजी ने बनवाया था। उन्होंने पूर्वी हिस्से में खंभों में एक दरबार भी जॉइंट किया था। 

अलाई दरवाजे या गुंबददार प्रवेश द्वार को लाल बलुआ पत्थर और जड़े हुए सफेद संगमरमर की सजावट, नस्क लिपि में शिलालेख, जालीदार पत्थर के स्क्रीन से बहुत अच्छे से सजाया गया है। यह संरचना पर काम करने वाले तुर्क कारीगरों की शिल्प कौशल को प्रदर्शित करता है। यह भारत की पहली इमारत है। उसके निर्माण और अलंकरण में इस्लामी वास्तुकला (मुसलमानी) के सिद्धांतों का उपयोग हुआ है। तो चलिए यूनेस्को विश्व विरासत की सूचि में शामिल यह Darwaza परिसर की जानकारी बताते है। \

Alai Darwaza History In Hindi

अलाई दरवाजे का इतिहास देखे तो अलाई दरवाजा कुव्वत-उल-इस्लाम मस्जिद का दक्षिणी विस्तार का मुख्य द्वार है। प्राचीन समय से दिल्ली शहर के चारों ओर कई द्वार बने है। उसमे से दिल्ली के कुछ सबसे पुराने द्वार दूसरी सताब्दी के पूर्वार्द्ध के समय के हैं। वहां जाकर यात्री को अलाई दरवाजा की हर जानकारी का पता चलता है। उस सभी में से अलाई दरवाजा सबसे पुराने द्वारों में से एक है। 

यह भारत की पहली इमारत है। जिसकी बनावट या निर्माण में इस्लामी स्थापत्य शैली का प्रयोग करके बनाया है। अलाई दरवाजे को इंडो-इस्लामिक वास्तुकला का एक रत्न माना जाता है। अपने समय की सबसे महत्वपूर्ण इमारतों में से एक था। अलाउद्दीन खिलजी चार द्वार बनाना चाहता था। लेकिन अलाई दरवाजे के निर्माण के बाद पांच साल बाद उनकी मृत्यु हो गई थी।

Alai darwaza images
Alai darwaza images

इसके बारेमे भी जानिए – कुल्लू मनाली के बारे में पूरी जानकारी

Best Time To Visit Alai Darwaza

अलाई दरवाजा जाने का सबसे अच्छा समय – वैसे तो अलाई दरवाजा दिल्ही को कोई भी समय देखने या दौरा  कर सकते है। लेकिन सबसे अच्छा समय अप्रैल से सितंबर महीने में होता है। उस माहिने में वसंत ऋतु  होने के कारन यहाँ का मौसम बहुत ही सुहावना होता है। और पर्यटक उसकी खूबसूरती को बहुत अच्छे से देख और अनुभव कर सकते है। वसंत ऋतु में यह बहुत अच्छा दिखाई देता है।

अलाई दरवाजा का फोटो
अलाई दरवाजा का फोटो

Alai Darwaza Timings

अलाई दरवाजा खुलने और बंद होने का समय सूर्योदय से सूर्यास्त का होता है। 

Alai Darwaza Entry Fee

अलाई दरवाजा का प्रवेश शुल्क – अलाई दरवाजा देखने के लिए पर्यटक अगर यहाँ जाना चाहते है। तो भारतीयों के लिए प्रवेश शुल्क 10 रुपये और विदेशियो के लिए प्रवेश शुल्क 250 रुपये रखा गया है। यहाँ पर्यटको के साथ 15 वर्ष तक के बच्चों के लिए मुफ्त प्रवेश है। या उसमे प्रवेश के लिए बच्चे को कोई प्रवेश शुल्क नहीं देना होता है। आपको भी यहाँ घूमना है। तो शुल्क देना जरुरी है।

Alai darwaza drawing
Alai darwaza drawing

इसके बारेमे भी जानिए – चालुक्य वंश के बादामी गुफा घूमने की जानकारी

Alai Darwaza Architecture

अलाई दरवाजा नुकीले किनारों और फैले हुए विरल किनारों को कमल की कलियों के रूप में बनाया है। वह कुवैत-उल-इस्लाम मस्जिद से जोड़ते हैं। उसको प्रवेश द्वार के रूप में उपयोग किया जाता है। मुख्य अलाई दरवाजा की वास्तुकला देखे तो उसमे एक ही हॉल की लंबाई 35 फीट और चौड़ाई 56.5 फीट है। उसकी छत की छत की ऊंचाई 47 फीट है। पूर्व, पश्चिम और दक्षिण दिशा में दरवाजे के तीन नुकीले कोने हैं। जो घोड़े की नाल के आकार में बने हैं। उत्तर दिशा की ओर प्रवेश मूल प्रकृति का एव मेहराब अर्ध-गोलाकार हैं। 

उसमे में एक गुंबद है, गुंबद का निर्माण वैज्ञानिक सिद्धांतों से किया गया है। गुम्बद को परिष्कृत एव अष्टकोणीय बनाया है। गुंबद के बाहरी हिस्से पर प्लास्टर सामग्री का उपयोग किया है। अलाई दरवाजे के चारों ओर सुंदर संगमरमर और लाल बलुआ पत्थर की सुंदर नक्काशी की गई है। उसके प्रवेश द्वार के दोनों ओर जालीदार जालीदार खिड़कियाँ बनी हैं। उसमे भव्य अलाई दरवाजे की सजावट भी बहुत सुंदर और आकर्षक है। इमारत में सभी वास्तुशिल्प विशेषताओं को शानदार ढंग से डिजाइन किया गया है।

अलाई दरवाजे का पूरा आकार काफी कठिन और प्रभावशाली दिखता है। गेट की लंबाई 17 मीटर और चौड़ाई करीब 10 मीटर है। गेट करीब तीन मीटर मोटा है। द्वार का निर्माण खिलजी वंश के शासक अलाउद्दीन खिलजी ने करवाया था। उसको बनाने में काफी समय लगा था। दिल्ली में बना भव्य और ऐतिहासिक अलाई दरवाजा काफी शानदार एव इस्लामी वास्तुकला का एक अनूठा मॉडल है।

Alai Darwaza Built by

अलाई दरवाजा की फोटो गैलरी
अलाई दरवाजा की फोटो गैलरी

इस्लामी वास्तुकला में निर्मित दिल्ली के सबसे पुराना अलाई दरवाजा को दिल्ली सल्तनत के खिलजी वंश के दूसरे शासक अलाउद्दीन खिलजी ने 1311 ईस्वी में कुवैत-उल- के दक्षिण से बनवाया था। ऐतिहासिक अलाई दरवाजे का निर्माण कुतुब मीनार परिसर को सुशोभित करने के लिए खिलजी की सर्व-उद्देश्यीय परियोजना में कव्वत-उल-इस्लाम-मस्जिद के विस्तार का एक अंग था।

उसकी महान चार विशाल और भव्य प्रवेश द्वारों में से एक अलाई दरवाजा था। अलाउद्दीन खिलजी के शेष तीन प्रवेश द्वारों का निर्माण पूरा नहीं हुआ था। क्योंकि अन्य तीन द्वारों के निर्माण से पहले अलाउद्दीन खिलजी की मृत्यु हो गई थी। अलाई दरवाजे का निर्माण कार्य को मुस्लिम राजवंश के शासक अलाउद्दीन खिलजी ने बहुत अच्छे से 1316 ई. में पूर्ण करवाया था।

अलाई दरवाजे का इतिहास और वास्तुकला
अलाई दरवाजे का इतिहास और वास्तुकला

इसके बारेमे भी जानिए – सिद्दिविनायक मंदिर का इतिहास और दर्शन की जानकारी

Places To Visit Near Alai Darwaza

  • Tomb of Iltutmish
  • Jamali Kamali Mosque and Tomb
  • Tomb of Adham Khan
  • Qutb Minar
  • Jahaz Mahal
  • Quwwat-ul-Islam Mosque
  • Iron Pillar
  • Garden of Five Senses
  • Tomb of Imam Zamin
  • Mehrauli Archaeological Park
  • Alai Minar of Khalji

इसके बारेमे भी जानिए – माँ वैष्णो देवी का मंदिर और यात्रा की जानकारी

Alai Darwaza Photos
Alai Darwaza Photos

How To Reach Alai Darwaza

ट्रेन से अलाई दरवाजा कैसे पहुंचे

How To Reach Alai Darwaza By Train – 

दिल्ली का रेलवे स्टेशन भारत के सभी प्रमुख शहरो से बहुत अच्छे से जुड़ा है। भारत की राजधानी दिल्ली के तीन महत्वपूर्ण रेलवे स्टेशन हज़रत निज़ामुद्दीन रेलवे स्टेशन, नई दिल्ली रेलवे स्टेशन और पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन है। पर्यटक रेलवे स्टेशन से स्थानीय साधनों के माध्यम से अलाई दरवाजा पहुंच सकते है।

रोड से अलाई दरवाजा कैसे पहुंचे

How To Reach Alai Darwaza By Raod – 

अलाई दरवाजा जाने के लिए सड़क मार्ग पसंद करते हैं। तो दिल्ली शहर सड़क के माध्यम से भारत के सभी शहर से बहुत अच्छी तरह से जुड़ा हैं। दिल्ली में तीन प्रमुख बस स्टैंड कश्मीरी गेट, इंटर स्टेट बस टर्मिनस (ISBT) और सराय काले-खान बस टर्मिनस हैं। बस स्टैंड से पर्यटक स्थानीय साधनों की सहायता से अलाई दरवाजा पहुंच सकते है।

फ्लाइट से अलाई दरवाजा कैसे पहुंचे

How To Reach Alai Darwaza By Flight – 

दिल्ली शहर नेशनल और इंटरनेशनल सभी प्रकार की उड़ानों से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। और नई दिल्ली में स्थित इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे से पर्यटक उडान भर सकते हैं। दिल्ली एयरपोर्ट के बहार से पर्यटक स्थानीय साधनों की सहायता से अलाई दरवाजा पहुंच सकते है।

Address – Aurobindo Marg, Qutub Minar Complex, Mehrauli, New Delhi, Delhi – 110030.

Nearest Metro Station – Qutub Minar Metro Station

Timings – Open from 6 a.m. to 6.30 p.m. daily

Alai darwaza sketch
Alai darwaza sketch

इसके बारेमे भी जानिए – शिरडी का इतिहास और पर्यटक स्थल घूमने की जानकारी

Alai Darwaza Delhi Map अलाई दरवाजा का लोकेशन

Alai Darwaza In Hindi Video

Interesting Facts About Alai Darwaza

  • अलाई दरवाजा कुतुब मीनार परिसर की कुव्वत-उल-इस्लाम मस्जिद के दक्षिणी भाग से मुख्य द्वार है।
  • कुव्वत-उल-इस्लाम मस्जिद भारत देश में बनने वाली पहली मस्जिद है।
  • अलाई दरवाजा 1311 ईस्वी में दिल्ली के सुल्तान अला-उद-दीन खिलजी से निर्मित शानदार प्रवेश द्वार है। 
  • अलाई दरवाजे में उत्कृष्ट जड़े हुए संगमरमर के अलंकरण, ज्यामितीय पैटर्न और जालीदार पत्थर के पर्दे हैं।
  • दरवाजा के चारों ओर कमल के फूलों और हिंदू छवियों की कुछ नक्काशीयां हैं। 
  • अलाई दरवाजा के गुंबद को अष्टकोणीय आधार से बनाया गया है। 
  • अलाई दरवाजा के निर्माण में लाल बलुआ पत्थर और सफेद संगमरमर हैं। 
  • दरवाजा को जड़ना के चारों ओर कुरान के छंदों के साथ अंकित किया गया है।
  • उसका निर्माण तुर्क कारीगरों की उल्लेखनीय शिल्प कौशल को प्रदर्शित करता है।

FAQ

Q .अलाई दरवाजा कहां है?

Seth Sarai, Mehrauli, New Delhi, Delhi 110030

Q .अलाई दरवाजा किसने बनवाया था?

अलाउद्दीन खिलजी ने अलाई दरवाजा का निर्माण किया था। 

Q .क्या अलाई दरवाजा एक मकबरा है?

नहीं अलाई दरवाजा कुव्वत अल इस्लाम मस्जिद का दक्षिणी दरवाजा है। 

Q .अलाई दरवाजे का निर्माण किस राजा ने करवाया था?

अलाई दरवाजा को अलाउद्दीन खिलजी ने बनाया था।

Q .अलाई दरवाजे को किस शैली में बनाया गया था?

अलाई दरवाजे को इंडो-इस्लामी शैली में बनाया गया था।

Q .क्या इसे यूनेस्को की विश्व विरासत की सूचि में रखा गया है?

हाँ यूनेस्को ने 1993 में अलाई दरवाजे को सांस्कृतिक धरोहर के रूप में रखा गया था। 

Q .सीरी का किला किसने बनवाया था?

अलाउद्दीन खिलजी ने सीरी का किला बनवाया था।

Conclusion

आपको मेरा लेख Alai Darwaza History बहुत अच्छी तरह से समज आया होगा। 

लेख के जरिये Alai darwaza was built by, Alai darwaza was built in which dynasty

और Alai darwaza was built in the time of से सबंधीत सम्पूर्ण जानकारी दी है।

अगर आपको किसी जगह के बारे में जानना है। तो हमें कमेंट करके जरूर बता सकते है।

हमारे आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ शयेर जरूर करे। जय हिन्द।  

Note

आपके पास Alai darwaza is a gateway to which monument की जानकारी हैं। या दी गयी जानकारी मैं कुछ गलत लगे तो तुरंत हमें कमेंट और ईमेल मैं लिख हमे बताए हम अपडेट करते रहेंगे धन्यवाद। 

! साइट पर आने के लिए आपका धन्यवाद !

अगर आपको यह पोस्ट पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तों को जरूर शेयर करें !

Google Search

Monuments meaning in tamil, Darwaja, Who built alai darwaza, Alai darwaja, Loha darwaja image, India, Darwaza ka design, Alai darwaza – wikipedia, 5 lines on alai darwaza, Alai darwaza information in english, अलाई दरवाजाची निर्मिती कोणत्या सुलतानाच्या काळात झाली ?, अलाई दरवाजा विकिपीडिया in Hindi, सीरी का किला कहां है, पलाई दरवाजा डिजाइन, बुलंद दरवाजा नागौर, बुलंद दरवाजा किसने बनवाया था, महाराजा दरवाजा डिजाइन

इसके बारेमे भी जानिए – कालाहस्ती मंदिर का इतिहास और उसकी संपूर्ण जानकारी

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *